Romantic Shayari, Romantic Sms in Hindi, Love Quotes

कभी हँसता है प्यार
कभी रुलाता है प्यार
हर पल की याद दिलाता है यह प्यार
चाहो या न चाहो पर आपके
होने का एहसास दिलाता है ये प्यार
वेलेंटाइन डे की शुभकामनाए

************************

 फूल खिलते रहे जिंदगी की राह में
हंसी चमकती रहे आपकी निगाह में
कदम कदम पर मिले ख़ुशी की बाहर आपको
दिल देता है यही दुआ बार-बार आपको
वेलेंटाइन डे की शुभकामनाए

 ************************

 कृष्ण ने राधा से पूछा:
ऐसी एक जगह बताओ
जहाँ में नहीं हूँ?
राधा ने मुस्कुराके कहा
बस मेरे नसीब में

 ************************

 तुम बिन ज़िंदगी सूनी सी लगती है
हर पल अधूरी सी लगती है
अब तो इन साँसों को अपनी साँसों से जोड़ दे
क्योंकि अब यह ज़िंदगी कुछ
पल की मेहमान सी लगती है।



 यूँ तो तमन्नाएं दिल में ना थी हमें लेकिन
ना जाने तुझे देखकर क्यों आशिक़ बन बैठे
बंदगी तो खुदा की भी करते थे लेकिन
ना जाने क्यों हम काफ़िर बन बैठे।

 ************************

 बेवजह हम वजह ढूंढ़ते हैं तेरे पास आने को
ये दिल बेकरार है तुझे धड़कन में बसाने को
बुझी नहीं प्यास इन होंठों की अभी
न जाने कब मिलेगा सुकून तेरे इस दीवाने को।

 ************************

 देख मेरी आँखों में ख्वाब किसके हैं
दिल में मेरे सुलगते तूफ़ान किसके हैं
नहीं गुज़रा कोई आज तक इस रास्ते से हो कर
फिर ये क़दमों के निशान किसके हैं।

 ************************

 आईने में भी खुद को झांक कर देखा
खुद को भी हमने तनहा करके देखा
पता चल गया हमें कितनी मोहब्बत है आपसे
जब तेरी याद को दिल से जुदा करके देखा।

 ************************

 फिर से वो सपना सजाने चला हूँ
उमीदों के सहारे दिल लगाने चला हूँ
पता है कि अंजाम बुरा ही होगा मेरा
फिर भी किसी को अपना बनाने चला हूँ।

 ************************

 ना दिल से होता है
ना दिमाग से होता है
ये प्यार तो इत्तेफ़ाक़ से होता है
पर प्यार करके प्यार ही मिले
ये इत्तेफ़ाक़ भी किसी-किसी के साथ होता है।

 ************************

 तेरी आवाज़ तेरे रूप की पहचान है
तेरे दिल की धड़कन में दिल की जान है
ना सुनूं जिस दिन तेरी बातें
लगता है उस रोज़ ये जिस्म बेजान है।

 ************************

 चाहत के ये कैसे अफ़साने हुए
खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए
अब दुनिया की नहीं कोई परवाह हमें
इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए।

 ************************

 प्यासी ये निगाहें तरसती रहती हैं
तेरी याद में अक्सर बरसती रहती हैं
हम तेरे ख्यालों में डूबे रहते हैं
और ये ज़ालिम दुनिया हम पे हँसती रहती है।

 ************************

 उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था
कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था
बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम
प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

 ************************

 हर घडी एक नाम याद आता है
कभी सुबह कभी शाम याद आता है
सोचते हैं हम कि कर लें फिर से मोहब्बत
फिर हमें मोहब्बत का अंजाम याद आता है।

 ************************

 बड़ी मुद्दत से चाहा है तुम्हें
बड़ी दुआओं से पाया है तुम्हें
तुम ने भुलाने का सोचा भी कैसे
किस्मत की लकीरों से चुराया है तुम्हें।

 ************************

 ज़माने भर में आशिक कोई हमसा नही होगा
खूबसूरत सनम भी कोई तुमसा नहीं होगा
मर भी जाये उसकी बाहों में तो कोई गम नही यारो
क्योंकी उसके आँचल से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होगा।

 ************************

 कभी मोहब्बत करो तो हमसे करना
दिल की बात जुबाँ पर आये तो हम से कहना
न कह सको कुछ तो आँखें झुका लेना
हम समझ जायेंगे हमें तुम न कुछ कहना।

 ************************

 चुराकर दिल मेरा वो बेखबर से बैठे हैं
मिलाते नहीं नज़र हमसे अब शर्मा कर बैठे हैं
देख कर हमको छुपा लेते हैं मुँह आँचल में अपना
अब घबरा रहे हैं कि वो क्या कर बैठे हैं।

************************

 ज़िंदगी जीने के लिए मुझे दुआ चाहिए
उस पर किस्मत की भी वफ़ा चाहिए
खुदा के रहम से सब कुछ है मेरे पास
बस प्यार करने के लिए आप जैसा कोई महबूब चाहिए।

 ************************

तू ही मिल जाये मुझे ये ही काफ़ी है
मेरी हर साँस ने बस यही दुआ माँगी है
जाने क्यों दिल खींचा जाता है तेरी तरफ़
क्या तुमने भी मुझे पाने की कोई दुआ माँगी है।

 ************************

  जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते
कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते
एक हसरत है कि उनको मनाये कभी
एक वो हैं कि कभी खफा नहीं होते।

 ************************

 कभी किसी से प्यार मत करना
हो जाये तो इंकार मत करना
चल सको तो चलना उस राह पर
वरना किसी की ज़िन्दगी ख़राब मत करना

 ************************

 किस्मत से अपनी सबको शिकायत क्यों है?
जो नहीं मिल सकता उसी से मुहब्बत क्यों है?
कितने खायें है धोखे इन राहों में
फिर भी दिल को उसी का इंतजार क्यों है?

 ************************

 किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नहीं
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नहीं
गुनाह हो यह ज़माने की नज़र में तो क्या
ज़माने वाले कोई खुदा तो नहीं

 ************************

 इस कदर हम उनकी मुहब्बत में खो गए
कि एक नज़र देखा और बस उन्हीं के हम हो गए
आँख खुली तो अँधेरा था देखा एक सपना था
आँख बंद की और उन्हीं सपनो में फिर सो गए

 ************************

 आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है
इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है
कोई संभाले मुझे बहक रहे है मेरे कदम
वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है

 ************************

 कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से
तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है

 ************************

 वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे
दूर से जब इतना याद करते है आपको
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे?

 ************************

 बेताब तमन्नाओ की कसक रहने दो
मंजिल को पाने की कसक रहने दो
आप चाहे रहो नज़रों से दूर
पर मेरी आँखों में अपनी एक झलक रहने दो

 ************************

 उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको
खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको
हम तो कुछ देने के काबिल नहीं है
देने वाला हज़ार खुशिया दे आपको

 ************************

 गम ने हसने न दिया
ज़माने ने रोने न दिया
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया
थक के जब सितारों से पनाह ली
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया

 ************************

 ना मैं ख्याल में तेरे ना मैं गुमान में हूँ
यकीन दिल को नहीं है कि इस जहान में हूँ
खुदाया रखियेगा दुनिया में सरफ़राज़ मुझे
मैं पहले इश्क़ के पहले इम्तिहान में हूँ।

 ************************

 आप को देख कर यह निगाह रुक जाएगी
ख़ामोशी अब हर बात कह जाएगी
पढ़ लो अब इन आँखों में अपनी मोहब्बत
कसम से सारी कायनात इसे सुनने को थम जाएगी।

 ************************

 चाहतों ने किया मुझ पे ऐसा असर
जहाँ देखूं मैं देखूं तुझे हमसफ़र
मेरी खामोशियाँ भी जुबान बन गयी
मेरी बेचैनियां इश्क़ की दास्तान बन गयी।

 ************************

 आपसे दूर भला हम कैसे रह पाते
दिल से आपको कैसे भुला पाते
काश कि आप इस दिल के
अलावा आईने में भी रहते
देखते जब आइना खुद को देखने
को तो वहाँ भी आप ही नज़र आते।

 ************************

 न आज लुत्फ़ कर इतना कि कल गुज़र न सके
वह रात जो कि तेरे गेसुओं की रात नहीं
यह आरजू भी बड़ी चीज़ है मगर हमदम
विसाले यार फकत आरजू की बात नहीं।

 ************************

 आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते
होंठों से हम कुछ कह नहीं सकते
कैसे बयाँ करें हम यह हाल-ए-दिल आपको
कि तुम्हीं हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते।

 ************************

 तू महक बन कर मुझ से गुलाबों में मिला कर
जिसे छू कर मैं महसूस कर सकूँ
तू मस्ती की तरह मुझ से शराबों में मिला कर
मैं भी इंसान हूँ डर मुझ को भी है बहक जाने का
इस वास्ते तू मुझ से हिजाबों में मिला कर।

 ************************

 करते हैं हम तुमसे मोहब्बत
हमारी खता यह माफ़ करना
है अगर बदनाम मोहब्बत हमारी
तुम प्यार को बदनाम मत करना।

 ************************

 जज़्बात मचलते हैं जब तुमसे मिलता हूँ
अरमान मचलते हैं जब तुमसे मिलता हूँ
साथ हम दोनों का कोई बर्दाश्त नहीं करता
जलती है देख कर दुनिया जब मैं तुमसे मिलता हूँ।

 ************************

 लाखों में इंतिख़ाब के क़ाबिल बना दिया
जिस दिल को तुमने देख लिया दिल बना दिया
पहले कहाँ ये नाज़ थे ये इश्वा-ओ-अदा
दिल को दुआएँ दो तुम्हें क़ातिल बना दिया।

 ************************

 कब उनके लबों से इज़हार होगा
दिल के किसी कोने में हमारे लिए भी प्यार होगा
गुज़र रही हैं अब तो यह रातें बस इसी सोच में
कि शायद उनको भी हमारा इंतज़ार होगा।

 ************************

 तेरे मिलने की आस न होती
तो ज़िंदगी आज यूँ उदास न होती
मिल जाती कभी तस्वीर जो तेरी
तो हमको आज तेरी तलाश न होती।

 ************************

 अजीब नशा है होशियार रहना चाहता हूँ
मैं उस के ख़्वाब में बेदार रहना चाहता हूँ
ये मौज-ए-ताज़ा मेरी तिश्नगी का वहम सही
मैं इस सराब में सरशार रहना चाहता हूँ।

 ************************

 मेरे दिल ने जब भी कभी कोई दुआ माँगी है
तो हर दुआ में बस तेरी वफ़ा माँगी है
जिस प्यार को देख कर दुनिया वाले जलते हैं
तेरी मोहब्बत करने की बस वो एक अदा माँगी है।

************************

 कुछ सोचूं तो तेरा ख्याल आ जाता है
कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है
कब तक छुपाऊँ दिल की बात
उसकी हर अदा पर मुझे प्यार आ जाता है।

 ************************

 आप को भूल जाऊं यह नामुमकिन सी बात है
आप को न हो यकीन यह और बात है
जब तक रहेगी साँस तब तक आप रहोगे याद
टूट जाये यह साँस तो यह और बात है।

 ************************

  बगैर जाने-पहचाने इक़रार ना कीजिये
मुस्कुरा कर यूँ दिलों को बेक़रार ना कीजिये
फूल भी दे जाते हैं ज़ख़्म गहरे कभी-कभी
हर फूल पर यूँ ऐतबार ना कीजिये।

 ************************

 निकला करो इधर से भी होकर कभी कभी
आया करो हमारे भी घर पर कभी कभी
माना कि रूठ जाना यूँ आदत है आप की
लगते मगर हैं अच्छे आपके ये तेवर कभी कभी।

 ************************

 मोहब्बत के लबोँ पर फिर वही तकरार बैठी है
एक प्‍यारी सी मीठी सी कोई झनकार बैठी है
तुझसे दूर रहकर के हमारा हाल है ऐसा
मैँ तेरे बिन यहाँ तू मेरे बिन वहाँ बेकार बैठी है।

 ************************

 आँखों के सामने हर पल आपको पाया है
अपने दिल में सिर्फ आपको ही बसाया है
आपके बिना हम जियें भी तो कैसे
भला जान के बिना भी कोई जी पाया है।

 ************************

 दिल की किताब में गुलाब उनका था
रात की नींद में एक ख्वाब उनका था
है कितना प्यार हमसे जब यह हमने पूछ लिया
मर जायेंगे बिन तेरे यह जवाब उनका था।

 ************************

 उनके दीदार के लिए दिल तड़पता है
उनके इंतज़ार में दिल तरसता है
क्या कहें इस कमबख्त दिल को अब
अपना होकर भी जो किसी और के लिए धड़कता है।

 ************************

 धोखा ना देना कि तुझपे ऐतबार बहुत है
ये दिल तेरी चाहत का तलबगार बहुत है
तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नही देता
हम क्या करें कि तुझसे हमें प्यार बहुत है।

 ************************

 कच्ची दीवार हूँ ठोकर ना लगाना मुझे
अपनी नज़रों में बसा कर ना गिराना मुझे
तुम को आँखों में तसावुर की तरह रखता हूँ
दिल में धड़कन की तरह तुम भी बसाना मुझे।

Post a comment

0 Comments