Hindi Shayari on Friendship (Dosti) Forever for Facebook

हर एक मोड पे हम गिरते थे किसी ने भी ना हमको उठाया था,
तब तूने ही सनम एक उमीद का दिया जलाया था,
अपने हर एक गम को छुपाकर मुझे जीना सिखाया था

****************************


 क्युँ इक पल भी तुम बिन रहा नही जाता,
तुम्हारा एक दर्द भी मुझसे सहा नही जाता,
क्युँ इतना प्यार दिया है तुमने,
की तुम बिन मुझ से जिया नही जाता..।


****************************


 क्यों इतना गमो से वास्ता रखने लगा हू, खुद से ही क्यों जुदा होने लगा हुँ।
उस अनजान कि खातिर, जान पहचान वालो से, रकीबो सा रिश्ता रखने लगा हुँ।
इतना जिद्दी तो वो खुदा भी नहीं जिसने बनाया है
उसे, क्यों उसके लिए खुदा से रूठ रहा हुँ।
बहुत दूर है वो समझता है दिल मेरा


****************************


 अगर जो दिल की सुनो तो हार जाओगे..
हम जैसा प्यार फिर कहाँ से पाओगे.. जान देने की बात को हर कोई करता है..
जिन्दगी बनाने वाला कहाँ से लाओगे.. जो इक नज़र देखोगे हमें..
हर तरफ हमको ही पाओगे..
यकीं अपनी चाहत का इतना है मुझे..
मेरी आँखो में झाँकोगे और लौट आओगे.. मेरी यादों के समंदर में जो डूब गऐ तुम..
कहीं जाना भी चाहोगे तो जा नहीं पाओगे




 दस्तूर-ऐ-वफा हम इस तरहा निभाऐंगे...
तुम रोज खफा होना, हम रोज मनाऐंगे..
तेरी दोस्ती का सिला हम इस तरहा चुकाऐंगे..
शादी हो तेरी और दुल्हन हम ले जाऐंगे..


****************************


 कैसे बयां करू अलफाज़ नहीं हैं,
दर्द का मेरे तुझे ऐहसास नही है,
पुछते हो मुझसे क्या दर्द है.?
मुझे दर्द ये ही की तु मेरे पास नही है


****************************


 “Mangi khushiyan to zindagi de di.
Andhero ne bhi humein roshni de di..
Khuda se pucha mere liye kya haseen tohfa hai.
Jawab mein usne aapki dosti de di”


****************************


 लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है ,
लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है,
लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,
हम दोस्तो मे दुनिया देखते है.


****************************


 दिल टूटना सजा है महोब्बत की,
दिल जोडना अदा है दोस्ती की,
माँगे जो कुर्बानी वो है महोब्बत,
जो बिन माँगे हो जाऐ कुर्बान…
…वो है दोस्ती हमारी…..


****************************


  जिस के पास कुछ भी नही है , उस पर दुनिया हसती है ..
जिस के पास सबकुछ है , उसपर दुनिया जलती है ..
मेरे पास आप जैसे अनमोल दोस्त है , जिनके लिए दुनिया तरसती है ......


****************************


 “कोई ऐसा दोस्‍त बनाया जावे
जिसके आंसू को पलकों में छुपाया जाये
रहे उसका मेरा रिश्‍ता कुछ ऐसा
कि अगर वो उदास हो तो हमसे भी ना मुस्‍कुराया जावें ”


****************************


 नहीं बन जाता कोई अपना
यूँ ही दिल लगाने से,
करनी पड़ती है दुआ,
सच्ता दोस्त पाने के लिए रब से,
रखना संभालकर ये याराना अपना,
टूट ना जाए ये किसी के बहकाने से


****************************


 दोस्ती ज़िन्दगी का एक खूबसूरत रिश्ता है जिसे मिल जाये.....
वो तन्हाई में भी खुश, जिसे न मिले वो भीड़ में भी अकेला है !!


****************************


 Ache dost "haath" aur "ankh" ki tarha hote hain,
Jab "hath" ko takleef hoti hai to "Ankh" roti hai,
Aur jub "ANKH" roti hai to "Hath" ansu pochtay hain.


****************************


 Dosti naam hy sukh
Dukh ki kahani ka
Dosti raaz hy sada
Muskurane ka
Ye pal do pal ki
Pehchaan nahi
Dosti tou bandhan hay
Umar bhar nibhane ka


****************************


 हस्तियां मिट गयी नाम कमाने में,
उमर बीत गयी खुशियां पाने में,
एक पल में दूर ना हो जाना हमसे,
हमें तो सालों लगे हैं,
आप जैसा दोस्त पाने में,.


****************************


 सपने टूट जाते है, अपने रूठ जाते है,
ज़िंदगी में अक्सर ऐसे मोड़ आते है,
मगर जब साथ हो तुम जैसे दोस्तो का तो,
राहो के काँटे भी फूल बन जाते है। ...


****************************


 Aap Nhi To Jindagi Me Kya Rah Jayega,
Dur Tk Tanhaiyon Ka Silsila Rah Jayega,
Har Kadam Par Saath Chalna Mere Dost,
Varna Aapka Ye Dost Akelaa Rah Jayega....


****************************


 जहाँ यार याद न आए वो तन्हाई किस काम की,
बिगड़े रिश्ते न बने तो खुदाई किस काम की,
बेशक अपनी मंज़िल तक जाना है,
पर जहाँ से अपना दोस्त ना दिखे वो ऊंचाई किस काम की .


****************************


 दुनियादारी में हम थोड़े कच्चे हैं पर दोस्ती के
मामले में सच्चे है...
हमारी सच्चाई बस इस बात
पर कायम है,,,,,,
की हमारे दोस्त हमसे भी अच्छे है...!!!


****************************


 दोस्ती हर चहरे की मीठी मुस्कान होती है,
दोस्ती ही सुख दुख की पहचान होती है,
रूठ भी गऐ हम तो दिल पर मत लेना,
क्योकि दोस्ती जरा सी नादान होती है...!!!


****************************


 ये दोस्ती चिराग है जलाऐ रखना
ये दोस्ती खुशबु है महकाऐ रखना,
हम रहें हमेशां आपके दिल में,
हमेशां इतनी जगह बनाऐ रखना


****************************


 आसमां सें उँचा कोइ नही
सागर से गहरा कोइ नही
वैसे तो मुझको सभी दोस्त
प्यार है पर आपसे प्यार कोइ नही


****************************


 सितारों की पहचान चाँद से होती है,
फूलों की पहचान उसकी खुशबू से होती है,
पर ऐ दोस्त , अपनी पहचान तुम्हारी दोस्ती से होती है.


****************************


 मर्ज़ पुराना था मेरा, दवाओं का असर न हुआ..
यार की मुस्कराहट ने मगर तबियत संभाल दी..


****************************


 आसमान से तोड़ कर 'तारा' दिया है|
आलम ए तन्हाई में एक शरारा दिया है|
मेरी 'किस्मत' भी 'नाज़' करती है मुझे पे|
खुदा ने 'दोस्त' ही इतना प्यारा दिया है...!!


****************************


 ऐ दोस्त मै तेरी खुशीयां बाटने शायद न आ सकुं,
हा ये वादा रहा जब गम आऐ तो खबर कर देना, सारे के सारे ले जाउंगा..


****************************


 जहाँ यार याद न आए वो तन्हाई किस काम की,
बिगड़े रिश्ते न बने तो खुदाई किस काम की,
बेशक अपनी मंज़िल तक जाना है,
पर जहाँ से अपना दोस्त ना दिखे वो ऊंचाई किस काम की .


****************************


 इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है,
इश्क मेरी रुह, तो दोस्ती मेरा ईमान है,
इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी,
पर दोस्ती पर, मेरा इश्क भी कुर्बान है


****************************


 Nadiyon ki dosti sagar se hai,
Badal ki dosti ambar se hai,
Chand ki dosti sitaron se hai,
Phoolon ki dosti khushbu se hai,
Parvat ki dosti jharno se hai,
Bagon ki dosti kaliyon se hai,
Umangon ki dosti dil se hai,
Humari dosti sirf aap se hai.


****************************


 कभी झगड़ा, कभी मस्ती कभी आंसू, कभी हंसी छोटा सा पल, छोटी छोटी ख़ुशी
एक प्यार की कश्ती और ढेर सारी मस्ती, बस इसी का नाम तो है दोस्ती....!!


****************************


 कुछ रीश्ते ‘रब’ बनाता हे
कुछ रीश्ते ‘लोग’ बनाते हे,
पर कुछ् लोग बीना कीसी रीश्ते के रीश्ते नीभाते हे,
शायद वही ‘दोस्त’ कहेलाते हे|..


****************************


 जितनी इज्जत# खुदा कि है….
उतनी इज्जतमेरे # दिलमे मेरे दोस्तो कि है…
फर्क# सिर्फइतना है कि...खुदा # एककुदरत है …
और मेरे दोस्त मेरे # लियेजन्नत है ..


****************************


 करनी है खुदा से गुजारिश तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा या फिर कभी जिंदगी न मिले !


****************************


 "क्यूँ मुश्किलों में साथ देते हैं "दोस्त"
"क्यूँ गम को बाँट लेते हैं "दोस्त"
"न रिश्ता खून का न रिवाज से बंधा है!
"फिर भी ज़िन्दगी भर साथ देते हैं "दोस्त"


****************************


 "काश फिर मिलने की वजह मिल जाए!
"साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए!
"चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें!
"क्या पता ख़्वाबों में गुज़रा हुआ कल मिल जाए!


****************************


 "कोई दौलत पर नाज़ करते हैं,
कोई शोहरत पर नाज़ करते हैं,
जिसके साथ आप जैसा दोस्त हो,
वो अपनी किस्मत पर नाज़ करते हैं."


****************************


 दोस्ती इन्सान की ज़रुरत है!
दिलों पर दोस्ती की हुकुमत है!
आपके प्यार की वजह से जिंदा हूँ!
वरना खुदा को भी हमारी ज़रुरत है!.


****************************


दिन बीत जाते है सुहानी यादे बनकर ,
बाते रह जाती है कहानी बनकर ,
पर दोस्त तो हमेशा दिल के करीब रहेंगे,
कभी मुस्कान तो कभी आँखों का पानी बनकर.......


****************************


 आज रब से मुलाकात की;
थोड़ी सी आपके बारे में बात की;
मैंने कहा क्या दोस्त है;
क्या किस्मत पाई है;
रब ने कहा संभाल के रखना;
मेरी पसंद है, जो तेरे हिस्से में आई है,


****************************



 दाेस्ती...!
ना कभी इम्तिहान लेती है, ना कभी इम्तिहान देती है ।
दाेस्ती ताे वाे है -
जाे बारिश में भीगे चेहरे पर भी, आँसुओं काे पहेचान लेती है ।


****************************


 दोस्ती चीज नहीं जताने की,
हमें आदत नहीं किसी को भुलाने की,
हम इसलिये आपसे कम बात करते हैं,
की नजर लग जाती है रिश्तों को जमाने की."


****************************


 कभी मिल सको तो इन पंछियो की तरह
बेवजह मिलना ए दोस्तों...
वजह से मिलने वाले तो न जाने हर रोज़ कितने मिलते
है...


****************************


 दोस्तों तुम यादों में हो, वादों में हो, संवादों में हो
गीतों में हो, ग़ज़लों में हो, ख़्वाबों में हो
चुप्पी में हो, खामोशी में हो, तन्हाई में हो
महफिल में हो, कहकहो में हो और बेवफाई में भी हो


****************************


 हाल-ऐ-बिस्मिल अब न पूछ 'दोस्त',
लुफ्त-ऐ-कत्ल है, नाम कातिल का न पूछ..
.....
बे-जान जिस्मको अब क्या संवारू 'दोस्त',
लरजते होंठो पे नाम तेरा आए, यूं न पूछ...


****************************


 करनी है खुदा से गुजारिश तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा या फिर कभी जिंदगी न मिले !!


****************************


 दोस्ती करो तो हमेशा मुस्कुरा के,
किसी को धोखा ना दो अपना बना के,
कर लो याद जब तक हम जिन्दा हैं,
फिर ना कहना चले गये दिल में यादे बसा के..!!!


****************************


 इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है,
इश्क मेरी रुह, तो दोस्ती मेरा ईमान है,
इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी,
पर दोस्ती पर, मेरा इश्क भी कुर्बान है.!!!


****************************


 रिश्तों का विश्वास टूट न जाये,
दोस्ती का साथ छूट न जाये,
ए खुदा गलती करने से पहले,
संभाल लेना,
की मेरी गलती से मेरा दोस्त रूठ न जाये !

Post a Comment

0 Comments