good night love sms in hindi for girlfriend

साथ में गुजारी हर वो, शाम भूल गए,
मोहब्बत वाली बातें, तमाम भूल गए,
कायनात में कायम,बहुत
कम ही रहते हैं अपने वादे पे,
फिर भी, गिला यही है
कि तुम मेरा, नाम भूल गए.

******************************

 आज उन्हे फुर्सत नही हमसे बात करने की,
ये जिन्दगी गुजर गई उनकी फरियाद करके,
वो आए हमारी मौत पे,
तो कह देना अभी सोया है आपको याद करके.

****************************** 

 लोग मोहब्बत को खुदा का नाम देते है,
कोई करता है तो इल्जाम देते है।
कहते है पत्थर दिल रोया नही करते,
और पत्थर के रोने को झरने का नाम देते है। 

 ******************************

 दिल से खेलना हमे आता नहीं,
इसलिये इश्क की बाजी हम हार गए,
शायद मेरी जिन्दगी से बहुत प्यार था उन्हें,
इसलिये मुझे जिंदा ही मार गए.



 मत इंतज़ार कराओ हमे इतना,
कि वक़्त के फैसले पर अफ़सोस हो जाये,
क्या पता कल तुम लौटकर आओ,
और हम खामोश हो जाएँ.

 ******************************

 रास्ता ऐसा भी दुशवार न था,
बस उसको हमारी चाहत पे ऐतबार न था,
वो चल न सकी हमारे साथ वरना,
हमे तो जान देने से भी इनकार न था.

 ******************************

 हम भूल जाये ऐसी दिल की हसरत कहाँ,
वो याद करे हमे इतनी उसे फुर्सत कहाँ,
जिनके चारो तरफ हो अपनों का साथ,
उन्हें हमारी जरुरत कहाँ.

 ******************************

 जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।
वो याद में किसी के खोया जरूर होगा।
दिवार के सहारे, घुटनों में सिर छिपाकर ,
वो ख्याल में किसी के खोया जरुर होगा।
आँखों में आंसुओ के, आने के बाद उसने,
धीरे से उसको उसने, पोंछा जरुर होगा।
जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा। 

 ******************************

 पढ़ने वालों की कमी हो गयी है आज इस ज़माने में,
नहीं तो गिरता हुआ एक-एक आँसू पूरी किताब है!!
सो जा ऐ दिल कि अब धुन्ध बहुत है तेरे शहर में,
अपने दिखते नहीं और जो दिखते है वो अपने नहीं…।

 ******************************

 कोई और गुनाह करवा दे मुझ से मेरे खुदा,
मोहब्बत करना अब मेरे बस की बात नहीं ।

 ******************************

 हम तो इन्तेजार करते करते
अब मर जायेंगे...
कोइ तो आये एेसा जिन्दगी में
जो बेवफा ना हो

 ******************************

 दिल की उम्मीदों का हौसला तो देखो...
इन्तजार उसका..
जिसको एहसास तक नहीं

 ******************************

 कुछ बातों के मतलब हैं
और कुछ मतलब की बातें, . . .
जब से फर्क समझा,
जिंदगी आसान हो गई!!

 ******************************

 दुरिया खलती है मुझे....
इतने करीब रिश्तों में...!!
कि आ भी जाओ मेरे पास. ..
यु ना मोहब्बत दो मुझे किश्तो मे..!!

 ******************************

 बस यही आदत उसकी मुझे
अच्छी लगाती है जब .युही
नज़रें झुका कर वो कहती है
तुम्हे कोई हक नही .

 ******************************

 तेरी मज़बूरी का अंदाजा है मुझे !
पर मेरी बेबसी पर मेरा जोर नही !!

 ******************************

 अगर लिखना चाहे कुछ उन पर!
आखो पर ही दुनिया के कलम खत्म हो जाये !!

 ******************************

 मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं .
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है

 ******************************

 जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है .
रात होती है तो आँखों में उतर आता है ...!

 ******************************

 इतनी हिम्मत तो नहीं किसी
को हाल –ये –दिल सुना सके ,
बस जिसके लिये उदास है
बो महसूस करे तो काफी है 

 ******************************

 फासले ऐसे भी होगे ये कभी सोचा न था !
सामने बैठे थे मेरे पर वो मेरा न था

 ******************************

 उंगलिया आज भी इस सोच में गुम है
उसने कैसे नए हाथ को थामा होगा...

 ******************************

 मजबूरियॉ ओढ के निकलता हूं घर से आज कल..
वरना शौक तो आज भी है बारिशों में भीगनें का.!!

 ******************************

 बस एक बार निकाल दो इस इश्क से ऐ खुदा ,
फिर जब तक जियेंगे कोई खता न करेंगे ...

****************************** 

 मायूस ना हो, लबों को भी तकलीफ ना दे...
गर है प्यार तुझे, तो आँखों से बयां कर दे...

****************************** 

 सच कहू तो में आज भी इस सोच में गुम हू
में तुम्हे जीत तो सकता था जाने हरा क्यों ?

 ******************************

 मेरी तकमील में शामिल है तेरा हिसा भी ,
में अगर तुझ से ना मिलता तो अधूर ही रहता 

 ******************************

 हाल यह है के तेरी याद में गम हूँ !!!
सब को मेरी और मझे को तेरी पड़ी रहती है

****************************** 

 ना आवाज हुई, ना तमाशा हुआ….
बड़ी ख़ामोशी से टूट गया,
एक “भरोसा” जो तुझ पर था

 ******************************

 दर्द सहते सहते इंसान सिर्फ
हसना नहीं रोना भी छोड़ देता है 

 ******************************

 जहाँ भी देखूँ अँधेरा ही अँधेरा है,
तेरे सिवा कौन यहाँ मेरा है 

 ******************************

 महसुस हो रही है सरगोशियां धडकनों की. ..
लगता है एक पगला मेरे शहर आ रहा है!!

 ******************************

 इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जबसितारों से पनाह ली!
नींद आई तो तेरी यादने सोने न दिया!

 ******************************

 भींग गई पलके फ़िर ये सोचकर...
तु मिलने आ तो रहा हैं,,,,
मगर फ़िर से बिछडने के लिये!

 ******************************

 काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता ......,
बात करना न सही , तुझे देखना तो नसीब होता

 ******************************

 इस से अच्छा हम चाँद से मुहब्बत कर लेते...
लाख दूर सही लेकिन दिखाई तो देता है.

 ******************************

 कहीं तुम भी न बन जाना
किरदार किसी किताब का
लोग बड़े शौक से पड़ते है
कहानिया बेवफाओं की

 ******************************

 हमें आदत नही इंतज़ार की ,पर क्या करें
सुना है तेरे दर पर लम्बी कतारें है

 ******************************

 तुझे क्या देखा, खुद को ही
भूल गए हम इस क़दर
कि अपने ही घर जो आये
तो औरों से पता पूछ पूछकर

 ******************************

 तुमसे किसने कह दिया कि
मुहब्बत की बाजी हार गएहम?
अभी तो दाँव मे चलने के
लिए मेरी जान बाकी है !

 ******************************

 इतना आसान नहीं है जीवन
का हर किरदार निभा पाना,
इंसान को बिखरना पड़ता है
रिश्तों को समेटने के लिए...

 ******************************

 अजब सी खामोशी हैं मेरे
अंदर तेरे जाने के बाद....
मै चीखती हु, चिल्लाती हु
मगर शोर नहीं होता!!

 ******************************

 मत पूछो कितनी मोहब्बत है मुझे उनसे !
बारिश की बूँद भी अगर उन्हें छू ले.
तो दिल में आग लग जाती है .....

 ******************************

 मैं जहर तो पी लु शौक से तेरी खातिर..
पर शर्त ये है कि तुम सामने
बैठ कर सासो को टूटता देखो

 ******************************

 चाहत देस से आनेवाले ये
तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं,
यार के मौसम कैसे हैं ...

****************************** 

 दरिया ए अश्क अब मुनासिब नहीं आने को,
जो मिल ना पाये बाकी रहेगा वहीं बहाने को।

 ******************************

 पास आओगे तो सब अपने पसन्द का पाओगे,
तेरे ख्यालो में रहकर तुझमें में ही ढ़ल गया मै।

 ******************************

 दिल शोर करें फिर भी उसकी मानते कहाँ हो,
कोई बात आँखों में देख के पहचानते कहाँ हो।

 ******************************

 दिलों में खोट जुबां से प्यार करते हैं;
बहुत से लोग दुनिया में बस यही प्यार करते हैं।

 ******************************

 दिल पे मुश्किल है बहुत दिल की कहानी लिखना
जैसे बहते हुए पानी पे हो पानी लिखना !

 ******************************

 तेरी यादो का हिसाब हर रोज कर लेता हूँ ,
थोडा हँस लेता हूँ थोडा रो लेता हूँ 

 ******************************

 टूट कर बिखर जाते है वो
लोग मिट्टी की दीवारो कि तरह,
जो खुद से भी ज्यादा किसी और
से मुहब्बत किया करते है...

 ******************************

 रफ़्तार कुछ इस कदर तेज है जिन्दगी की,
कि सुबह का दर्द शाम को पुराना हो जाता है...

 ******************************

 ना जाने क्या कहा था
डूबने वाले ने समंदर से,
कि लहरें आज तक साहिल
पे अपना सर पटकती हैं।

 ******************************

 कभी कोई अपना अनजान हो जाता है,
कभी अनजान से प्यार हो जाता है,
ये जरुरी नही कि जो ख़ुशी दे उसी से प्यार हो,
दिल तोड़ने वालो से भी प्यार हो जाता है।

 ******************************

 आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया,
क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया,
न करती वफ़ा न मिलती ये सज़ा,
शायद मेरी वफ़ा ने ही तुझे बेवफा बना दिया। 

 ******************************

 हमें कोई ग़म नहीं था ग़म-ए-आशिक़ी से पहले,
न थी दुश्मनी किसी से तेरी दोस्ती से पहले,
है ये मेरी बदनसीबी तेरा क्या कुसूर इसमें,
तेरे ग़म ने मार डाला मुझे ज़िन्दग़ी से पहले।

Post a Comment

0 Comments