Bewafa Shayari, Best Bewafa Status, Bewafai Shayari in Hindi

"दिल ही तो टुटा है जिंदगी तो नहीं,
कोई गैर छोड़कर गया है सांसे तो नहीं,
इस तरह कब तक खुदको तकलीफ देते रहोगे,
खुश रहना सीखो जिंदगी में,
उदास तुम्हारा समय है तुम नहीं।
उम्मीद ना छोड़ना कभी तुम, याद रखना,
समय तुमसे रूठ सकता है पर ज़िन्दगी नहीं।"

******************************

 कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको,
चलो ऐसा करो भूला दो मुझको,
तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये,
दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको!

 ******************************

 खुद को औरों की तवज्जो का तमाशा न करो,
आइना देख लो अहबाब से पूछा न करो,
शेर अच्छे भी कहो, सच भी कहो, कम भी कहो,
दर्द की दौलत-ए-नायाब को रुसवा न करो।



  बिखरे अरमान, भीगी पलकें और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं।

 ******************************

 कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर,
वो रात तुमने गुज़ारी होती।

 ******************************

 आशियाँ बस गया जिनका, उन्हें आबाद रहने दो,
पड़े जो दर्द भरे छाले, जिगर में यूँ ही रहने दो,
कुरेदो ना मेरे दिल को, ये अर्जी है जहां वालों,
छिपा है राज अब तक जो, राज को राज रहने दो। 

 ******************************

 दर्द इतना था ज़िंदगी में कि
धड़कन साथ देने से घबरा गयी!….
आंखें बंद थी किसी कि याद
में ओर मौत धोखा खा गयी!….

 ******************************

 Mila Ke Nazar, Nazar Loot Lenge,
Yeh Bewafa Jalwe Jigar Loot Lenge,
Hasino Pe Hargiz Bharosa Mat Karna Dost,
Maa Kasam Ghar Ke sukoon-e-chain Loot Lenge.

 ******************************

 Dard ab aur na de aye khuda main ab seh nahi sakta,
Tu sunta nahi aur main kisi aur se keh bhi nahi sakta,
Wo zakham aise de gaya jo jaate nahi sahe mujhse,
maut aati nahi aur main zinda rehne ki bhik maang nhi sakta.

 ******************************

 Khuda Ne Kaash Mohabbat Banayi Na Hoti,
Toh Aaj Iss Tarah Hamare Pyar Ki Ruswayi Na Hoti,
Kaash Unke Dil Mein Zara Si jo Wafa Hoti,
To Iss Tarah Mere Sath aaj Bewafai Na Hoti.

 ******************************

 Hum ne to jaan luta di pyar mein,
Mehboob ne hi dhokha de diya hume,
Hum ne to khushiyan maangi thi,
Usne zindagi bhar kaa gham de diya.

 ******************************

 Lamha-lamha ye waqt gujar jayega,
Pal do pal mein ye safar yuhi kat jayega,
Abhi waqt hai to do chaar baatein kar lo,
Kaun jaane kab zindagi mein koi aur aa jayega.

 ******************************

 Chahte the jinhe unke dil badal gaye,
Samundar to wohi the par sahil badal gaye,
Qatal aisa hua kissto mein main mera,
Kabhi badle khanjar to kabhi Qaatil badal gaye.

 ******************************

 वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,
हमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकि,
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।

 ******************************

 हमें देख कर जब उसने मुँह मोड़ लिया,
एक तसल्ली हो गयी चलो पहचानते तो हैं।

 ******************************

 एक अजीब सा मंजर नजर आता है, हर एक आँसू संमनद नजर आता है,
कहां रखुं मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ में पत्थर नजर आता है.

 ******************************

 जहा से तेरा मन चाहे वहा से मेरी ज़िन्दगी को पढ़ ले तू,
पन्ना चाहे कोई भी हो, हर पन्ने पे तेरा ही नाम होगा.

 ******************************

 दर्द आँखों से निकला तो सबने बोला कायर है ये,
जब दर्द लफ़्ज़ों से निकला तो सब बोले शायर है ये!!

 ******************************

 तुमको छुपा रखा हे इन पलकों मे
पर इनको ये बताना नहीं आया
सोते हुए भीग जाती हे पलके मेरी
पलकों को अब तक दर्द छुपाना नहीं आया
 जब वो मिले हमसे अरसे बाद तो उन्होने पूछा हाल-चाल कैसा है,
तो मैने कहा तुम्हारी चली चाल से
मेरा हाल बदल गया,

 ******************************

 दर्द से दोस्ती हो गई यारों
जिंदगी बे दर्द हो गई यारों
क्या हुआ जो जल गया आशियाना हमारा
दूर तक रोशनी तो हो गई यारो

 ******************************

 टूटे हुए दिलो की जरुरत बहुत हैं
वरना महफ़िल में रंग जमायेगा कौन
जब टूटेगा ही नहीं दिल किसी का
तो मयखाने में पीने आएगा कौन.

 ******************************

 मयखाने वाले की दुआ हैं जो क़ुबूल हो जाती हैं
और यहाँ हम सोचते हैं की
क्यों वो हमसे अक्सर रूठ जाती हैं

 ******************************

 किसी रोज़ याद न कर पाऊं तो खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों
दरसल छोटी सी इस उम्र में परेशानिया बहुत हैं,
मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में,
बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझ पड़ी है दो वक़्त की रोटी कमाने में |

 ******************************

 मेरे दिल की दुनिया पे तेरा ही राज था।
कभी तेरे सीर पर भी वफाओ का ताज था।
तूने मेरा दिल तोडा पर पता न चला तुझको।
क्योंकि टुटा दिल दीवाने का बे आवाज था।

 ******************************

 रस्मे उल्फत को निभाए तो निभाए कैसे,
हरतरफ आग है ,दामन को बचाए कैसे।
बोझ होता जो गमों का तो उठा भी लेते,
जिंदगी बोझ बनी तो फिर उठाए कैसे।

 ******************************

 आंखों के हर कतरे का बोझ उठाता था, उठाता हूँ और उठाता रहूँगा ।
मगर आंसुओं को ना कभी बेवफा कहूँगा ।
इस जन्म का जो कर्ज है अगले जन्म में जरूर बगैर कर्ज मुस्कराउंगा । 

  ****************************** 

बेवफाओं की दुनिया से लफ्जों को आज भी शिकायत है......
जान बूझ कर इस्तेमाल नहीं करते, फिर लगाते तोहमत है . ! !

 ******************************

 Pyar ne ye kaisa tohfa de diya,
Mujhko gumo ne pathar bana diya.
Teri yaadon main hi kat gayi ye umar,
Kehta raha tujhe kab ka bhula diya…

 ******************************

 Phir aaj hum hai shairana mijaj me,
shayad tu aaj phir hame yaad karta hai
phir chal raha kuch tere sine me,
ki bewajah aaj kal dil humara dharkta hai …

 ******************************

 गर हो तेरी मोहब्बत में आशियाना...
तो आ थोड़ीसी पनाह लेलु...
अगर जिंदगी ने कहीं बेवफाई करदी..तो
तुम्ही मुझे बेवफा समझें गी...

 ******************************

 सावरियां....❤
ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं. 

 ******************************

 दर्द है दिल में पर उसको एहसास नहीं होता
रोता है दिल जब वह पास नहीं होता
बर्बाद हो गए हम उनकी मोहब्बत मैं
और वह कहते है इस तरह प्यार नहीं होता

 ******************************

 आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये
तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये,
कई बार पुकारा इस दिल ने तुम्हें
और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये !

 ******************************

 Sab Kuch Hai Mere Pass,
Par Dard Ye Dil Ki Dawa Nahi,
Dur Hai Wo Mujhse,
Fir Bhi Main Usase Khafa Nahi,
Sau Gam Sahe Hain,
Par Ab Bhi Pyar Karta Hu Usko,
Kyunki Main Thoda Jiddi Hu,
Magar Bewafa Nahi..!!

 ******************************

 ना दिन का पता ना रात का
एक जवाब दे रब मेरी बात का
कितने दिन बीट गये उस से बिछड़े हुवे
ये बता दे कौन सा दिन रखा हैं हमारी मुलाकात का 

 ******************************

 हर सितम सह कर कितने गम छिपाये हमने तेरी खातिर
हर दिन आँसु बहाये हमने तू दर्द दे गई जहा एकेले रोये हमने
बस तेरी दिए जख्मको छिपाए हमने

 ******************************

 Ham un se mahobbat krke ....
Din rat sanam rote hai ......
Meri nind gyi ....
Mera chain gya ...
Or chain se vo sote hai 

 ******************************

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी ..

 ******************************

 तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना;
तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना;
मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना;
शौंक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।

 ******************************

 आग दिल में लगी जब वो खफा हुए;
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए;
करके वफ़ा कुछ दे ना सकें वो;
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफा हुए।

 ******************************

 Zarurat Nahi Aaj Mohabbat Ki Hame...
Kal Jab Thi Tab Use Ghurur Tha...
Hum Hi Naye The Ishq Ke Shahar Me Jo Na Jaan Paye...
Ke Uska Ghar To Bewafai Ke Liye Mashhur Tha...!!

 ******************************

 हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
औरों को तो क्या, हमको भी तबाह किया.!!
पेश किया जब ग़ज़लों में हमने, उनकी बेवफ़ाई को,
औरों ने तो क्या, उन्होने भी वाह-वाह किया.!! 

******************************

 Sirf Ashq Hi Gawahi De Sakte Hain Meri...
Ki Dil Kitni Shiddat Se , Yaad Karta Hai Tujhko ..

 ******************************

 इतनी मुश्किल भी ना थी राह मेरी मुहब्बत की,
कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हो गए…!!!

 ******************************

 Barbaad Kr Gayee Woh Zindgee Pyar Kay Naam Sy
Baywafai Milee Sirf Wafaa Ky Naam Sy
Zakhm Hee Zakhm Diyee Uss Nay Dawaa Ky Naam Sy
Aasmaan B Ro Paraa Mere Mohabat Kay Naam Sy

 ******************************

 इश्क में दिल को ठेस लगाना तुम बेवफा का रस्म निभाना
बंदा ये कमजोर बहुत है मौत के दर तक छोड़के आना
तेरी गली में कांटे हैं कितने लेकिन गुलाबों का नहीं ठिकाना
क्या-क्या सितम भूल चुका हूं ऐ दिल कभी न याद दिलाना

 ******************************

Ham Intezar Kartey Rahey
Par Tum Naa Aaye
Pyaasa Dil Terey Gam Main Tadapta Rhey
Par Tum Toh Nazrey Jhukakey Chaley Gae.

 ******************************

 हर भूल तेरी माफ़ की..
हर खता को तेरी भुला दिया..
गम है कि, मेरे प्यार का..
तूने बेवफा बनके सिला दिया|

 ******************************

 वो तो दिवानी थी मुझे तन्हां छोड़ गई;
खुद न रुकी तो अपना साया छोड़ गई;
दुख न सही गम इस बात का है;
आंखो से करके वादा होंठो से तोड़ गई !!!

 ******************************

 Ishq mein mar mitna to bohat aasaan hai�
Hum zinda hain yehi dard kafi hai teri bewafai ke baad�

 ******************************

Na zindagi mili na wafa mili
Kyun har khushi hum se khafa mili
Jhoothi muskaan liye dard chupaate rahe
Sachche pyaar ki kya saza mili

 ******************************

 Zindagi se poocho yeh kya chaahati hai,
Bus ek usi ki wafa chaahati hai,
Kitni masoom aur naadan hai zindagi,
Khud bewafa hai aur wafa chahati hai

 ******************************

 Waqt ki tanhai se khelna sikh gay.
uski bevfai me jina sikh gaye.
Kya kahe kis kadar tuta he dil mera.
mout se pahale kafan odkar sona sikh gaye.

 ******************************

 "इस दुनियाँ में सब कुछ बिकता है,
फिर जुदाई ही रिश्वत क्युँ नही लेती?
मरता नहीं है कोई किसी से जुदा होकर,
बस यादें ही हैं जो जीने नहीं देती..". 

******************************

 Hum to tere dil ki mehfil sajane aye the,
Teri kasam tujhe apna banane aye the.
Kis baat ki saza di tune hum ko,
Bewafa hum to tere dard ko apnane aye the.

 ******************************

 काली घटा घनघोर हैं छाई एक तरफ मेरी तन्हाई ....,
सब कुछ लुट गया हो जैसे जब से हुई तुम से जुदाई...,
बहुत प्यार किया था तुम से मैने तेरी हर गलती अपनाई....,
भूल सकूॅंगा न में तुम को करले तु चाहें लाख बेवफाई....!!

 ******************************

"दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया."..  

 ******************************

साए ने साथ छोड़ दिया यार ने दिल तोड़ दिया,
अब तो खुदा भी मेरे खिलाफ हो गया,
जो प्यार का चिराग जलाया था मैने,
उसी चिराग से जलकर मैं खाक हो गया

 ******************************

 Karni thi agar be wafai to hume pehle hi bata dete,
Duniyan bahot hasin he hum kisi our se dil laga lete,

 ******************************

 माना के मर जाने पर भुला दिए जाते है लोग ज़माने में.,.
पर मैं तो अभी जिन्दा हूँ फिर कैसे उसने मुझे भुला दिया..?

 ******************************

 Jo Rehta Tha Is Dil Me Kabhi Apno Ki Tarah.,
Aisa Bhula Ki Milta Hai Ab Sapno Ki Tarah.
Pal Pal Karta Tha Jo Saath Nibhane Ki Baate.,
Chhod Gaya Humko Purani Rasmo Ki Tarah.
Ruswa Huye Zamaane Me To Ye Jana.,
Tere Vaade Bhi The Jhoote Teri Kasmo Ki Tarah.

 ******************************

  खुशियो का था वो समां , जैसे कहीं ठहर जाता था आसमां ।
अब नहीं है वो पल कि उन्होंने कहा है अलविदा
कि रूठ गयी है खुशबू और फिजा भी बन गयी है किजाओं की निशां ।

 ******************************

 कभी उसने भी हमें चाहत का पैगाम लिखा था;
सब कुछ उसने अपना हमारे नाम लिखा था;
सुना है आज उनको हमारे जिक्र से भी नफ़रत है;
जिसने कभी अपने दिल पर हमारा नाम लिखा था।

 ******************************

 Bekhudi Le Gayi Kahan Hum Ko,
Der Se Intezaar Hai Apna,
Rote Phirte Hai Sari Sari Raat,
Ab Yehi Rozgaar Hai Apna..

 ******************************

 तेरा जाना दिल को कभी गँवारा ना हुआ,
ऐसा रूठा हमसे फिर कभी हमारा ना हुआ,
बहुत हसरत रही कि तेरे साथ चले हम,
बस तेरी और से ही कभी इशारा ना हुआ,
मौत अच्छी थी जिसने उठाया था मुझको,
जिन्दगी यू तेरा मुझे कभी सहारा ना हुआ.

 ******************************

 Bewafaa kahoon tujhe yaa bekhabar..
Abhi Pyaar na hoga kabhi mujhe magar..
Na kabhi bhool paongi tujhe iss janam mein
Tune dil jo mera thoda iss kadar... 

 ******************************

 मोहब्बत करते थे कि करते रहेगें
पर जो रूठ के चले गये है सोच भी उनकी रूठ गयी है ।
कि जज्बात हमारे आज भी नहीं रूठी
पर चलाने है तो चलाये जाओ बहुत तीर
पर वेबफा होने का सबुत क्या है
जरा ये भी बता जाओ ए सगंदिल 

 ******************************

 वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी…
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी…
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना…
वो नादान है यारो… अपना हाथ जला लेगी.










Post a Comment

0 Comments