Love Shayari in Hindi,Best Love Sms for GF BF

ज़िक्र उस का ही सही बज़्म में बैठे हो फ़राज़,
दर्द कैसा भी उठे हाथ न दिल पर रखना।

******************************

  इतनी लम्बी उम्र की
दुआ मत माँग मेरे लिये
ऐसा ना हो कि तू भी छोड दे
और मौत भी ना आए..!

 ******************************

 वक़्त मिले तो प्यार की किताब पढ़ लेना,
हर प्यार करने वाले की कहानी अधूरी होती है.

 ******************************

 शाख से फूल तोड़कर मैंने सीखा
अच्छा होना गुनाह है इस जहाँ में

 

 जो जले थे हमारे लिऐ,
बुझ रहे है वो सारे दिये,
कुछ अंधेरों की थी साजिशें,
कुछ उजालों ने धोखे दिये..

 ******************************

 खूब करता है, वो मेरे ज़ख्म का इलाज
कुरेद कर देख लेता है
और कहता है वक्त लगेगा..

 ******************************

तुम जाओ अपनी ख़ुशी देखो,
दिल का क्या है …. इसे हम मना लेंगे  

 ******************************

इन्सान अपनी मर्जी से खामोश नहीं
होता किसी ने बहुत सताया हुआ होता है 

 ******************************

 मैं तुम पर अपनी जान भी ….
लुटा दूँ……..तुम मुझ से …….
मुझ जैसी मोहब्बत तो करो.. 

 ******************************

 माना तुम लफ़्हज़ों के बादशाह हो पर
हम भी ख़ामोशियों पर राज़ करते हैं 

 ******************************

 वो शख्स मेरे हर किस्से कहानी में आया
जो मेरा हिस्सा होकर भी मेरे हिस्से ना आया 

 ******************************

 तुम दूर हो या पास फर्क किसे पड़ता है,
तू जँहा भी रहे तेरा दिल तो यँही रहता है..!!

 ******************************

 तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे..
मैं एक शाम चुरा लूँ अगर बुरा न लगे..!!!

 ******************************

 सीख जाओ वक्त पर किसी
की चाहत की कदर करना..
कहीं कोई थक ना जाये
तुम्हें एहसास दिलाते दिलाते..

 ******************************

 तुमने समझा ही नहीं…और ना समझना चाहा,
हम चाहते ही क्या थे तुमसे… तुम्हारे सिवा

 ******************************

 चाहत देस से आनेवाले ये तो
बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं,
यार के मौसम कैसे हैं ...

 ******************************

 बहुत थे मेरे भी इस दुनिया मेँ अपने;
फिर हुआ इश्क और हम लावारिस हो गए।

 ******************************

 अब जिस के जी में आये वही पाये रौशनी;
हम ने तो दिल जला कर सरेआम रख दिया।

 ******************************

 तुझको भी जब अपनी
कसमें अपने वादे याद नहीं;
हम भी अपने ख्वाब तेरी
आँखों में रख कर भूल गए।

 ******************************

 माँगने से मिल सकती नहीं हमें एक भी ख़ुशी;
पाये हैं लाख रंज तमन्ना किये बगैर।

 ******************************

 उसकी मोहब्बत का सिलसिला
भी क्या अजीब सिलसिला था;
अपना भी नहीं बनाया और
किसी का होने भी नहीं दिया।

 ******************************

 उंगलिया आज भी इस सोच में गुम है
उसने कैसे नए हाथ को थामा होगा...

 ******************************

 मजबूरियॉ ओढ के निकलता
हूं घर से आज कल..
वरना शौक तो आज भी है
बारिशों में भीगनें का.!!

 ******************************

 बस एक बार निकाल दो इस इश्क से ऐ खुदा ,
फिर जब तक जियेंगे कोई खता न करेंगे ...

 ******************************

 लगता है हमारी हथेली में
love line है ही नही..
साला बचपन में जलजीरा चाटते
चाटते उसको भी साफकर गये.

 ******************************

 पुछेगा अगर खुदा तो कहूँगी
हाँ हूई थी मोहब्बत मगर
जिसके साथ हूई वो
उसके काबिल ना था 

 ******************************

 डूबी हे मेरी उंगलिया खुद अपने लहू में ,
ये कांच के टुकडो को उठाने की सजा हे !

 ******************************

 चाह से ज्यादा, चाहने की चाह,
मुझे भी थी उसे लेकिन
क्या फायदा ऐसी चाह का,
जो चाहकर भी ना बन सके मेरी चाह

 ******************************

 आज कल वो हमसे डिजिटल नफरत करते हैं,
हमें ऑनलाइन देखते ही ऑफलाइन हो जाते हैं.

 ******************************

 हमारी चर्चा छोडो दोस्तों,
हम ऐसे लोग है जिन्हें,
नफरत कुछ नहीं कहती
और मोहब्बत मार डालती है…

 ******************************

 लफ्ज़ बीमार से पड़ गये है आज कल…..
एक खुराक तेरे दीदार की चाहिए

 ******************************

 तुमको मिल जायेगा बेहतर मुझसे !
मुझको मिल जायेगा बेहतर तुमसे !
पर कभी कभी लगता है ऐसे...
हम एक दूसरे को मिल
जाते तो होता बेहतर सबसे !

 ******************************

 वो अक्सर देता है मुझे मिसाल परिंदों की,
साफ़-साफ़ नहीं कहता के मेरा शहर छोड़ दो.

 ******************************


 हाथ थामे जिनका चले थे कभी…
अब तनहा इस दिल में लिए घुमते है उन्हें…

 ******************************

 मैं ख़ामोशी तेरे मन की,
तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा…
मैं एक उलझा लम्हा,
तू रूठा हालात मेरा …

******************************

 जिस उम्र में हमारे दाँत टूटे थे,
आज-कल के बच्चों के
उस उम्र में दिल टूट जाते हैं।

 ******************************

 आप तब तक ख़ुशी नहीं
रह पाएंगे जब तक आप ये
खोजते रहेंगे की ख़ुशी कहा मिलेगी।
और आप तक ख़ुशी से जी नहीं
पाएगे जब तक लेफे का
मीनिंग खोजते रहेंगे।

 ******************************

 टूटे हुए सपने से खुली, आज सुबह फिर आँख ....
सपना आज फिर चुभेगा दिन भर....!!

 ******************************

 मैखाने मैं आऊंगा मगर पिऊंगा नहीं साकी,
ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती...

 ******************************

 बड़ी बेरहम है यारा तेरी
यादें जितना दूर जाना चाहूँ
और करीब आ जाती हैं
मुझे तेरे और करीब ले जाती हैं

 ******************************

 जब प्यार किसी से होता है,
हर दर्द दवा बन जाता है।
क्या चीज मुहब्बत होती है,
एक शख्स खुदा बन जाता है।

 ******************************

 टूटी हुई डाली का दर्द उसकी साख से पूँछो,
धरती की प्यास बरसात से पूँछो,
मैं आपको कितना चाहता हूँ,
ये मुझसे नहीं अपने आप से पूँछो।

 ******************************

 जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते,
कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते,
एक हसरत है कि उनको मनाये कभी,
एक वो हैं कि कभी खफा नहीं होते।

 ******************************

 दर्द को छुपाए बैठा रहा,
आंखों की नमी को छुपाए बैठा रहा,
उम्मीद टूटी नहीं है अभी भी,
तेरे लौट आने की खुशी में बैठा रहा।

 ******************************


 जब कभी तेरा नाम लेते हैं,
दिल से हम इन्तेकाम लेते हैं,
मेरी बरबादियों के अफसाने
मेरे यारों का नाम लेते हैं।

 ******************************

 दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते,
गम के आंसू न बहते तो और क्या करते,
उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ,
हम खुद को न जलाते तो और क्या करते!

 ******************************

 आप से दूर हो कर हम जायेंगे कहा,
आप जैसा दोस्त हम पाएंगे कहा,
दिल को कैसे भी संभाल लेंगे,
पर आँखों के आंसू हम छुपायेंगे कहा.

 ******************************

 कैसे करूँ मैं साबित…
कि तुम याद बहुत आते हो…
एहसास तुम समझते नही…
और अदाएं हमे आती नहीं…

 ******************************

 वो जा रही थी और मैं खामोश खड़ा देखता रहा,
क्योंकि सुना था कि पीछे से आवाज़ नहीं देते..!

 ******************************

 हर रोज बहक जाते हैं मेरे कदम,
तेरे पास आने के लिये…ना जाने
कितने फासले तय करने अभी
बाकी है तुमको पाने के लिये

 ******************************

 पलकों में आँसू और दिल में दर्द सोया है ,
हँसने वालों को क्या पता रोने
वाला किस कदर रोया है।

 ******************************

 मोहब्बत तो दिल से की थी,
दिमाग उसने लगा लिया….
दिल तोड दिया मेरा उसने और
इल्जाम मुझपर लगा दिया

 ******************************

 बड़ी हिम्मत दी उसकी जुदाई ने
ना अब किसी को खोने का दुःख
ना किसी को पाने की चाह।

 ******************************

 चलती हुई कहानियों के जवाब तो बहुत है मेरे पास………..
लेकिन खत्म हुए किस्सों की खामोशी ही बेहतर है….

 ******************************

 बड़ी दूर चले आए थे तेरे
झूंठे वादों को सच्चा मान,
मुहब्बत के पंखों से दिखाउंगा
अब तुझे मैं नफरत की उड़ान.

 ******************************

 याद आते है तो ज़रा खो लेते हैं
आँसू आँखो मे उतर आऐ तो ज़रा रो लेते हैं
नींद आँखो मे आती नहीं लेकीन
आप ख्वाबो में आऐं यही सोच कर सो लेते हैं

  ******************************

 जिन्दगी आप बिन उलफत सी लगती है
एक पल की जुदाई मुदत सी लगती है
पहले तो ऐहसास था पर अब यकीन है
हर लम्हा आपकी जरूरत सी लगती है

 ******************************

 हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही
दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही
हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं
पर लोग सोचते हैं की हम दोस्ती निभाते नहीं

******************************

 रहते हो दूर कुछ पल के लिए,
दूर रेह्कर भी करीब हो हर पल के लिए,
कैसे याद ना आए आपको १ पल के लिए,
जब दिल में हो आप हर पल के लिए…

 ******************************

 तेरी याद में आँखे भिगो लू,
उदास रात की तन्हाई में सो लू,
अकेले गम का बोझ अब संभलता नहीं,
तू मिल जाये तो तुझसे लिपट कर रो लू..

 ******************************

 आज कुछ कमी है तेरे बगैर,
ना रंग ना रोशनी है तेरे बगैर,
वक़्त अपनी रफ्तार से चल रहा है,
बस धडकन मेरी थमी है तेरे बगैर…

 ******************************

 तमाम गमो को भूल जाने को जी करता है,
अब एक बार मुस्कुराने को जी करता है,
बहुत जिया यादों के सहारे,
अब आपके पास आने को जी करता है…

Post a Comment

0 Comments