Romantic Love Sms in Hindi For Girlfriend

नफरतों के जहान में हमको
प्यार की बस्तियां बसानी हैं,
दूर रहना कोई कमाल नहीं,
पास आओ तो कोई बात बने।

**********************

 तेरी खूबसूरती की तारीफ में क्या लिखूं,
कुछ खूबसूरत शब्दों की अभी तलाश है मुझे...

 **********************

 मेरा कत्ल करने की उसकी साजीश तो देखो......
करीब से गुज़री तो चेहरे से पर्दा हटा लिया

 **********************

 हर भूल तेरी माफ़ की..
हर खता को तेरी भुला दिया..
गम है कि, मेरे प्यार का..
तूने बेवफा बनके सिला दिया

********************** 

 भुला के मुझको अगर तुम भी हो सलामत,
तो भुला के तुझको संभलना मुझे भी आता है,
नहीं है मेरी फितरत में ये आदत वरना,
तेरी तरह बदलना मुझे भी आता है..



 कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी..

 **********************

 आग दिल मे लगी जब वो खफा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
कर के वफ़ा कुछ दे ना सके वो ,
पर बहुत कुछ दे गये जब वो बेवफा हुए..

 **********************

 मुझे फिर तबाह कर मुझे फिर रुला जा,
सितम करने वाले कहीं से तू आजा,
आँखों में तेरी ही सूरत बसी है,
तेरी ही तरह तेरा ग़म भी हंसीं है..

 **********************

 ना करते तूम से कोई वादा तो आज इंतजार नही करना पड़ता ,
वादा जो निभाना है तो इंतजार ही करना पड़ेगा ,,

********************** 

 दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
तुम ख्वाबो में आकर युँ तडपाया ना करो.

 **********************

 ना मेरा दिल बुरा था ना उसमें कोई बुराई थी ,
सब नसीब का खेल है ,बस किस्मत में जुदाई थी।

 **********************

 ऐ इश्क़…तेरा वकील बन के बुरा किया मैनें,
यहाँ हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा हैं…

 **********************

  कमाल का जिगर रखते है कुछ लोग
दर्द पढ़ते है और आह तक नहीं करते

 **********************

 दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये

 **********************

 दिल में हो आप तो कोई और ख़ास कैसे होगा,
यादों में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा,
हिचकियां केहती है आप याद करते हो…
पर बोलोगे नहीं तो हमें अहसास कैसे होगा ?

 **********************

 आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की……!!
लम्हें तो अपने आप ही मिल जाते ह
कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को,
याद वही आते है जो उड़ जाते है…!! 

 **********************

 आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है

 **********************

 कब उनकी पलकों से इज़हार होगा,
दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा,
गुज़र रही है रात उनकी यादो में,
कभी उनको भी हमारा इंतज़ार होगा..

 **********************

 वो नहीं आती पर निशानी भेज देती है
ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है
कितने मीठे हे उसकी यादो के मंज़र।
कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है!! 

 **********************

 कुछ खूबसूरत पल याद आते हैं,
पलकों पर आँसु छोड जाते हैं,
कल कोई और मिले हमें न भुलना क्योंकि
कुछ रिश्ते जिन्दगी भर याद आते हैं|

 **********************

 दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..

 **********************

 आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है यह
कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का उसी
की ज़रूरत है और उसी की कमी है 

 **********************

 दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये।

 **********************

 छुपे हैं लाख हक़ के मरहले गुम-नाम होंटों पर;
उसी की बात चल जाती है जिस का नाम चलता है।

 **********************

 अब जिस के जी में आये वही पाये रौशनी;
हम ने तो दिल जला कर सरेआम रख दिया।

 **********************

 तुझको भी जब अपनी कसमें अपने वादे याद नहीं;
हम भी अपने ख्वाब तेरी आँखों में रख कर भूल गए।

 **********************

  माँगने से मिल सकती नहीं हमें एक भी ख़ुशी;
पाये हैं लाख रंज तमन्ना किये बगैर।

 **********************

 उसकी मोहब्बत का सिलसिला
भी क्या अजीब सिलसिला था;
अपना भी नहीं बनाया और
किसी का होने भी नहीं दिया।

  **********************

 ख़ंजर चले किसी पे तड़पते हैं हम अमीर;
सारे जहाँ का दर्द हमारे जिगर में है।

 **********************

 तुझे दुश्मनों की खबर न थी मुझे दोस्तों का पता नहीं;
तेरी दास्ताँ कोई और थी मेरा वाकिया कोई और है

 **********************

 ज़िंदा हो तो 1 SMS भेजो,
आसमान मे चले गये हो तो बारिश भेजो,
वर्ग मे हो तो अप्सरा भेजो, अगर नरक मे हो तो,
Enjoy yourself!

 **********************

 जो आसानी से मिले वो है गम,
जो मुश्किल से मिले वो है RUM,
जो किसी किसी से मिले वो है दम,
जो नसीब वालो को मिले वो है हम!!

 **********************

 लोग कहेते है की हमने उन्हे भुला रखा है
वो क्या जाने की दिल मे उन्हे छुपा रखा है
देखे ना कोई उन्हे मेरे आँखो मे
इस देर से पॅल्को को झुका रखा है

 **********************

 अपनी सांसों में महकता पाया है तुझे,
हर खवाब मे बुलाया है तुझे,
क्यू न करे याद तुझ को
जब खुदा ने हमारे लिए बनाया है तुझे.

 **********************

 हर बात में आंसू बहाया नहीं करते,
दिल की बात हर किसी को बताया नहीं करते,
लोग मुट्ठी में नमक लेके घूमते है..
दिल के जख्म हर किसी को दिखाया नहीं करते

 **********************

 अपनी जिंदगी के अलग असूल हैं,
यार की खातिर तो कांटे भी कबूल हैं,
हंस कर चल दूं कांच के टुकड़ों पर भी,
अगर यार कहे, यह मेरे बिछाए हुए फूल हैं.

 **********************

 आपसे दूर रेहके भी आपको याद किया हमने,
रिश्तों का हर फ़र्ज़ अदा किया हमने,
मत सोचना की आपको भुला दिया हमने,
आज फिर सोने से पहले आपको याद किया हमने.

**********************

 मेरी लिखी किताब मेरे हाथों में थमा कर वो बोली ,
इसे पढ़ लो मोहब्बत करना सीख जाओगे 

 **********************

  खुलेगी इस नज़र पे चश्म-ए-तर आहिस्ता आहिस्ता;
किया जाता है पानी में सफ़र आहिस्ता आहिस्ता;
कोई ज़ंजीर फिर वापस वहीं पर ले के आती है;
कठिन हो राह तो छूटता है घर आहिस्ता आहिस्ता।

 **********************

 ठे हैं दिल में ये अरमां जगाये,
के वो आज नजरों से अपनी पिलाये ।
मजा तो तब ही पीने का यारो,
इधर हम पियें और नशा उनको आये ।।

 **********************

 पी है शराब हर गली की दुकान से,
दोस्ती सी हो गयी है शराब की जाम से ;
गुज़रे है हम कुछ ऐसे मुकाम से,
की आँखें भर आती है मोहब्बत के नाम से..!

 **********************

 किसी शायर से कभी उसकी उदासी की वजह पूछना...
दर्द को इतनी ख़ुशी से सुनाएगा की प्यार हो जायेगा...!!!

 **********************

 क़दर करलो उनकी जो तुमसे
बिना मतलब की चाहत करते हैं..
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम
और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है..!

 **********************

 सोचता हु हर कागज पे तेरी तारीफ करु,
फिर खयाल आया कहीँ पढ़ने वाला भी तेरा दीवाना ना हो जाए

 **********************

 लोग कहते हैं किसी एक के
चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने
से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है……

 **********************

 तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा..
मेरी मोहब्बत तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!!

 **********************

 कुर्बान हो जाऊं उस सख्स के हाथों की लकीरों पर 
जिसने तुझे माँगा भी नहीं और तुझे अपना बना लिया ......!

 **********************

 कहाँ कोई ऐसा मिला जिस पर हम दुनिया लुटा देते,
हर एक ने धोखा दिया, किस-किस को भुला देते,
अपने दिल का ज़ख्म दिल में ही दबाये रखा,
बयां करते तो महफ़िल को रुला देते।

 **********************

 याद मीठी सी दिलाकर चले गए !
दिल हमारा साथ उठा कर चले गए !!
सबे महफिल देखती ही रह गई !
वो मस्त ऑखों से पिलाकर चले गए !!

 **********************

 बड़ी मुस्किल से बनाया था,
अपने आपको काबिल उसके
उसने ये कहकर बिखेर दिया…
की तुमसे मोह्बत तो है
पर पाने की चाहत नही हैं।

 **********************

 आज भीगी है पलके किसी की याद
में आकाश भी सिमट गया हैं
अपने आप में ओस की बूँद ऐसी गिरी है
ज़मीन पर मानो चाँद भी रोया हो उनकी याद में.…

 **********************

 जिंदगी का खेल शतरंज से भी मज़ेदार निकला....!
मैं हारा भी तो अपनी हीं रानी से.....

 **********************

 वक़्त बदला और बदली कहानी है;
संग मेरे हसीन पलों की यादें पुरानी हैं;
ना लगाओ मरहम मेरे ज़ख्मों पर;
मेरे पास उनकी बस यही एक बाकी निशानी है।

 **********************

 तेरे हसीन तस्सवुर का आसरा लेकर;
दुखों के काँटे में सारे समेट लेता हूँ;
तुम्हारा नाम ही काफी है राहत-ए-जान को;
जिससे ग़मों की तेज़ हवाओं को मोड़ देता हूँ।

 **********************

 टूटे हुए पैमाने में कभी जाम नहीं आता;
इश्क़ के मरीज़ों को कभी आराम नहीं आता;
ऐ दिल तोड़ने वाले तुमने यह नहीं सोचा;
कि टूटा हुआ दिल कभी किसी के काम नहीं आता।

 **********************

 कभी संभले तो कभी बिखरते आये हम;
जिंदगी के हर मोड़ पर खुद में सिमटते आये हम;
यूँ तो जमाना कभी खरीद नहीं सकता हमें;
मगर प्यार के दो लफ्जो में सदा बिकते आये हम;

 **********************

 आयें हैं उसी मोड पे लेकिन अपना नही यहाँ अब कोई;
इस शहर ने इस दीवाने को ठुकराया है बार-बार,
माना कि तेरे हुस्न के काबिल नही हूँ मैं,
पर यह कमबख्त इश्क तेरे दर पे हमें लाया है बार-बार।

 **********************

 बिछड़ के तुम से ज़िन्दगी सज़ा लगती है;
यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है;
तड़प उठता हूँ दर्द के मारे मैं;
ज़ख्मो को मेरे जब तेरे शहर की हवा लगती है।

 **********************

 सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से….
या तो दोनों आते हैं ….या कोई नहीं आता !!

Post a Comment

0 Comments