Love Shayari In Hindi For GF/BF, Sad & Romantic Shayari

Basa Hai Aankho Mein Unka Chehra Is Tarah,
Gulabo Mein Khushbu Basi Ho Jis Tarah,
ibadat ki Ho Aur Dua Na Mangi Ho,
Unki Kami khalti Hai mujhe Kuch Is Tarah.

*************************

 Zindagi ki kitaab ke kuch panne hote hai,
Kuch apne, kuch begaane hote hai,
Pyaar se sanwar jaati hai zindagi sabki,
Bas pyar se rishte nibhane hote hai.

 *************************

 Meri Zindagi Ghamon Se Ho Gayi Hai Taar
Khushiyan Bhi Mere Kareeb Nahi Aaati
Zamane Bhar Ka Zeher Pee Liya Humne
Jaan Hai Ki Kambhaqt Nikal Nahi Jaati…

 *************************

 Hum Na Kah Paayenge Kisi Se Bhi,
Aap Humse Hamari Kahani Na Puchhiye,
Hum Na Rok Paayenge Aaankho Se Ashk,
Aap Hamin Se Hamari Jubani Na Puchhiye…



 Main Jeeta Raha Hun Ghut Ghut Ke Yaaro,
Mujhe Ab Jeene Ki Tamanna Nahi Hai,
Yeh Jo Humne Kiya Hai Pyar Tumse,
Yeh Dil Ki Lagi Hai Dilaagi Nahii Hai…

 *************************

 Teri aankho me mujhe rind bana dala,
honth tere mehkana hai paimane se bhara pyala,
peene wale jo bhi dekhe khud behak jaye,
teri aankho ne jane kya jaadu kar dala.

 *************************

 Mein jaa raha hu saaki ab chod ke mehkana,
agar pilane ka shaur nahi to ye tod de paimana,
agar hosh rahe baaki to ye mehkashi bhi kya hai,
ab phir n kabhi tum kisi deewane ko azmana,

 *************************

 Pyaar Mein Jo Dagmagaye Kadam,
Aakar Doob Gaye Hum Paimane Mein,
Jo Thukraye Gaye Har Dar Se,
Aakar Thehar Gaye Maikhane Mein.

 *************************

 Wo dil kaha hai ab jisse pyar kare ham,
Majburiya hi sath diye jaa raha hu main,
Pehle zindagi sharab thi ab sharab zindagi hai,
Koi pila raha hai aur piye ja rahe hum.

 *************************

 Yaaro kaha mein shok se peeta hu,
gham bhulane ke liye hosh se peeta hu,
mat kahiye mujhse sharab chodne ke liye,
sharab peeta hu esliye to jeeta hu.

 *************************

 Dil Pe Jab Se Sharab Ka Pehra Lag Gaya,
Gam Ka khud-b-khud dil ka Rasta Band Ho Gaya,
Zubaan Ne Jab Se Sharab Ko Choo Liya hai,
Uska bewafa ka naam Hamesha Ke Liye Bhool Gaya.

 *************************

 Chahat To Hum Bhi Rakte Hain,
Kisi Ke Dil Me Hum Bhi Dhadakte Hain,
Na Jane Woh Kab Milenge,
Jin Ke Liye Hum Roz Tadapte Hain.

 *************************

 Is Se Pahle Ki Saare Khwab Toot Jaayein ,
Aur Yeh Zindagi Hum Se Rooth Jaaye,
Ek Doosre Ke Pyar Mein Kho Jaayein Iss Kadar ,
Ke Hum Saare Ghamon Ko Bhool Jaayein…

 *************************

 Yun Kahne Ko Sab Hai Duniya Mein,
Par Yeh Tanhai Kyu Saath Rahti Hai,
Main Kuchh Nahi Kahta Kisi Se Kabhi,
Mujhe Duniya Deewana Kyu Kahti Hai

 *************************

 Ehsaan Kiya Usne Mujhe Pyaar Sikha Kar,
Kya Hoti Hai Chahat Ye Mujh Ko Bata Kar,
Judai Hota Hai Pyaar Ka Asli Matlab,
Chod Diya Mera Saath Bas Itna Batakar.

 *************************

 Naam likh ke uss ne mera mitaya hoga,
Soo baar usko meri yaadon ne rulaya hoga,
Uss ke chehre pe mera naam likha hai yaaro,
Uss ne kis kis se ye mera naam chupaya hoga.

 *************************

 Ashqon Se Nahi Bujhte Shole Dard-e-Pyaar ke,
Maut Bhali Aise itne Lambe Intezaar Se,
Marte Hai Roz ham Bina Dedar-e-Yaar Ke,
Tanhai Acche Thi Uss bewafa Ke Pyaar Se.

 *************************

 Hamare ansoo ki pyali hi jaam ho gayi,
Izzat bhi hamari ab to neelam ho gayi,
Kyu use bewafa ki raah takti hai ye nazar,
Ab to nazar bhi gairo ki gulam ho gayi.

 *************************

 Pyaar Karne Waale aashiq kabhi Darte Nahi,
Log Majnu Kehte Hai Par Wo kabhi Chidte Nahi,
Hamare Pyaar Ki Mashuriya Koi to Dekhe,
ab to ham unhe bhi bewafa ke sakte nahi.

  *************************

 तुझे भूलकर भी न भूल पायेगें हम
बस यही एक वादा निभा पायेगें हम
मिटा देंगे खुद को भी जहाँ से लेकिन
तेरा नाम दिल से न मिटा पायेगें हम

 *************************

 तपिश से बच के घटाओं में बैठ जाते हैं
गए हुए कि सदाओं में बैठ जाते हैं
हम इर्द-गिर्द के मौसम से घबरायें
तेरे ख्यालों की छाओं में बैठ जाते हैं।

 *************************

 संगमरमर के महल में तेरी ही तस्वीर सजाऊंगा
मेरे इस दिल में ऐ प्यार तेरे ही ख्वाब सजाऊंगा
यूँ एक बार आजमा के देख तेरे दिल में बस जाऊंगा
मैं तो प्यार का हूँ प्यासा जो तेरे आगोश में मर जाऊॅंगा।

 *************************

 तेरे प्यार का सिला हर हाल में देंगे
खुदा भी मांगे ये दिल तो टाल देंगे
अगर दिल ने कहा तुम बेवफ़ा हो
तो इस दिल को भी सीने से निकाल देंगे।

 *************************

 ને પારખવો હોય તો ગાઢ અંધકારમાં પારખજે,
દિવસના અજવાળામાં તો કાચના ટુકડા પણ ચમકે.

 *************************

 છબી જેવી હોય તેવી સમાવી લે તે ફ્રેમ,
વ્યક્તિ જેવી હોય તેવી સંભાળી લે તે પ્રેમ.

 *************************

 પ્રેમ ક્યારે થાય છે તેની આપણને ખબર હોતી નથી,
પણ કોની સાથે કરવો તેની આપણને ખબર હોવી જ જોઈએ.

 *************************

 એટલું તો ગણિત મનેય આવડે છે.
તારી ને મારી બાદબાકી ભલે શૂન્ય થતી.
પણ, સરવાળો તો એક જ થાય છે.

 *************************

 तेरी आवाज़ की शहनाइयों से प्यार करते हैं;
तस्सवुर मैं तेरे तन्हाइयों से प्यार करते हैं;
जो मेरे नाम से तेरे नाम को जोड़े ज़माने वाले;
उन चर्चों से अब हम प्यार करते हैं।

 *************************

 कोई तीर जैसे जिगर के पार हुआ है;
जाने क्यों दिल इतना बेक़रार हुआ है;
पहले कभी देखा न मैंने तुम्हें;
फिर भी क्यों ऐ अजनबी इस कदर तुमसे प्यार हुआ है।

 *************************

 आपके बिन टूटकर बिखर जायेंगे;
मिल जायेंगे आप तो गुलशन की तरह हम खिल जायेंगे;
अगर न मिले आप तो जीते जी मर जायेंगे;
पा लिया जो आपको तो मर कर भी जी जायेंगे।

 *************************

 ये चांदनी रात बड़ी देर के बाद आयी;
ये हसीं मुलाक़ात बड़ी देर के बाद आयी;
आज आये हैं वो मिलने को बड़ी देर के बाद;
आज की ये रात बड़ी देर के बाद आयी।

 *************************

 न तुम कभी भूलना हमें,
न हम कभी, तुम्हें भुला पाएंगे !
बहुत अच्छा लगेगा
ज़िन्दगी का ये सफ़र,
वहां से तुम याद करना
और यहाँ से हम मुस्कुराएंगे.!! 

 *************************

 सिर्फ इतना ही कहा है कि प्यार है तुमसे,
जज़्बातों की कोई नुमाईश नहीं की,
प्यार के बदले सिर्फ प्यार माँगा है,
इससे ज्यादा तो कभी कोई गुज़ारिश नहीं की !!! 

 *************************

 Kabhi Kabhi Mere Dil Ko Ye Ahsas Hota Hai
Kyun Tera Khawab Meri Ankhon Ke Paas Hota Hai
Dil Hi Is Khawab Ko Bunta Hai
Dil Hi Iski Awaj Sunta Hai
Phir Kyun Saja Ankhon Ko Milti Hai
Kyun Ye Ankhein Raat Bhar Jalti Hai
Shayad Isme Bhi Koi Raaz Hota Hai
Kyun Tera Khawab Ankhon Ke Paas Hota Hai 

 *************************

 होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद
लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में
होती है...!!! 

 *************************

 हम ने देखी है उन आँखों की महकती खुशबू
हाथ से छूके इसे रिश्तों का इल्जाम ना दो
सिर्फ एहसास है ये, रूह से महसूस करो
प्यार को प्यार ही रहने दो, कोई नाम ना दो..!! 

 *************************

 Paya hai jitna pyaar aapse,
Usse bhi jyada pane ko ji chahta hai.
Na jane kaun si khubi hai aapme,
Dosti nibhane ko ji chahta hai

 *************************

 Humse dosti nibhate rehna,
har mod par aazmate rehna,
Lekin door kabhi mat hona,
Chahe sari umra bhar satate rehna.

 *************************

 जब तलक है ये जिंदगी, दिल में मेरी वफा है
तेरी उम्मीद में जिए जाने का यही फलसफा है
माहताब निकलने में जाने कितनी देर है बाकी
गम की अंधेरी रात भी अब लगती बेवफा है
तेरी हसरत लेकर हम मरते रहे जो उम्रभर
यह जानकर ऐ दिलबर, तू हो गई क्यों खफा है
एक समंदर गुम हुआ अब गर्दिश की रेत में
साहिल पे है लिखा कि मुहब्बत की ये जफ़ा है

 *************************


 सफर वहीं तक है जहां तक तुम हो नजर वहीं तक है जहां तक तुम हो
हजारों फूल देखे इस गुलशन में मगर खुशबू वहीं तक है जहां तक तुम हो
चांद और सूरज भी आके यही कहते हैं रोशनी वहीं तक है जहां तक तुम हो
प्यार के अहसास पर मर मिटा है दिल जिंदगी वहीं तक है जहां तक तुम हो

 *************************

 जब कभी गम की रात आएगी मेरी जां तेरी याद आएगी
खुल ही जाएंगे लबों के ताले तेरी चाबी जो हाथ आएगी
दिल का शीशा इंतजार में है कोई पत्थर कब टकराएगी
मेरी आंखों से दूर मत जाना फिर ये बरसात हो जाएगी

 *************************


 मैंने देखा तो डर गए सनम उनका देखना देख लें न हम
जुबां से भला कैसे काम लें जब दिल में है दर्द और शरम
उनके लब जरा थरथरा गए अपनी आंखों से चूम लें न हम
पास आके वो यूं गुजर गए जैसे गैर वो, जैसे गैर हम

 *************************

 जिनको तन्हाई का सहारा है उनके सीने में दिल हमारा है
चुन लिया हमने गम के कांटे मेरे आंगन का फूल तुम्हारा है
मेरी आंखों में झांककर देखो यहां सागर का दो किनारा है
ये हाथों की लकीरें नहीं हैं आंसुओं की सूखी धारा है

 *************************

 जो भी होठों से न कह पाए दास्तां आंखों में रह जाए
वो चली जाती है दूर सही यादें दामन में मेरे रह जाए
दिल में पानी लिए चलते हैं कोई प्यासा कहीं मिल जाए
जो भी पहचाने मिले राहों में हर कोई हमपे अब हंस जाए

 *************************

 चांद ने मुझसे मुहब्बत की तो सब तारे हो गए मेरे दुश्मन
मुझको कोई भी क्या देगा देख चुके हैं सबका दामन
तुम अपनी नजरों से बताना फूल पे आंसू हैं या शबनम
दिल में तेरे दर्द है फिर भी कैसे हो गई तेरी वफा कम

 *************************

 चाहने वाले की जानता है अजमत कोई-कोई
दिल से करता है आज मोहब्बत कोई-कोई;
मोहब्बत में चाहते हैं सब अशूक यार
दीवाने की माफिक चाहे तुरबत कोई-कोई।

 *************************

 कोई शायर तो कोई फकीर बन जाये;
आपको जो देखे वो खुद तस्वीर बन जाये;
ना फूलों की ज़रूरत ना कलियों की;
जहाँ आप पैर रख दो वहीं कश्मीर बन जाये।

 *************************

 कोई तीर जैसे जिगर के पार हुआ है;
जाने क्यों दिल इतना बेक़रार हुआ है;
पहले कभी देखा न मैंने तुम्हें;
फिर भी क्यों ऐ अजनबी इस कदर तुमसे प्यार हुआ है।

 *************************

 दिल बेजुबां है वरना हम बोल भी देते
हर राज़ अपने दिल का हम खोल भी देते
तूम हमपे तरस खाके देती हो शराब साकी
जो दिलबर तरस खाए तो पीना छोड़ भी देते
ये इश्क तो इकरार न इंकार है ऐ दोस्त
कभी आईना जो बोले तो उसे तोड़ भी देते
फिर रात ढ़ल रही है आशियां में तेरे राज़
उनकी याद ना आए तो जीना छोड़ भी देते

 *************************

 मुहब्बत की लाख दुहाई देने वाले,
देखे हैं कई झूठी गवाही देने वाले;
मजबूरी थी इसलिए कर न सके वफा,
बस और क्या कहेंगे सफाई देने वाले ??

 *************************

 In hawaon me apni khushboo chod gaya koi,
Yun hame chu ke chala gaya koi,
Tanhai aur andhere me khush the hum,
Phir intezar ki wajah de gaya koi.

 *************************

 Tumhe chahte hai beinteha par chahna nhi aata ......!!!
Ye kaisi mohabbat hai k hamein kehna nhi aata.....!!!
Zindgi mein aa jao hamari zindgi ban ker ke.....!!!
Tumhre bin hamein zinda rehna nhi aata.......!!!
Har pal tumhe bas tumhe duaon me mangte hai........!!!
Kya kare k TUMHARE siwa kuch mangna nhi aat.....!!!
 Dehleez pe mere dil ki
Jo rakhe hain tune kadam
Tere naam pe meri zindagi
Likh di mere humdum
Haan seekha maine jeena jeena kaise jeena
Haan seekha maine jeena mere humdum
Na seekha kabhi jeena jeena kaise jeena
Na seekha jeena tere bina humdum

 *************************

 हर रिश्ते को अजमाया है हमने
कुछ पाया पर बहुत गवाया है हमने
हर उस शख्स ने रुलाया है
जिसे भी इस दिल में बसाया है हमने








Post a Comment

0 Comments