latest 2 line heart touching shayari sms in hindi

अपनी रूह तेरे जिस्म में छोड़ आये,
गले मिलना तो एक बहाना था...

*********************

  क्या जादु किया है तुमने मेरे दिल पे!
अब तो इक पल भी तुम्हारे बिना रहा नही जाता!

 *********************

  उसने पूछा की क्या पसंद है तुम्हे?
और मैं बहुत देर तक उसे देखता रहा.....

 *********************

 अपनी इन नशीली निगाहों को जरा झुका
दी जीए मोहतर्मा मेरे मजहब मे नशा हराम है...

 *********************

 बड़ी ख़ामोशी से गुज़र जाते हैं
 हम एक दूसरे के करीब से..
फिर भी दिलों का शोर सुनाई दे ही जाता है…!!



 ख़ामोशी में चाहे जितना बेगाना-पन हो..
लेकिन इक आहट जानी-पहचानी होती है.!!

 *********************

 कभी-कभी यूं ही चले आया करो दिल की दहलीज पर,,,,
अच्छा लगता है, यूँ तन्हाइयों में तुम्हारा दस्तक देना...!!!

 *********************

 मेरी शायरी में #सनम. तेरी कहानी है
जिसके आधे हिस्से मे तेरा 
ज़िक्र आधे में मेरी दीवानगी है.

 *********************

 यू तो राज खुल ही जायेगा हमारी मुहब्बत का एक दिन ......
हम जो हर महफिल में तुम्हारे नाम से शायरी का आगाज करते हैं...!!

 *********************

  बहुत ही ख़ूबसूरात है तेरे अहसास की ख़ुशबू ,
जितना भी सोचते है उतना ही महक जाते है..!!

 *********************

 *वो एक खत जो तुमने कभी लिखा ही नहीं*,
*मैं रोज़ बैठ के उसका जवाब लिखता हूँ!*

 *********************

 ईश्क का रंग और भी गुलज़ार हो जाता है,
जब दो शायरो को एक दूसरे से प्यार हो जाता है..

 *********************

 तुम थक तो नहीं जाओगे इन्तेजार में तब तक,
मैं मांग के आऊं खुदा से तुम को जब तक..

 *********************

 मुझको भुल जाने की नई -नई तरकिबे निकाल रही है वो,
सुना है आजकल फेसबूक पर महफिले जमा रही है वो !!

********************* 

 बड़ी ही खूबसूरत शाम हुआ करती थी वो तेरे साथ की ….. !!
अब तक खुशबू नही गई, मेरी कलाई से तेरे हाथ की… !!

 *********************

*मेरे जिस्म पर मेरी रूह का काबू हो तुम *
*कुछ नहीं बस, चलती हुई नब्ज़ का जादू हो तुम * 

*********************

 लफ़्ज़ों में ज़ाहिर करूँ तो मेरी ख़्वाहिश की तोहीन होगी !!
तू मेरी रूह में उतर के समझ ले ,, मेरी हसरतों को .....!!

 *********************

 तेरे इंतजार में कब से उदास बैठे हैं, तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे हैं, 
तू एक नज़र हम को देख ले बस, इस आस में कब से बेकरार बैठे हैं..|

 *********************

 "धडकनें इस दिल की कभी बंद नहीं होगी ...!!
बस तुम इस दिल से निकल कर कहीं मत जाना..

 *********************

 इक तो कातिल सर्दी और तेरी यादों की धुधं...
बेहाल कर रखा है तेरे इश्क के मौसमों ने ...

 *********************

 वो रोज़ देखती है उगते हुए सूरज को,,
काश मैं भी किसी सुबह का मंज़र होता,,,!

 *********************

 किसीने पुछा मुझसे क्या है तेरी जिन्दगी का खजाना,
मूझे अचानक याद आ गया तेरा वो हलके से मुस्कुराना !!

 *********************

 नहीं लिखते हथेलियों पर अब तुम्हारा नाम...
कारोबार में सबसे हाथ मिलाना पड़ता है .....

 *********************

 मत तोल मोहब्बत मेरी अपनी दिल्लगी से….
चाहत देखकर मेरी अक्सर तराज़ू टूट जाते ह

 *********************

 अच्छा लगता हैं तेरा नाम मेरे नाम के साथ,
जैसे कोई खूबसूरत सुबह जुड़ी हो, किसी हसीन शाम के साथ !

  *********************

 काश बचपन में ही इश्क ऐ बुखार के टीके लग गऐ होते,
मर्ज ना तुमको होता .....और हम भी बच गए होते..!!

 *********************

 आँखें थक गई है आसमान को देखते देखते....
वो तारा नहीं टूटता जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ......

 *********************

 याद करने की हमने हद कर दी लेकिन,
भूल जाने में तुम भी कमाल करते हो.!!

 *********************

 लोग चेहरे पे चेहरे बदलते रहते है लिबासो की तरह ।
एक हम है कि उनको बसाए है आँखो में काजल कि तरह ॥

 *********************

 सूरत जो तेरी देखि अपने मन के झरोखे से
दिल में एक ज्वार उठी तुझे पाने की जो रुके ना रोके से..!

 *********************

 1. अब न कुछ बचा है उनके बारेमें न मेरे बारेमें
किस्मतसे कोइ मिल गया तो छेड देंगे नइ कहानी

2. जाने को उठकर जाते हैं लोग, हर रोज मेरी महफिल से,
पर तू इस अन्दाज से गया, कि अब तक गया नहीं इस दिल से..!!

 *********************

 आँसूं तब नहीं आते जब आप किसी को खो देते हो,
आँसूं तब आते है जब खुद को खोकर भी किसी को पा नहीं सकते !! 

 *********************

 यूँ तो अकेला ही अक़सर, गिर के सम्भल सकता हूँ मैं
तुम जो पकड़ लो हाथ मेरा, दुनिया बदल सकता हूँ मैं

 *********************

 खामोश हूँ मै तो क्या, तू भी तो आवाज़ दे कभी,
मै भी तो समझूँ कि, तू कितनी बैचेन है मेरे लिए.!!?

 *********************

 हम कुछ ऐसे तेरे दीदार में खो जाते हैं
जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं

 *********************

 तुझसे मिलना,तुझसे लड़ना, तुझसे प्यार करना....
वो इश्क़ महोबत की मुलाकतें बहुत याद आती हैं....

 *********************

 होता अगर मुमकिन, तुझे साँस बना कर रखते सीने मे,
तू रुक जाये तो मैं नही, मैं मर जाऊ तो तू नही.!!

 *********************

 हमारी मोहब्बत जरूर अधूरी रह गयी होगी पिछले जन्म मे,
वरना इस जन्म की तेरी ख़ामोशी, मुझे इतना बेचैन न करती.!!

 *********************

 ना लफ़्ज़ों का लहू निकलता है ना किताबें बोल पाती है,
मेरे दर्द के दो ही गवाह थे और दोनों ही बेजुबां निकले !! 

 *********************

 बेशक तू बदल ले अपने आपको लेकिन ये याद रखना..
तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता…

 *********************

 कौन कहता है कि मुझसे बिछड़कर वो खुश़ है..
जरा उसके सामने हमारा नाम तो लेकर देख़ो

 *********************

 मैं भी बहुत अजीब हूँ इतना अजीब हूँ कि बस
ख़ुद को तबाह कर लिया और मलाल भी नहीं जौन एलिया

 *********************

 मेरी वफा की गवाही तो सितारे भी देते हैं ...!!
पर मेरे चाँद को मुझ पर एतबार ना आया ...!!

 *********************

 मेरे इश्क से मिली है तेरे वजूद को ये शौहरत....
वरना तेरा ज़िक्र ही कहाँ था मेरी दास्ताँ से पहले....!!!

 *********************

 हर किसी के नसीब में कहाँ लीखी है चाहतें
कुछ लोग दुनिया में आ है सिफँ तन्हाइयों के लिए

Post a Comment

0 Comments