Romantic Shayari, Best Romantic Sms, New Romantic Shayari

मत पूछो कितनी मोहब्बत है मुझे उनसे !
बारिश की बूँद भी अगर उन्हें छू ले.
तो दिल में आग लग जाती है .....

**********************

  चाहत देस से आनेवाले ये
तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं,
यार के मौसम कैसे हैं ...

 **********************

  दोस्तों जानता हूँ मशहूर बहुत हे
मेरे अल्फाज और शायरी ...
मगर एक पगली ऐसी भी हे
जो मुझसे मनाई नही जाती

 **********************

 दिल से खेलना हमे आता नहीं,
इसलिये इश्क की बाजी हम हार गए,
शायद मेरी जिन्दगी से बहुत प्यार था उन्हें,
इसलिये मुझे जिंदा ही मार गए



 मत इंतज़ार कराओ हमे इतना,
कि वक़्त के फैसले पर अफ़सोस हो जाये,
क्या पता कल तुम लौटकर आओ,
और हम खामोश हो जाएँ.

 **********************

 रास्ता ऐसा भी दुशवार न था,
बस उसको हमारी चाहत पे ऐतबार न था,
वो चल न सकी हमारे साथ वरना,
हमे तो जान देने से भी इनकार न था.

 **********************

  हम भूल जाये ऐसी दिल की हसरत कहाँ,
वो याद करे हमे इतनी उसे फुर्सत कहाँ,
जिनके चारो तरफ हो अपनों का साथ,
उन्हें हमारी जरुरत कहाँ.

 **********************

 जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।
वो याद में किसी के खोया जरूर होगा।
दिवार के सहारे, घुटनों में सिर छिपाकर ,
वो ख्याल में किसी के खोया जरुर होगा।
आँखों में आंसुओ के, आने के बाद उसने,
धीरे से उसको उसने, पोंछा जरुर होगा।
जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा। 

 **********************

 पढ़ने वालों की कमी हो गयी है आज इस ज़माने में,
नहीं तो गिरता हुआ एक-एक आँसू पूरी किताब है!!
सो जा ऐ दिल कि अब धुन्ध बहुत है तेरे शहर में,
अपने दिखते नहीं और जो दिखते है वो अपने नहीं…।

 **********************

 अलविदा कह के जब वौ चल दिये,
इन आखो ने सारे हसीन ख्वाब खो दिये,
दर्द तब नही हुआ जब वो हमे छोड़ दिये,
दुख तो तब हुआ जब वो
अलविदा कहते ही खुद रो दिये..!!

 **********************

 आज फिर ए तन्हाई लग जा गले,
के तुझसे लिपट के रोने का बहुत दिल है,
एक तू ही तो है हमसाया जिंदगी का मेरी..
वरना यहां तो हर रिश्ता, मेरी रूह का कातिल है!!

 **********************

 तुम खुश-किश्मत हो जो
हम तुमको चाहते है वरना,
हम तो वो है जिनके ख्वाबों मे
भी लोग इजाजत लेकर आते है..!!

 **********************

 वो खुद पर गरूर करते है,
तो इसमें हैरत की कोई बात नहीं,
जिन्हें हम चाहते है,
वो आम हो ही नहीं सकते !

 **********************

 छोड दो तन्हाई मे मुझको यारो..
साथ मेरे रहकर क्या पाओगे..
अगर हो गई आपको भी मोहब्बत कभी..
मेरी तरह तुम भी पछताओगे..

 **********************

 तेरी नज़र का झुकना
कुछ यू भा गया दिल को
मोहब्बत तो थी ही तुझसे
अब तो आशिक बना दिया मुझको

 **********************

 सितारों को आँखों में महफूज रखना,
बड़ी देर तक रात ही रात होगी,
मुसाफिर हैं हम, मुसाफिर हो तुम भी,
किसी मोड़ पर फिर मुलाक़ात होगी।

 **********************

 आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है!
इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है!
कोई संभाले मुझे, बहक रहे है मेरे कदम!
वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है!

 **********************

 इतना किसी को सताया नहीं करते…
हद से ज़्यादा किसी को तड़पाया नहीं करते…

 **********************

 ख्वाहिश थी उस रिश्ते को बचाने की…
और यही वजह थी मेरे हार जाने की…

 **********************

 बहुत इंतजार के बाद तुमसे बात हुई
थोड़ी ही पर दिल को तसल्ली मिली
हमें अहसास होताथा कि भूलने का तेरे
पर आज तुमने मेरी ग़लतफ़हमी खत्म की

 **********************

 हमारे पहले प्यार की खुश्बू
तेरी सांसो से आ रही है
तेरे होठों पे हल्की सी हंसी है
मेरी धड़कन बहकती जा रही है।

 **********************

 सितम को हम करम समझे,
जफा को हम वफा समझे,
जो इस पर भी न समझे वह
तो उस बुत को खुदा समझे।

 **********************

 कुछ बातों के मतलब हैं
और कुछ मतलब की बातें,
जब से फर्क समझा,
जिंदगी आसान हो गई.

 **********************

 वो छोड़ के गए हमें
न जाने उनकी क्या मजबूरी थी
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।

 **********************

 मत पूछ मेरे सब्र की इन्तेहा कहाँ तक है
तु सितम कर ले
तेरी ताक़त जहाँ तक है
व़फा की उम्मीद जिन्हें होगी
उन्हें होगी हमें तो देखना है
तू ज़ालिम कहाँ तक है!

 **********************

 अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती
लोग मरने की आरज़ू ना करते
अगर मोहब्बत में बेवाफ़ाई ना होती!

 **********************

  शायरी नहीं आती मुझे बस हाले दिल सुना रही हूँ
बेवफ़ाई का इलज़ाम है
मुझपर फिर भी गुनगुना रही हूँ
क़त्ल करने वाले ने कातिल भी हमें ही बना दिया
खफ़ा नहीं उससे फिर भी मैं बस
उसका दामन बचा रही हूँ।

 **********************

 बरसों सजाते रहे हम
किरदार को अपने...
कुछ लोग बाजी मार ले
गये यहाँ सूरत सवार कर...

 **********************

 जाऊँ तो कहा जाऊँ इस
तंग दिल दुनिया में,
हर शख्स मजहब पूछ के
आस्तीन चढ़ा लेता है...!

 **********************

 वजह नफरतों की तलाशी जाती हैं
मोहब्बत तो बेवजह ही हो जाती हैं…!!

 **********************

 कोशिश के बाद भी जो पूरी ना हो सकी..
तेरा नाम भी उन ख्वाइशों मैं हैं..

 **********************

 करो कुछ ऐसा दोस्ती में
की Thanks And Sorry words बे-ईमान लगे
निभाओ यारी ऐसे के यार को छोड़ना मुश्किल
और दुनिया छोड़ना आसान लगे…

 **********************

  तुमको मिल जायेगा बेहतर मुझसे !
मुझको मिल जायेगा बेहतर तुमसे !
पर कभी कभी लगता है ऐसे...
हम एक दूसरे को मिल जाते
तो होता बेहतर सबसे !

 **********************

 महफ़िल ना सही
तन्हाई तो मिलती है
मिलें ना सही
जुदाई तो मिलती है
प्यार में कुछ नहीं मिलता
वफ़ा ना सही
बेवफ़ाई तो मिलती है।

 **********************

एक इंसान मिला जो जीना सिखा गया
आंसुओं की नमी को पीना सिखा गया
कभी गुज़रती थी वीरानों में ज़िंदगी
वो शख्स वीरानों में महफ़िल सजा गया।

 **********************

  मेरी तक़दीर में जलना है तो जल जाऊँगा
तेरा वादा तो नहीं हूँ जो बदल जाऊँगा
मुझको समझाओ न मेरी जिंदगी के असूल
एक दिन मैं खुद ही ठोकर खा के संभल जाऊँगा।

 **********************

 क्या बताऊँ मेरा हाल कैसा है
एक दिन गुज़रता है एक साल जैसा है
तड़पता हूँ इस कदर बेवफाई में उसकी
ये तन बनता जा रहा कंकाल जैसा है।

 **********************

 आपकी नशीली यादों में डूबकर
हमने इश्क की गहराई को समझा
आप तो दे रहे थे धोखा और
हमने जानकर भी कभी आपको बेवफा न समझा।

 **********************

 चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,
राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,
आप जो हमें इतना चाहेंगे…
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे.

 **********************

 याद है मुझे मेरी हर एक गलती,
एक तो मोहब्बत कर ली,
दुसरी तुमसे कर ली,
तिसरी बेपनाह कर ली

 **********************

 वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं!

 **********************

 गुलाम बनकर जिओगे तो.
कुत्ता समजकर लात मारेगी तुम्हे ये दुनिया
नवाब बनकर जिओगे तो,
सलाम ठोकेगी ये दुनिया….
दम कपड़ो में नहीं,
जिगर में रखो….
बात अगर कपड़ो में होती तो,
सफ़ेद कफ़न में,
लिपटा हुआ मुर्दा भी सुल्तान मिर्ज़ा होता

 **********************

 दुनिया में किसी से कभी प्यार मत करना,
अपने अनमोल आँसू इस तरह बेकार मत करना,
कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं,
फूलों पर कभी इस तरह तुम ऐतबार मत करना..

 **********************

 तेरी दोस्ती ने दिया सकूं इतना,
की तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,
तुझे करनी है बेवफ़ाई तो इस अदा से कर,
कि तेरे बाद कोई भी बेवफ़ा न लगे

 **********************

 बरबाद कर देती है मोहब्बत,
हर मोहब्बत करने वाले को,
क्योंकि इश्क़ हार नही मानता,
और दिल बात नही मानता।

 **********************

 तुम मुझ पर लगाओ मैं तुम पर लगाता हूँ,
ये ज़ख्म मरहम से नही इल्ज़ामों से भर जायेंगे.

 **********************

 हजारो बार ली हैं तलाशियाँ तुमने मेरे दिल की,
बताओ कभी कुछ मिला है तुम्हारे सिवा !!!!

 **********************

 ना जाने क्या कमी है मुझमें,
ना जाने क्या खूबी है उसमें,
वो मुझे याद नहीं करती,
मैं उसको भूल नहीं पाता ।।

 **********************

 तू तो हँस हँसकर जी रही है,
जुदा होकर भी..
कैसे जी पाया होगा वो,
जिसने तेरे सिवा जिन्दगी कभी सोची ही नहीं..

 **********************

 न जाने इतनी मोहब्बत कहाँ से
आ गयी उस अजनबी के लिए ,
की मेरा दिल भी उसकी खातिर
अक्सर मुझसे रूठ जाया करता हे ..!!

 **********************

 रात चुप हे मगर चाँद खामोस नही ,
केसे कहु आज फिर होस नही ;
ऐसे डूबे हे उनकी यादों में की ,
हाथ में जाम हे पर पिनेका होस नही !

 **********************

 तुमसे बिछड़े तो मालुम हुवा
की मौत भी कोई चीज़ हे ,
ज़िदगी तो वोह थी जो हम
तेरी मेहफिल में गुजार आये

 **********************

 अजब सी खामोशी हैं मेरे अंदर तेरे जाने के बाद....
मै चीखती हु, चिल्लाती हु मगर शोर नहीं होता!!

 **********************

 मत पूछो कितनी मोहब्बत है मुझे उनसे !
बारिश की बूँद भी अगर उन्हें छू ले.
तो दिल में आग लगजाती है .....

 **********************

  मैं जहर तो पी लु शौक से तेरी खातिर..
पर शर्त ये है कि तुम सामने
बैठ कर सासो को टूटता देखो..

 **********************

 सुना है के तुम रातों को देर तक जागते हो
यादों के मारे हो या मोहब्बत में हारे हो...

 **********************

 चाहत देस से आनेवाले ये
तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं,
यार के मौसम कैसे हैं ...



Post a Comment

0 Comments