Two Line Shayari Collections in Hindi For Girlfriend&Boyfriend

"ज़ख़्मों के बावजूद मेरा हौसला तो देख.... "
"तू हँसी तो मैं भी तेरे साथ हँस दिया...

***************************

 Wo Jaan Gaya Ta Mujhe Dard Mein Muskuraane Ki Aadat Hai...
Wo Roz Mera Dil Dukhata Hain Sirf Meri Khawahish K Liye....!!


***************************

तुम तो डर गए एक ही कसम से_________________**
हमे तो तुम्हारी कसम देकर हजारो ने लुटा है !!


***************************

 "मैने उसके नरम होँठो को चुमने की इजाज़त माँगी,
वो अपने होँठ करीब लाकर बोली पागल प्यार मेँ इजाज़त नही होती!"



 कभी हमसे भी पल दो पल बातें कर लिया करो..!!
क्या पता आज हम तरस रहे है, कल आप तरस जाओ...


***************************

 मुझे तो आज पता चला की मैं किस कदर तन्हा हूँ...
पीछे जब भी मुड़ कर देखूं तो मेरा साया भी मुँह फेर लेता हैं


***************************

 अजी पहली बार कहा मिले थे हम मिले क्या थे लड़ पड़े थे हम
हमने कहा था गलती तुम्हारी हैं तुमने कहा था गलती हमारी हैं


***************************

  Mile to hazaron log the Zindagi me ,
Par wo sabse alag tha jo kismat me nahi tha


***************************

 चलो मान लिया हमें मोहब्त करना नही आता.....
लेकीन ये तो बताओ तूम्हे दिल तोडना किसने सिखाया...


***************************

 तुमको मिल जायेगा बेहतर मुझसे ! 
मुझको मिल जायेगा बेहतर तुमसे ! 
पर कभी कभी लगता है ऐसे...हम एक दूसरे 
को मिल जाते तो होता बेहतर सबसे !


***************************

 Mohabbat Ka Itna Sa Maan Rakh Sakun ..
Tere Chehre Ki Muskurahat Barkarar Rakh Sakun ..


***************************

 'पसंद' अच्छी है तुम्हारी, ये सुना है मैंने...
तो बताओ आईना देख कर, कि मेरी 'पसंद' कैसी है ??


***************************

 जख्म भी अब दिल का दिल से दुआ करे ।
कि खुशियो का खजाना तुम्हें और गम की राह में हम चले


***************************

 दिल के छालों को कोई शायरी कहे तो परवाह नहीं।
तकलीफ तो तब होती हैं,';जब लोग वाह-वाह करते हैं।';


***************************

 ना चाहते हुए भी साथ छोड़ना पड़ता हे,"
जिंदगी में कुछ मजबूरिया "" मोहब्बत "
 से ज्यादा ताकतवर होती हे !


***************************

 ना जाने इतनी मुहब्बत कहां से आई है उसके लिये;
कि मेरा दिल भी उसकी खातिर मुझसे रूठ जाता है।


***************************

 Is Bedard Zamaane Se Har Gam Chupana Padta Hai
Zakhm Hazaaron Ho Dil Pe, Fir Bhi Muskurana Padta Hai.


***************************

 इश्क़ पर ज़ोर नहीं, यह वो आतिश ग़ालिब;
के लगाए ना लगे और बुझाए ना बुझे।


***************************

 ​इश्क़ की बंदगी दी है तो हुस्न की इबादत जरूरी है;
इश्क़ से जीने की आस रहेगी और हुस्न से तड़प का सकून​।


***************************

 Zakhm Dekar Na Pucha Karo Dard Ki Shiddat
Dard To Dard Hota Hai Thoda Kya Aur Jayada Kya..!


***************************

 हज़ार चेहरों में उसकी मुशाहबतें मिले मुझ को;
पर दिल की ज़िद थी अगर वो नहीं तो उस जैसा भी नहीं।


***************************

 Is Bedard Zamaane Se Har Gam Chupana Padta Hai
Zakhm Hazaaron Ho Dil Pe, Fir Bhi Muskurana Padta Hai.


***************************

 कोई पुछता है मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत, 
मुझे याद आ जाता है हल्कासा मुस्कराना तेरा....!


***************************

 फासले कभी ऐसे भी होंगे पता ना था...
हाथो में थे हाथ, फिर भी साथ ना था


***************************

 उनको कहना कि आकर ये दिल भी ले जाये
अब ये मेरी सुनता ही नहीं फिर इसका करूँ क्या


***************************

 "साज़िशें लाखो बनती हें मेरी 'हस्ती' मिटाने की...""
बस 'दुआयें' आप लोगों की उन्हें 'मुकम्मल' नही होने देती.


***************************

 मेरा मज़हब तो , ये दो हथेलिया बताती है ,
जुड़े तो "पूजा ", खुले तो "दुआ " कहलाती है.......


***************************

निकलते हैं तेरे आशियां के आगे से यह सोच कर कि तेरा दीदार हो जायेगा;
खिड़की से तेरी सूरत न सही तेरा साया तो नजर आएगा।


***************************

 तेरी यादों के बिना जिंदगी अधूरी है तू मिल जाये तो जिंदगी पूरी है,
.तेरे साथ जुडी हैं मेरी खुशियां बाकी सब के साथ हंसना तो मजबूरी है...


***************************

 Tere dil mein meri saanson ko panah mil jaaye,
Tere ishq mein meri jaan FANAA ho jaaye.


***************************

 शायरों की बस्ती में कदम रखा तो जाना,
गमों की महफ़िल भी, कमाल की जमती है


***************************

 हमने तुम्हें उस दिन से और ज़्यादा चाहा है,
जबसे मालूम हुआ के तुम हमारे होना नहीं चाहते.......॥


***************************

 Mohabbat me hamne kya kuchh nahi luta diya...
Unhe pasand thi roshni aur hamne khud ko jala diya.


***************************

 Suna hai un ke ashkon se bujhti hai pyaas sehra ki,
Jo kehte the ke patthar hain hamein rona nahi aata...


***************************

 Dil mein hota to kab ka bhulla deta,
Woh shakhs to bohat door tak basa hai mujh mein


***************************

 Hum bhi bikne gaye the bazaar-e-ishq mein
Kya pata tha wafa walon ko log khareeda nahi karte


***************************

 कभी मिले फुर्सत तो इतना जरूर बताना,,,
कि वो कौन सी मोहब्बत थी जो तुम्हे हम ना दे सकें...


***************************

 तुझे पा ना सके फिर भी सारी जिन्दगीं तुझे प्यार करेगे...
ये जरूरी तो नही जो मिल ना सके उसे छोड दिया जाये..!!


***************************

 तेरे इस वरके मजमून को सीने से लगा रखेंगे
तेरी इस मोहब्बत के फसाने को हम तावीज बना कर रखेंगे 


***************************

 छोड दो मुड कर देखना उन्हे जो दुर जाया करते है..
जिनको साथ नही चलना वो अक्सर रुठ जाया करते है..


***************************

 कई रिश्तों को परखा तो नतीजा एक ही निकला,
जरूरत ही सब कुछ है,मुहब्बत कुछ नहीं होती !


***************************

 Wo aaye bhi meri kabar pe to raqeeb ke saath,
Kaun kehta hai ke musalmanon ko jalaya nahi jata.


***************************

 तुझे हर किसी को अपना बनाने का हुनर आता है..
तभी तेरे बदन पर रोज इक घाव नया नजर आता है..


***************************

 किसने कहा पगली तुझसे की हम तेरी खूबसूरती पर मरते है,,,
हम तो उस अदा पर मरते है जिस अदा से तू हमे देखती है..


***************************

 जिन्दगी भर कोई साथ नहीं देता यह जान लिया हमने,
लोग तो तब याद करते हैं जब वह खुद अकेले हों


***************************

तुमने जो दी इत्तला अपने आने की महफ़िल में।
लो अब तो बुझे हुए चिराग फिर से रोशन हो गए।।


***************************

 Agar Dil Tootey Tou Mere Pass Chaley Aana Tum,
Mujhe Bikhre Huwe Logon Se Muhabbat Bohat Hai.


***************************

 उससे कहना थक गया हूँ मैं खुद को साबित करते करते,
मेरे तरीके गलत हो सकते हैं लेकिन इरादे नहीं…


***************************

 शब्दों को अधरों पर रखकर दिल के भेद न खोलो,
मै आँखों से सुन सकता हूँ, तुम आँखों से ही बोलो ।


***************************

 हुए हैं सज़दे सब मुकम्मल मेरे,आकर तेरी पनाहों मे....
तेरी मर्ज़ी तू कर शामिल मुझको, दुआओं मे या गुनाहों मे.


***************************

 एक बेवफा के जख्‍मों पर मरहम लगाने हम गऐ ।
मरहम की कसम मरहम न मीला मरहम की जगह मर हम गऐ।


***************************

 बातें तो बहुत है मोहहब्बत बयां करने के लिए...!! पर
जो ख़ामोशी नही समझ सकते,वो बातें क्या समझेंगे.


***************************

 मुझे है तुमसे मोहबत्त इसमें तो कोई शक नही
सिर्फ तू ही मुझे देखे और किसी का हक नही



Post a Comment

0 Comments