Two Line Shayari, Short Hindi Shayari, Best Shayari in 2 Lines

सारे ताबीज गले में पहन कर देख
लिए आराम तो बस तेरे दीदार से ही मिला!

******************************

हमने लिया सिर्फ होंठों से जो तेरा नाम दिल होंठो से उलझ पड़ा कि ये सिर्फ मेरा है!!!


******************************

अगर प्यार करती हो तो आ सामने, यु छीप छीप कर स्टेटस पढने का मतलब क्या हैं?


******************************

 जरूरी नहीं की तुम बात करो...
हम तो तुम्हे ऑनलाइन देख कर ही खुशहो जातेहैं!




 बस एक बार तुमसे बात हो जाए तो
रात को दिल कहता है - आज दिन अच्छा था...


******************************

  પ્રેમ ક્યારેય ખોટો નથી હોતો સાહેબ
ખોટા તો વાયદા અને લોકો હોય છે !!


******************************

 कई शाम गुजर गई., कई राते गुजर गई..!!*
ना गुजरा तो सिर्फ एक लम्हा., वो तेरे इंतजार का...!


******************************

 परवाह करने की आदत ने त परेशान कर दिया...
अगर बेपरवाह होते तो सुकून बहुत होता ज़िंदगी में..


******************************

 काश कभी तो मेरी कोई दूआ.. कबूल होने के काबिल हो.
मैं रात को ख़्वाब में.. देखु तुम्हें और सुबह तुम मेरी जिंदगी में शामिल ...


******************************

 जो कागज़ पे लिख दूँ तारीफ तुम्हारी,
तो स्याही भी तेरे हुस्न की गुलाम हो जाए..


******************************

 कितना अजीब है उसका अंदाज़ मोहब्बत का ....
रोज़ रुला कर कहता है ....'अपना ख्याल रखना


******************************

 ये मेरा दिवानापन है,या मोहब्बत का शुरूर...
तू ना पहचाने तो है ये तेरी नाजरों का कुसूर...!!!


******************************

भीगते हैं जिस तरह से तेरी यादों में डूब कर,
इस बारिश में कहाँ वो कशिश तेरे खयालों जैसी। 

******************************

मुखातिब हो के भी मुझसे क्यों अनजान से दिखते है।
मुझपे नहीं गैरो पे वो अक्सर ही मेहरबान से दिखते है।


******************************

  तेरी आँखों के जादू से तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़;
ये उसे भी जीना सीखा देता जिसे मरने का शौक़ हो।


******************************

 लोग पूछते है मेरी खुशियों का राज क्या है..
इजाज़त हो तो आप का नाम बता दूँ...?


******************************

 ज़िन्दगी से कुछ नहीं माँगा, तेरे सिवा...
ज़िन्दगी ने सब कुछ दिया, बस एक तेरे सिवा...!!


******************************

 दिल एक हो तो कई बार क्यों लगाया जाये
बस एक इश्क़ ही काफी है अगर निभाया जाये..!!


******************************

 खुले आसमान में छत पे सोने जैसा तेरा इश्क़ ...!!
चांदनी की बाहों में चाँद के होने जैसा ...!!


******************************

 मोहब्बत जब सुकून ए ज़िंदगी बर्बाद करती हे,
ज़ूबा खामोश रहेती हे नज़र फरियाद करती हे.


******************************

 जरूरतें भी जरूरी हैं, जीने के लिये लेकिन,
तुझसे जरूरी तो, जिदंगी भी नही.....


******************************

 न वो फरिश्ता हो, न ही फ़रिश्ते जैसी हो,
मुझे उसकी तलाश है, जो बस मेरे जैसी हो.!


******************************

 मुहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं,
चमकता सूरज भी तो ढल जाता है चाँद के लिए।...!!


******************************

 ये दुनियाँ के तमाम चेहरे तुम्हें गुमराह कर देंगें..
तुम बस मेरे दिल में रहो, यहाँ कोई आता जाता नहीं...!!!


******************************

 रोये तो थे तेरे यादों को दिल से भुलाने के लिए,
मगर फिर भी हर अश्क मेंदिखती रही सूरत तेरी..."


******************************

 प्यार करना सिखा है....नफरतो का कोई ठौर नही...
बस तु ही तु है इस दिल मे..... दूसरा कोई और नही.......


******************************

 मेरे दोस्त कहते कि तेरे स्टेटस मस्त होते है ,
मेनै कहा जिस पगली के लिये लिखता हू वो है हि इतनी प्यारी...


******************************

 मेरे यूँ चुप रहने से नाराज ना हो जाना कभी,
दिल से चाहने वाले तो अकसर खामोश ही रहते है.


******************************

 मेरी रूह को छू लेने के लिए बस कुछ लब्ज ही काफी है..
कह दो बस इतना ही के तेरे साथ जीना अभी बाकी है .


******************************

 रूठा तो मुझसे मेरा मुकद्दर है ।
कि जो तुम मुझसे ऐसी रूठी कि अब तक बोलती नहीं हो 


******************************

 इश्क़की आग अगर तूने लगाई है तो तू भी सुन ले,
हम भी बुझा देंगे इसे इश्कका दरिया बनके.


******************************

 मत सोना किसी के कंधे पर सिर रखकर,
जब वो बिछडते है तो तकिये पर भी नींद नही आती....


******************************

 सर्द हवा में भी एक अजीब सी कशिशहै..
याद उसी की दिलाती है जिसकी बाहों में गर्माहट आती है..


******************************

 मदहोश मत करो मुझे अपना चेहरा दीखाकर
मौहब्बत अगर चेहरे से होती तो ,,खुदा,,दील,, ना बनाता


******************************

 'पसंद' अच्छी है तुम्हारी, ये सुना है मैंने...
तो बताओ आईना देख कर, कि मेरी 'पसंद' कैसी है ??


******************************

 मुझे मालूम नहीं कि मेरी आँखों को तलाश किस की है...
पर तुझे देखूं तो बस मंज़िल का गुमान होता है .


******************************

 किस्से तो तेरे सरे आम मशहूर थे बेवफाई के
मगर दिल ये नादान किस्सों पर नही तुझ पे मरता है


******************************

 सारे अश्क सुख गये तेरी यादो की धूप मे
अपनी चाहत की मुझ पर थोड़ी सी बरसात कर दे !!


******************************

 हम भी चाहते थे गालीब की तरह शायर बन जाना मगर....! !
हमारी कलम तो और कुछ लिखती नहीं तेरे नाम के सिवा.


******************************

 सनम तुझे चाहना वो भी दिल से दिल की लगी नहीं तो और क्या है
हर चेहरे मे बस तेरी तलाश मेरी चाहत नही तो और क्या है......


******************************

 तेरी कसम देकर पिलाते हैं यार मेरे मैखाने में
बरना आदी तो हम सिर्फ तेरी आँखों के हैं —


******************************

 तेरा नशा इस कदर रच बस सा गया है मेरी रूह में ऐ हमदम...!!!
नाम तुम्हारा लेते है तो, ऐसा लगता है खुदा की इबादत कर ली है...!!!!
Good ...night...


******************************

 कितने जलवे फिजाओं में बिखरे मगर मैंने अब तक किसी को पुकारा नहीं।
तुमको देखा तो नज़रें ये कहने लगीं हमको चेहरे से हटना गवारा नहीं।




Post a Comment

0 Comments