Status in Hindi for Whatsapp and Facebook

शिकायते तो बहुत है तुझसे ऐ जिन्दगी ...!!
पर चुप इसलिये हु कि, जो दिया तूने,
वो भी बहुतो को नसीब नहीं होता ...!!

*************************************

आज मैंने एक नया सबक सीखा ज़िन्दगी में
खामोशियाँ ही बेहतर हैं,
शब्दों से लोग रूठते बहुत हैं आजकल...!!

 *************************************

  चेहरे की हंसी से ग़म को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो.
खुद ना रुठों पर सब को हँसा दो,
यही राज है ज़िंदगी का, कि जियो और जीना सिखा दो…..

 *************************************

 जब हम दिन कि शुरुवात करते है,
तब लगता है कि.,
पैसा ही जीवन है...
लेकिन,
जब हम शाम को घर लौटकर आते है,
तब हमे ये एहसास होता है.,
बचपन वाला ही जीवन था...



 जिँदगी निकल जाती है,ढुंढने मेँ हमारी कि.,ढुंढना क्या है...
तलाश सिमट जाती है,इस सुकुन मेँ कि.,
जो मिला है हमेँ,वो भी कहा हमेँ साथ लेकर जाना है...

 *************************************

 पानी से तस्वीर कहा बनती है,
ख्वाबों से तकदीर कहा बनती है,
किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाओ,
ये जिंदगी फिर वापस कहा मिलती है

 *************************************

 जिन्दगी इन्सान को कहाँ से कहाँ ले आती है,
एक पल खुशी तो दुसरे पल गम दे जाती है...!

 *************************************

 कोई कहे जिंदगी बोझ है
कोई कहे जिंदगी मौज है
इंसानों की इस भरी भीड़ में
सबको मगर प्यार की खोज है.

 *************************************

 मैंने भी बदल दिए है जिन्दगी के उसूल। अब
जो याद करेगा सिर्फ वही याद रहेगा।

 *************************************

 कुछ सालोँ बाद ये पल याद आयेँगेँ,
जब हम अपने मुकाम पर पहुँच जायेँगे,
अकेले जब भी होएगेँ साथ गुजारे हुए लम्हेँ याद आयेँगेँ,
पैसे तो बहुत होँएगे शायद पर खर्च करने के लम्हेँ कम हो जायेँगेँ,
आज ज्यादा मैसेज आने से गुस्सा होते है, कल एक-एक मैसेज को तरस जायेगेँ,
एक कप चाय दोस्तो की याद दिलायेगी, फिर सोचते-सोचते आँखे नम हो जायेगी,
इन पलो को मिलकर दिल खोल कर जिलो यारोँ,
क्यु की जिन्दगी इन दिनो को फिर नही दोहरायेगी...!!

 *************************************

 सांसों के सिलसिले को ना दो ज़िन्दगी का नाम,
जीने के बावजूद भी,मर जाते हैं कुछ लोग !

 *************************************

 राख में भी नहीं जीने देते चैन से लोग.......
दो दिन बाद आकर वहाँ से भी आधा ले जाते है.।

 *************************************

 जिनके इरादे "मेहनत" की साही से लिखे होते है,
उनकी "किसमत"के पन्ने कभी खाली नहीं होते..

 *************************************

 दुसरो को सुनाने के लिए अपनी आवाज
ऊँची मत करो...
बल्कि अपना व्यक्तित्व
इतना ऊँचा बनाओ की आपको सुनने के लिए
लोग इंतज़ार करें..

 *************************************

 कभी किसी इंसान को जिन्दगी का
राजदार न बनाओ क्योंकि आदमी
बड़ा खुदगर्ज है जब आपको पसंद
करता है तो आपकी बुराई को भुल
जाता है और जब नफरत करता है तो
आपकी अच्छाई भुल जाता है

 *************************************

 वो दोलत क्या मिलेगी बादशाहों के ख़जाने मैं ,
जो मैंने पाई है माँ-बाप के पाँव दबाने मैं।

 *************************************

 रख हौंसला मंज़र भी आएगा;
प्यासे के पास चल के समंदर भी आएगा;
थक कर न बैठ ए मंज़िल के मुसाफिर;
मंज़िल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा। 

 *************************************

 जो हो गया उसे सोचा नहीं करते;
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते;
होती है हासिल मंज़िल उन्हें;
जो वक़्त और हालात पर रोया नहीं करते।

 *************************************

 "आत्मविश्वास और अहंकार के बीच एक बहुत ज़रा सा फर्क होता है, आपके चापलूस आपको कब अहंकार मे ढ़केल दें, पता भी नहीं चलेगा. इसलिए चापलूसों से दूर रहें."

 *************************************

 कमाल का मैसेज
अर्जुन श्री कृष्णजी से बोले :-
केशव ,जब मृत्यु सभी की होनी है तो हम सत्संग भजन सेवा सिमरन क्यों करे जो इंसान मौज मस्ती करता है मृत्यु तो उसकी भी होगी ।
श्री कृष्णजी ने अर्जुन से कहा :- हे पार्थ
बिल्ली जब चूहे को पकड़ती है तो दांतो से पकड़कर उसे मार कर खा जाती है । लेकिन उन्ही दांतो से जब अपने बच्चे को पकड़ती है तो उसे मारती नहीं बहुत ही नाजुक तरीके से एक जगह से दूसरी जगह पंहुचा देती है । दांत भी वही है मुह भी वही है पर परिणाम अलग अलग । ठीक उसी प्रकार मृत्यु भी सभी की होगी पर एक प्रभु के धाम में और दूसरा 84 के चक्कर में

 *************************************

 वक्त आपका है चाहे तो सोना बना लो या सोने में गुजार दो..
दुनिया आपके " उदाहरण " से बदलेगी आपकी " राय " से नहीं.. चलते रहिए....

 *************************************

 तेरा मेरा करते एक दिन चले जाना है~~~~
जो भी कमाया यही रह जाना है ~~~~
कर ले कुछ अच्छे कर्म ••••••
साथ यही तेरे जाना है•••••

 *************************************

 पराजय तब नहीं होती हे ! जब आप गिर जाते हो!
पराजय तब होती हे ! जब आप उठने से इनकार कर देते हो" !!

 *************************************

 'समय' न लगाओ तय करने में, आप को करना क्या है ?
वरना 'समय' तय कर लेगा कि, आपका क्या करना है.

 *************************************

 " इन्सान ",
घर बदलता है ...
लिबास बदलता है ...
रिश्ते बदलता है ...
दोस्त बदलता है ...
फिर भी परेशान क्यों रहेता है ....
क्योकि वो खुद को नहीं बदलता ... " 

 *************************************

 समय' और 'समझ' दोनों एक साथ खुश किस्मत लोगों को ही मिलते हैं...!
क्योंकि,,,,
अक्सर 'समय' पर 'समझ' नहीं आती और 'समझ' आने पर 'समय' निकल जाता है...!!

 *************************************

 गरीब वो नहीं जिसके पास संपति नहीं है...
गरीब वो है जिसके पास मुस्कुराहट नहीं है...

 *************************************

 ज़िन्दगी हसीन है , ज़िन्दगी से प्यार करो …..
हो रात तो सुबह का इंतज़ार करो …..
वो पल भी आएगा, जिस पल का इंतज़ार हैं आपको….
बस रब पर भरोसा और वक़्त पे ऐतबार करो ….

 *************************************

 મતલબ' કા વજન બહુત જ્યાદા હોતા હૈ...
તભી તો 'મતલબ' નિકલતે હી રિશ્તે હલકે હો જાતે હૈ !

 *************************************

 जिदंगी में कभी किसी बुरे दिन
से रूबरू हो जाओ
तो इतना हौंसला जरुर रखना
की दिन बुरा था
जिंदगी नही

 *************************************

 आंखें खुली हों, तो पूरा जीवन ही विद्यालय है। और, जिसे सीखने की भूख है, वह प्रत्येक व्यक्ति और प्रत्येक घटना से सीख लेता है। और, स्मरण रहे कि जो इस भांति नहीं सीखता है, वह जीवन में कुछ भी नहीं सीख पाता

 *************************************

 "गलती उसी इंसान से होती है, जो काम करता है..
काम न करने वाले सिर्फ गलती ढूंढते है..!!!"

 *************************************

 जिन्दगी अपने हिसाब से जीनी
चाहिए...
औरों के कहने से तो सर्कस में
शेर भी करतब दिखाता है..

 *************************************

 ये दुनियाँ ठीक वैसी है जैसी आप इसे देखना पसन्द करते हैं.
यहाँ पर किसी को गुलाब में काँटे नजर आते हैं तो किसी को काँटों में गुलाब 

 *************************************

 परिंदो को नहीं दी जाती तालीम उड़ानों की,
वो खुद ही तय करते हैं मंजिल आसमानों की;
रखता है जो हौसला आसमानों को छूने का,
उसको नहीं होती परवाह गिर जाने की !!

 *************************************

 इतनी बदसलूकी ना कर ऐ जिदंगी,
हम कौन सा यहाँ बार बार आने वाले है,
सुना है जिदंगी इम्तहान लेती है,
यहाँ तो इम्तहानों ने जिदंगी ले रखी है| 

 *************************************

 इतना आसान नहीं है,
जीवन का हर किरदार निभा पाना..
इंसान को बिखरना पड़ता है,
रिश्तों को समेटने के लिए... ।

 *************************************

 टूट जाता है गरीबी मे वो रिशता जो खास होता है
हजारो यार बनते है जब पैसा पास होता है.

 *************************************

 जो झुकते हैं ज़िन्दगी में वो बुज़दिल नही होते....
यह हुनर होता हैं उनका हर रिश्ता निभाने का!!! 

 *************************************

 A Tree gets new leaves in place of the fallen leaves
There is always some thing better 2 replace D lost
Life goes on & n &Never stop
GUd Morn.

 *************************************

 जब सवालों के जवाब मिलने बंद हो जायें...
तो समझ लो एक मोड़ लेना है
रास्ते और रिश्ते दोनों में...!!!

 *************************************

 ये मिलना बिछुड़ना तो होता रहेगा.....
ये तो जीवन का फंडा है...
जो मुश्किल वक्त में अपने साथ खड़ा है,
वो अपनी खुद की हिम्मत और हौसला हैं....!
जय श्री श्याम. 

 *************************************

 ज़िन्दगी एक चाहत का सिलसिला है,
कोई किसी से मिल जाता है तो,
कोई किसी से बिछड़ जाता है,
जिसे हम मांगते है अपनी दुआ में,
वो किसी को बिना मांगे मिल जाता है…

 *************************************

 जिन्दगी सरक रही है मुठ्ठी में पकडी रेत की तरह,
कुछ पल तो जी लें, समन्दर मे बहती लहरों की तरह...

 *************************************

 अच्छा दिल और अच्छा स्वभाव दोनो
आवश्यक है ,
अच्छे दिल से कई रिस्ते बनेगे और
अच्छे स्वभाव से वो जीवन भर टिकेगे

 *************************************

 वक़्त नूर को बहनूर कर देता है
थोड़े से जखम को नासूर कर देता है
वरना कोन चाहता है तुम जेसे दोस्तो से दूर रहना
वक़्त ही तो इंसान को मजबूर कर देता

 *************************************

 "ठोकरें खा कर भी ना संभले
तो मुसाफ़िर का नसीब,
वरना पत्थरों ने तो
अपना फर्ज़ निभा ही दिया..."

 *************************************

 आईने के सामने खड़े होकर खुद से माफ़ी मांग ली मैंने...
सबसे ज़्यादा खुद का ही दिल दुखाया है.. औरों को खुश करने में....

 *************************************

 ना किसी से ईर्ष्या, ना किसी से कोई होड़,
मेरी अपनी मंजीले, मेरी अपनी दौड़………!

 *************************************

 मुकाम वो चाहिए की जिस दिन भी हारु ,
उस दिन जीतने वाले से ज्यादा मेंरे चर्चे हो

 *************************************

 जीत हासिल करनी हो तो काबिलियत बढाओ,
किस्मत की रोटी तो कुत्तेको भी नसीब होती है.!!



Post a Comment

0 Comments