Broken Heart Sms in Hindi , Sad Love Quotes Shayari

Door jakar bhi ham door jaa na sakenge,
Kitna royenge ham bata na sakenge,
Gham iska nahi ki aap mil na sakoge,
Dard is baat ka hoga ki ham aapko bhula na sakenge…

****************************

 Aesa Jagaya Aapne Ke Ab Tak Na So Sake
Yun Rulaya Aapne Ke Mehfil Mein Hum Ro Na Sake
Na Jaane Kya Baat Hai Aap Mein Sanam
Mana Hai Jabse Tumhe Apna Kisi Ke Hum Ho Na Sake..


****************************

 Bachpan Key Din Bhi Kitny Achhe Hotey They
Tab Dil Nahi Bas Khiloney Tuta Krte They
Ab Ek Aansoo Girey Toh Saha Nhi Jaata,
Bachpan Mein Toh Dil Bhur Key Royaa Krte They


****************************

 Door jakar bhi hum door jaa na sakenge,
Kitna royenge hum bata na sakenge,
Gham iska nahi ki aap mil na sakoge,
Dard is baat ka hoga ki hum aapko bhula na sakenge…



 Mar Kar Tamanna Jeene Ji Kishe Nhi Hoti
Ro Ke Khush Hone Ki Tamanna Kishe Nhi Hoti
Keh Toh Diya K Jee Le Ge Apno Ke Bagair
Par Apno Ki Tamanna Kise Nahi Hoti!

****************************

 अब कहाँ ढूंढे उसे बहुत रात निकल गई.........
यादों में कैद किया उसे, वहां से भी निकल गई . ! !

****************************

 वो जिनके इश्क़ में हम दीवाने से हो गए है,
अब वही हमको बे-वफ़ा कह के इल्जाम देते है।


****************************

 जिसने हमे चाहा,उससे चाह ना सके,
जिससे चाहते थे उससे पा ना सके,
ये समझो दिल टूटने का खेल था,
किसी का दिल तोड़ा पर अपना भी बचा ना सके..


****************************

 दिल उनको ढूँढता है, गम का सिंगार कर के,
आँखे भी थक गयी हैं, अब इंतज़ार कर के,,
एक साँस रह गयी है, वो भी ना टूट जाये,
लो आ गयी उनकी याद, वो नहीं आये.!!


****************************

 एक यह भरम टूटा मिलने को वो न आया
क्या क्या न मुझपे गुजरी क्या क्या न दिल में आया
पहले भी यूँ तो उसने तोड़े हैं कई वादे
हम तो न बुरा माने हमको न मलाल आया..


****************************

 कौन से लफ्ज़ में मैं दर्द की सदा लिखूं
किस तरह मैं अपने ही दिल को बेवफा लिखूं...
आईने तो टूट जाते हे कभी सुन्दर चेहरों से भी...
पर केसे उनको बेवफा लिखू ....!!!!


****************************

 पास आकर सभी दूर चले जाते हैं;
अकेले थे हम, अकेले ही रह जाते हैं;
इस दिल का दर्द दिखाएँ किसे;
मल्हम लगाने वाले ही जखम दे जाते हैं!


****************************

 चाहत को मेरी,नफ़रत में बदल दी तूने,
जीत गये थे बाजी,हार में पलट दी तूने,
चूम लेते जो तुम, खिल उठते वो फूल,
लेकर कली को हाथो में, मसल दी तूने,


****************************

 छूटा जो तेरा हाथ तो हम टूट के रोये
तुम जो ना रहे साथ तो हम टूट के रोये..!
चाहत की तमन्ना थी और ज़ख़्म दिए तुमने
पायी जो यह सौगात तो हम टूट के रोये...!!


****************************

 Mujhko Likhne me Jitna DarD Nahi Hota
Us se Kayi zyada padh ke unko Taklif Hota
Kahti H Lafzen Tumhari Khanjar Sidhey
Dil ko Chubhuta Hai
Aur Aansu ka Sailab Aankho se Bahta Hai
Mohabbat Nahi To Fir kaisa Dard ????
Mere Mehboob"Jawab ka Talbgaar
Alam"Ab Aakhri sawal pe Apni
Kalam ki Nok Torrta Hai


****************************

 बेख़बर हो गये हैं कुछ लोग,
जो हमारी ज़रूरत तक महसूस नही करते,
कभी बहुत बातें किया करते थे हमसे,
अब ख़ैरियत तक पूछा नही करते.


****************************

 वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं!.!!!


****************************

 खयालों में आ के वो जब मुस्कुराये
वो जुदा क्या हुए, जिन्दगी खो गयी
शम्मा जलती रही, रोशनी खो गयी
बहूत कोशिशें की मगर दिल ना बहला
कई साज छेड़े, कई गीत गाए


****************************

 Tere Bina Kaise Meri Guzarengi Ye Raatein,
Tanhai Ka Gam Kaise Sahengi Ye Raatein,
Bohat Lambi Hai Ye Ghadiyan Intezaar Ki,
Karwat Badal-Badal Kar Katengi Ye Raatein


****************************

 आज हम उन्हें बेवफ़ा बताकर आये हैं,
उनके खतों को पानी में बहाकर आये हैं,
कोई निकालकर पढ़ ना ले खतों को,
इसलिए पानी में भी आग लगाकर आये हैं..!!!


****************************

 "phir ek baar aaj yeh dil ro raha hai...
kisi ko apna na banana yeh keh raha hai....
chot aisi khaiye hai iss dil ne ki...
muskurahto mein bhi ro raha hai"


****************************

 एक अज़ीब दास्तान है मेरे अफ़सानेँ की,
मैनेँ पल पल कोशिश की तेरे पास आने की,
किस्मत थी मेरी या साज़िश थी ज़माने की,
दुऱ हुई मुझसे ईतना जितनी उम्मीद थी कऱीब आने की... ॥

****************************

 वो लाख तुझे पूजती होगी,
तू खुश न हो ए खुदा.
वो मंदिर भी जाती है तो मेरी गली से गुजरने के लिये.


****************************

 जाते जाते तुमने बस एक बार मुड के देखा था...
उस नजर की प्यास को सदीओ से पी रहे है हम...
बेचेन दिल को जाते जाते तुमने आँखों से छुआ था ...
तब से चैन ओर तनहाई का पता ढूंढ रहे है हम...


****************************

 जी भर- कर के रोते है जब करार मिलता है.....
इस जहाँ मे भी कहाँ सबको प्यार मिलता है.....
जिन्दगी~ गुजर जाती है इम्तिहानो के दौर से.....
एक जख्म भरता है तो दुसरा तैयार मिलता है.....


****************************

 मुद्दत हुई वो रुलाने नही आए
इन जलती हुई आँखों को बुझाने नही आए,...
कहते थे साथ जियेंगे साथ मरेंगे,
हम रूठे थे 1 एक दिन फिर आज तक वो मानाने नही आए.☜


****************************

 Kitna ajeeb apni zindagi ka safar nikla,
Saare jahan ka dard apna muqaddar nikla,
Jiske nam apni zindagi ka har lmha kar diya
Afsos whi humari chahat se bekhabar nikla.


****************************

 Dil ki lagi ne ham deewaba kar ke chhoda
Duniya ki har khushi se begana kar ke chhoda....


****************************

 अब जिन्दगी प्यार मूझे कीसी ना होगा
जला हे जिस्म मेरा दिल भी जल गया होगा
कूरेदते हो अब राख मे बचा कया हे
तेरे सितम से डर के भाग जाऊ, सांवरिया कायर नही
जब आख ही से ना टपका तो वो लहू कया हे


****************************

 पूछते है सब जब बेवफा था तो उसे
दिल दिया ही क्यों
*
*
किस किस को बतलाये
*
*
*
उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी
दिल नहीं देते तो जान चली जाती".


****************************

 Chaha tha humne jise use bhulaya na gaya,
Zakhm dil ka logon se chhupaya na gaya,
Bewafai ke baad bhi itna pyar karti hu ki,
Bewafa ka ilzaam bhi us par lagaya na gaya…


****************************

 Koi deewana kehta hai,koi paagal samajhta hai
Magar dharti ki bechaini ko bus pagal samajhta hai
Main tujhse door kaisa hoon, tu mujhse door kaisi hai
Yeh tera dil samajhta hai, yaa mera dil samajhta hai


****************************

 Wo Jiska Teer Chupke Se Jigar Ke Paar Hota Hai
Wo Koi Gair Kya Apna Hi Rishtedaar Hota Hai
Kise Se Apne Dil Ki Baat Tu Kehna Na Bhoole Se
Yahan Khat Bhi Thodi Der Se Akhbaar Hota hai


****************************

 Likhna to yeh tha, khush hun tere bagair bhi,
Par kalam se pehle, aansu kagaz par gir gaya..


****************************

 छोड़ दिया यारो किस्मत की लकीरों पर यकीन करना,
जब लोग बदल सकते हैं तो किस्मत क्या चीज है!


****************************

 Aaj to apne pas kuchh bacha hi nahi h....
Jo h wo kabhi rahega hi nahi h....
Ye bewafai ka jamana h bewafa jii.....
Ab kisi par bharosha hota hi nahi h....


****************************

 धीरे धीरे दूर होते गये
वक़्त क आगे मजबूर होते गये
इश्क़ मे हम ने ऐसी चोट खाई के
हम बेवफा ओर वो बेकसूर होते गये !!!


****************************

 Socha tha kabhi do dil
Milkar n juda honge
Malum n tha hum yun
Nakame wafa honge
Kismat ne diye dhokhe
Kismat ne diye dokhe ...


****************************

 कोई हलचल नहीं होती , दिल में दर्द नहीं होता,
मुझे अपनी मोहोब्बत में , यार नसीब नहीं होता.!
सुनाता हूँ सभी दर्द अपनी इन शायरियों से,
ना जाने क्यू ये दर्द , फिर भी कम नहीं होता.!!


****************************

 kaise kahe ki zindagi kya deti hai,
Har kadam par ye dagga deti hai,
Jinki jaan se bhi jyda keemat ho dil mai,
Unhi se door rehne ki sajja deti hai…


****************************

 टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता
इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता
ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता
के टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता ……..


****************************

 Wo Ro Ro Kar Dard Apne Sunate Rahe...
hamari Tanhaiyon Se Aankhe Churate Rahe...
bhir Bhi Hame Bewafai Ka Ilzaam Mila.,
kiyon Ki Har Dard Ko Ham Hans Hans Ke Chipate Rahe..?


****************************

 ज़िंदगी में कभी
मुस्कुराने की दुआ ना देना,
मुझे पल भर
मुस्कुराने की सज़ा मालूम है...!!!


****************************

 Us Ke Bina Ab Chup Chup Rehna Acha Lagta Hai,
Khamoshi Se Dard Ko Sehna Acha Lagta Hai,
Jis Hasti Ki Yaad Mein Din Bhar Aansoo Behte Hain,
Saamne Us Ke Kuch Na Kehna Acha Lagta Hai,
Mil Ker Us Se Bichar Na Jaon Darta Rehta Hoon,
Is Liye Bas Door Hi Rehna Acha Lagta Hai..!


****************************

 Jinke Dil Par Chhot Lagta Hai
Wo Ankho Se Nahi Roote,
Jo Apno Ke Nahi Hue Wo Kisi
Ke Nahi Hote.
Waqt Ne Hume Ye Sikhaaya
Hai Ki,
Sapne Toot Jaate Hain Par
Poore Nahi Hote.




Post a Comment

0 Comments