Two Line Shayari, Short Hindi Shayari, Best Shayari in 2 Lines

मुझको पढ़ पाना हर किसी के लिए मुमकिन नहीं,
मै वो किताब हूँ जिसमे शब्दों की जगह जज्बात लिखे है….!!....

************************

 शर जुकाने की आदत नही,आँसु बहाने की आदत नही है,
हम खो गये तो पछताओगें बहुत, क्योकि हमारी लौट के आने की आदत नही है।

  ************************

 प्रेम की कलम हाथ में ली मेने और ज़िंदगी का कागज सरक गया
गलत जगह पे प्यार हुआ और एक सायर बढ़ गया.

 ************************

 मोहबत्त अगर कभी हो भी जायेगी तो उससे ही करुँगा
जो मोहबत्त करेगी हमसे बस उससे ही मै मोहबत्त करूँगा



 ये आँसू की लड़ियाँ, ये शबनम के मोती़...
ये सब ना होते तो मोहब्बत ना होती..!!

 ************************

 पुरानी होकर भी खास होती जा रही है ...
मोहब्बत बेशरम है बेहिसाब होती जा रही है....

 ************************

 जिन्दगी इन्सान को कहाँ से कहाँ ले आती है,
एक पल खुशी तो दुसरे पल गम दे जाती है,

 ************************

  ये “ शायरी ” लिखना उनका काम नहीं, जिनके “ दिल ” 
आँखों में बसा करते हैं. “शायरी” तो वो शख्स लिखते है, 
जो शराब से नहीं “कलम” से नशा करते है..

 ************************

 तेरी याद जब आती है तो उसे रोकते नही हैं हम,
क्यूँकि जो बगैर दस्तक के आते हैं वो अपने ही होते हैं...!!!

 ************************

 एक उम्र ग़ुज़ारी हैं हमने तुम्हारी ख़ामोशी पढते हुए,
एक उम्र गुज़ार देंगे तुम्हें महसूस करते हुए ...

 ************************

  "कौन कहता है कि आँसूओ में वजन नहीं होता.."
"एक भी छलक जाता है तो मन हल्का हो जाता है...लककी "

 ************************

 ग़ालिब ने कहा था :
" उमर भर ग़ालिब यही भूल करता रहा ,
धूल चहेरे पे थी और आयना साफ करता रहा !!! "

 ************************

 मुझे मालूम था कि वो रास्ते कभी मेरी मंजिल तक नहीं जाते थे,
फिर भी मैं चलता रहा क्यूँ कि उस राह में कुछ अपनों के घर भी आते थे!

 ************************

 તારી આંખના આંસુઓ ને હું હેક કરી નાખું,
બસ તું તારી મુસ્કાન નો પાસવર્ડ આપી દે....!!!

 ************************

 जिस कश्ती के मुकद्दर मै लिखा हो डुब जाना,
तुफां से बच भी जाये तो किनारे रुठ जाते है.......

 ************************

 “अगर रूठे कोई तो उसे फौरन मना लो...,
क्योंकि जिद की जंग में अक्सर दुरिया जीत जाती हैं।”

 ************************

 हुकुमत वो ही करता है जिसका दिलो पर राज हो...!!
वरना यूँ तो गली के मुर्गो के सर पे भी ताज होता है...!!

 ************************

  कैसे कह दूं मेरा लिखा वेस्ट हो गया
जब जब लिखा कॉपी पेस्ट हो गया

 ************************

 ऐसा नहीं कि दिल में तेरी तस्वीर नहीं थी,
पर हाथो में तेरे नाम की लकीर नहीं थी..

 ************************

 Shikayatein toh bahut hai aey Zindagi tujhse...
Par chup isliye hu ki jo diya tune woh bhi bahuto ko Naseeb nahi hota..

 ************************

 You’re very beautiful, no doubt about
that but I’ll still rate a monkey ahead of you.

 ************************

 पटाने को तो हम भी पटा लेते शहर की सारी लङकिया.....
मगर ..
इस बादशाह को इश्क का शौक है अवारगी का नही...

 ************************

 Bure hai hum tabhi to jee rahe hai,
Ache hote to duniya jeene nahi deti.


 ************************
 Doob Kar Suraj Ne..Mujhe...AurBhi Tanha KarDiya....
Saaya Bhi Alag Ho Gaya..Mera...Mere Apno KiTarah....!

 ************************

 Kabhi Aisi Bhi Be-Rukhi Dekhi Hai Tumne"Aye DIL",
Log Aap Se Tum, Tum Se Jaan, Aur Jaan Se Anjaan Ho Jaate Hai...!!!

 ************************

 Wo Dushman Bankar Mujhe Jeetne Nikle The,
Mohabbat Kar Lete Main Khud Hi Haar Jaata...!!!!!

 ************************

 Hazaron manzlen hungi hazaron karwan hun gy.
nigahen hum ko dhonden gi aur na jany hum kahan hon gy

 ************************

 मिलेगी परिंदों को मंजिल ये उनके पर बोलते हैं ,
रहते हैं कुछ लोग खामोश लेकिन उनके हुनरबोलते हैं ..

 ************************

 Milta Bhi Nahi Tumhare Jaisa Koi Aur Ess Shaher Main..
Humain Kya Maloom Tha? Tum Ek Ho Wo Bhi Kisi Aur Ke....

************************

 Giri Mili Ek Bottle Sharab Ki, To Aisa Laga Mujhe,
Jaise Bikhra Pada Tha Ek Raat Ka Sukoon Kisi Ka...!!!!

 ************************

 तेरी तस्वीर की भी तारीफ करने से डरता हूँ मैं,
जमाना कही जान ना जाये की मुझे तू अच्छी लगती है

 ************************

 तेरे होठो में भी क्या खूब नशा हे,,
,लगता हे की तेरे जूठे पानी से ही शराब बनतीहे...
 
 ************************

 मैं कैसा हूँ ' ये कोई नहीं जानता,
मैं कैसा नहीं हूँ 'ये तो मेरे शहर का हर शख्स बता सकता है…!

 ************************

Luta Chuka Hu Bohat Kuch, Apni Zindagi Mein Yaaro,
Mere Wo Jazbaat To Na Luto, Jo Likh Kar Bayan Karta Hu..!!!! 

 ************************

Na jaane kya Maasumiyat Hai Tere Chehre Mein,
Saamne se jyada Tujhe chhup ke se Dekhna Acchha lagta hai



Post a Comment

0 Comments