Top Mix SMS Status


समझ नही आता जिंदगी तेराफैसला...!!!!
एक तरफ तू कहती हैसबर का फल मिठाहोता है...
और दूसरी तरफ कहती हैवक्त किसी का इंतजार नही करता...!!!
शुभरात्रि दोस्त ....जय श्री राधे कृष्णा जी....
****************************************

 कब तक हम शर्म से यूँ ही जमीं में गड़ते रहेंगे,
कब तक गुस्से से अपनी हथेलियाँ रगड़ते रहेंगे,
आओ, कि हम समाज बदलने की पहल खुद करें,
आखिर गौण मुद्दों पर हम कब तक झगड़ते रहेंगे ।
****************************************
बजरंगी कहें सुख उपजे
बालाजी कहें दुःख जाए
हनुमान कहें संकट कटे
सियाराम कहें सुख पाए |
जय सियाराम जय हनुमान ।

****************************************
भस्म तो ललाट पर लगाया करते है
गले मैं मुण्ड माला सजाया करते हैभक्त है हम उनके
जो मौत का तांडव रचाया करते है ॥..जय हो महाकाल

****************************************
 दुनियां से बात करने के लिये फोन की जरूरत होती है ! और
प्रभु से बात करने के लिये मौन की जरूरत होती है।।
फोन से बात करने पर बिल देना पड़ता है ,और
ईश्वर से बात करने पर दिल देना पड़ता है।

****************************************
अंगार नही फोलाद हैँ, हम !!!!
महाकाल कि ओलाद हैँ, # हम !!!!
गांजे में गंगा बसी, चीलम में चारो धाम ..
कंकर मे शंकर बसे और छाती मेंसीताराम..!!

****************************************
आज उनका तो नाम ही नहीं,
जिनके लहू से जले थे चिरागे वतन ..
मजारें जगमगा रहीं हैं उन नमक हरामो की,
जो बेच गए थे शहीदों के कफन

****************************************
अदम्य साहस और शौर्य के धनी,
अन्याय और असत्य से आजीवन संघर्ष करने वाले
महाराणा प्रतापजी की पुण्यतिथि पर शत्-शत् नमन..!

****************************************

किसी ने कहा 'अकबर' के दीवाने हम
किसी ने कहा 'बाबर' के दीवाने हम
कसम से भगदड़ मच गयी जब
हम ने कहा "श्रीराम" के दीवाने हम।।

****************************************

लोगों ने कहा अरे बांवरे क्यों ये रट तूने लगाई ।
सुन कर बाँसुरी की धुन क्यों तूने सुध बिसराई ।
ये जो प्रेम रोग तूने पाल लिया बाँके बिहारी का ।
ये आसान नहीं इसमें मीरा भी दिवानी कहलाई ।।

****************************************
तेरी बंसरी की धुन कान्हा मेरे रुह की पहचान है |
तेरे दिल की धड़कन कान्हा मेरे दिल की जान है |
ना सुनु जिस रोज़ कान्हा. तेरी ये बंसरी की धुन |
लगता है उस रोज़ . .........ये जिस्म ही बेजान है |
@@ जय श्री कृष्ण। जय श्री राधा @@
****************************************

आओ मेरे सीने से लिपट जाओ....
येदिसम्बर की सर्द हवाए कही
तुम्हे बीमार ना बना दे...


Post a Comment

0 Comments