Sweet Sms for Girlfriend, Heart Touching Sms,

एक बार उसने कहा था मेरे सिवा किसी से प्यार
ना करना !!!!
बस फिर क्या था,तब से मोह्हबत
की नज़र से हमने खुद को भी नहीं देखा ... 

*******************************

 दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिय

******************************* 

 #‎प्यार‬ और ‪#‎मौत‬ से भला डरता कौन है!!
प्यार तो हो जाता है
इसे करता कौन है ,
हम तो करदें प्यार में जान भी कुर्बान पर
पता तो चले हमसे प्यार करता कौन है !!! 

 *******************************

 हमने तो खायी है कसम तेरे प्यार में मिट जाने की,
याद आते हैं हर पल वो गली तेरा कूचा,
होती नहीं क्या कोई दवा सब यादों को मिटाने की,



 तेरे बिना टूट कर बिखर जायेंगे;
तुम मिल गए तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे;
तुम ना मिले तो जीते जी ही मर जायेंगे;
तुम्हें जो पा लिया तो मर कर भी जी जायेंगे। 

 *******************************

 ये दुनियाँ के तमाम चेहरे तुम्हें गुमराह कर देंगें..
तुम बस मेरे दिल में रहो, यहाँ कोई आता जाता नहीं...!!!

 *******************************

 वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं| 

 *******************************

 रात तो क्या..., पूरी जिन्दगी भी,
जाग कर गुजार दूँ तेरी खातिर,
बस तू एक बार कह कर तो देख कि,
"मुझे तेरे बिना नींद नही आती..." 

 *******************************

 ना रूठना हमसे हम मर जायेगे,
दिल की दुनीया तबाह कर जायेगे,
मोहबत की हे हमने कोई मजाक नही,
दिल की धड़कन तेरे नाम कर जायेगे

 *******************************

 कैसे कहूं मैं तुम से, अपने इस दिल की बात,
हिम्म्म्मत तो की इतनी, लबों ने पर न दिया साथ.
अपनी यह चाहत ले कर, करूं मैं अब तुझसे क्या इजहार,
दिन तो कट जाते हैं कट ती नही यह रात.

 *******************************

 बाते ऐसे करो की जज्बात कम ना हो,
ख्याल ऐसे रखो कभी गम ना हो।
दिल मे अपने इतनी जगह दे देना हमे,
कि खाली खाली सा लगे जब हम ना हो।। 

 *******************************

 प्यार करना सिखा है....नफरतो का कोई ठौर नही...
बस तु ही तु है इस दिल मे..... दूसरा कोई और नही.......

 *******************************

 मेरे दोस्त कहते कि तेरे स्टेटस मस्त होते है ,
मेनै कहा जिस पगली के लिये लिखता हू वो है हि इतनी प्यारी...

 *******************************

 कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल..

 *******************************

 अपनी शर्मीली नज़रों से, सुर्ख होंठों से,
हर साँसों को चू लेना.
क्या क्या करे यह दिल अफ़साने बयान आप के,
आप मसीहा-ऐ-इश्क हैं,
यह बन्दा खादिम है सिर्फ़ आप का.

 *******************************

 हमारे दिल में बस तुम्हारी मुरत है ,
मगर उनके दिल में तो मेरे लिए नफरत है ।
फिर भी दुआ और इबादत है
कि खुश रहो तुम यादें तो मेरी जेहन में सलामत है 

 *******************************

 इश्क़की आग अगर तूने लगाई है तो तू भी सुन ले,
हम भी बुझा देंगे इसे इश्कका दरिया बनके...

 *******************************

 उनकी चाहत बन गई दिल की राहत
हर तरफ आती है बस उनकी आहट।
हवाओं में महक आती है बस उनकी
दिल चाहता है बस उनकी मुस्कराहट।। 

 *******************************

 उन लम्हों की यादें ज़रा संभाल के रखना,
जो हमने साथ बिताये थे क्यों की,
हम याद तो आयेंगे मगर लौट कर नहीं !

 *******************************

 सर्द हवा में भी एक अजीब सी कशिशहै..
याद उसी की दिलाती है जिसकी बाहों में गर्माहट आती है..

 *******************************

 अगर तुम न होते तो ग़ज़ल कौन कहता!
तुम्हारे चहरे को कमल कौन कहता!
यह तो करिश्मा है मोहब्बत का!
वरना पत्थर को ताज महल कौन कहता 

 *******************************

 तुम से दुरी का एहसास जब सताने लगा
तेरे साथ गुजरा हर लम्हा याद आने लगा
जब भी कोशिश कि तुम्हें भुलाने की तूं
और भी इस दिल के करीब आने लगा

 *******************************

 गुजर जायेंगी सदियाँ ये जिस्म भी मिट जायेंगे
बाद हमारे मुहब्बत के अल्फाज़ रह जायेंगे
हम तो दीवानें हैं हर पन्ने में गुलाब रखते हैं
धीरे से छूना वरना ख़्वाबों के गुलाब बिखर जायेंगे. 

 *******************************

 पगलीकहते है दिल की बात हर किसी को कही नहीं जाती
अपनों को भी बताई नहीं जाती पर दोस्त तो आईने होते हैं
और आईने से कोई बात छुपाई नहीं जाती 

 *******************************

 रोती हुई आँखो मे इंतेज़ार होता है,
ना चाहते हुए भी प्यार होता है,
क्यू देखते है हम वो सपने, जिनके टूटने पर भी.....
उनके सच होने का इंतेज़ार होता है?…

 *******************************

 मेरी आंखें भी अब तो इतनी मतलबी हो गई हैं कि
तेरे दीदार केबिना दुनिया अच्छी नहीं लगती

 *******************************

 तमन्ना-ए-इश्क़ तो हम भी रखते है,
किसिके दिल मे हम भी धड़कते है,
ना जाने हमे वो कब मिलेंगे,
जिनके लिए हम तड़पते है… 

 *******************************

 वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे!
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे!
दूर से जब इतना याद करते है आपको!
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे...

 *******************************

 चाहत की राह में बिखरे अरमान बहुत है;
हम उसकी याद में परेशान बहुत हैं;
वो हर बार दिल तोड़ता है यह कह कर;
मेरी उम्मीदों के दुनियाँ में अभी मुकाम बहुत हैं।

 *******************************

 नशीली आँखो से जब वो हमें देखा करते है.....
हम घबराकर अपनी आँखे झुका लिया करते है.....
कौन मिलाए उनकी आँखो से आँखे....
सुना है वो नज़रो ही नज़रो मे....
दिल चुरा लिया करते है....

 *******************************

 जबसे तुम हमसे आकर मिलने लगी- दुश्मनी हर किसी से अब होने लगी
दोनों को देखकर लोग हैं जल रहे बस्ती में हर तरफ आग लगने लगी
इतने खतरे उठा दोनों करते हैं प्यार मौत से भी मुहब्बत सी होने लगी
दुनिया होती है क्यूं इश्क से यूं खफा मैंने जब ये कहा तो तू हंसने लगी

 *******************************

 आँखों में काजल लगा के निकली है ,
हसरतें दिल में छुपा के निकली है ,,
हादसा सड़कों पे होना तय है आज ,
वो दाँतों में उँगली दबा के निकली है ,,

 *******************************

 कभी नाम तेरा लबों पर जो आया खुदा जाने मैं क्यों जरा मुस्कुराया
घर से मैं नजरें झुकाए चला था तेरी गली में ही ये सर था उठाया
कली न खिली थी कभी मेरे दिल में गुलाबों को तूने ही मुझमें खिलाया
मुहब्बत का पैगाम मुझको मिला था तेरे खत ने हमको इतना पढ़ाया

 *******************************

  सरे राह जो उनसे नज़र मिली,
तो नक़्श दिल के उभर गए;
हम नज़र मिला कर झिझक गए,
वो नज़र झुका कर चले गए।

 *******************************

 पास जब तक वो नहीं आते हम इलाजे-जिगर नहीं पाते
तेरी तस्वीर चूमता हूं मगर वो नाजुक सी लहर नहीं पाते
है अमावस सी जिंदगी तन्हा कोई माहताब उभर नहीं पाते
कितनी मायूस है मेरी नजर अश्क भी रहगुजर नहीं पाते

 *******************************

 तेरे बिन जिएं हम किस तरह और तू जिएगी किस तरह
उल्फत में जो हम खो चुके वो फिर मिलेगी किस तरह
शम्मे जो लौ से घिर गए कब तक जलेगी किस तरह
मैं तो शुरू से ही नादान हूं पर तू समझेगी किस तरह

 *******************************

 सारी उम्र आंखो मे एक सपना याद रहा;
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा;
ना जाने क्या बात थी उनमे और हममे;
सारी महफ़िल भुल गये बस वह चेहरा याद रहा!

 *******************************

 तेरी आवाज़ तेरे रूप की पहचान है;
तेरे दिल की धड़कन में दिल की जान है;
ना सुनूं जिस दिन तेरी बातें;
लगता है उस रोज़ ये जिस्म बेजान है।

 *******************************

 रात गुम सुम है मगर खामोश नही,
कैसे कह दूँ आज फिर होश नही,
ऐसे डूबा हूँ तेरी आँखों की गहराई में,
हाथ में जाम है मगर पीने का होश नही। 

******************************* 

 देख मेरी आँखों में ख्वाब किसके हैं;
दिल में मेरे सुलगते तूफ़ान किसके हैं;
नहीं गुज़रा कोई आज तक इस रास्ते से हो कर;
फिर ये क़दमों के निशान किसके हैं।

 *******************************

 इस दिल की हर धड़कन का एहसास हो तुम;
तुम क्या जानो हमारे लिए कितने ख़ास हो तुम;
जुदा होकर तुमने हमे मौत से भी बदतर सज़ा दी है;
फिर भी इस तड़पते हुए दिल ने तुम्हें खुश रहने की दुआ दी है।
 
 *******************************

 जादू है उसकी हर एक बात मे,
याद बहुत आती है दिन और रात मे,
कल जब देखा था मैने सपना रात मे,
तब भी उसका ही हाथ था मेरे हाथ मे…

 *******************************

 तुम बिन ज़िंदगी सूनी सी लगती है;
हर पल अधूरी सी लगती है;
अब तो इन साँसों को अपनी साँसों से जोड़ दे;
क्योंकि अब यह ज़िंदगी कुछ पल की मेहमान सी लगती है।

 *******************************

 मैंने अपनी हर एक सांस तुम्हारी गुलाम कर रखी है;
लोगो में ये ज़िन्दगी बदनाम कर रखी है;
अब ये आइना भी किस काम का मेरे;
मैंने तो अपनी परछाई भी तुम्हारे नाम कर रखी है।

 *******************************

 घर से बाहर वो नक़ाब मे निकली;
सारी गली उनकी फिराक मे निकली;
इनकार करते थे वो हमारी मोहब्बत से;
और हमारी ही तस्वीर उनकी किताब से निकली।

 *******************************

 मेरी यादों की सुबह से निखर आये हो अब तुम,
मेरे एहसास की गर्मी से संवर आये हो अब तुम,
जो चाहो भुलाना तुम तब भी होगा न ये मुमकिन
इश्क की हद से आगे जो गुजर आये हो अब तुम !

 *******************************

 उसके साथ रहते रहते हमें चाहत सी हो गई,
उससे बात करते करते हमें आदत सी हो गई,
एक पल भी ना मिले तो नज़रे बेचैन सी रहती है,
दोस्ती निभाते निभाते हमें महोब्बत सी हो गई..

 *******************************

 "हर कोई साथ हो ये जरुरी नहीं होता
जगह तो दिल में बनायीं जाती हैं
पास होकर भी दोस्ती इतनी अटूट नहीं होती
जितनी की दूर रह कर निभाई जाती हैं " 

 *******************************

 जो एक बार दिल में बस जाये उसे हम निकाल नहीं सकते;
जिसे दिल अपना बना ले उसे फिर कभी भुला नहीं सकते;
वो जहाँ भी रहे ऐ खुदा हमेशा खुश रहे;
उनके लिए कितना प्यार है हमें ये कभी हम जता नहीं सकते।

 *******************************

बिन देखे तेरी तस्वीर बना सकते हैं
बिन मिले तेरा हाल बना सकते है
हमारे प्यार में इतना दम है की
तेरे आसूं अपनी ऑख से गिर सकते हैं

 *******************************

 तेरी आँखों में हमे जाने क्या नज़र आया
तेरी यादों का दिल पर सरुर है छाया
अब हमने चाँद को देखना छोड़ दिया
और तेरी तस्वीर को दिल में छुपा लिया!

 *******************************

 नयनों से नैन मिलाकर, महोब्बत का इजहार करूँ
बन कर ओस की बुँदे, जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ
संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी, इश्क के सफर में
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे पे ऐतबार करूँ.

 *******************************

 तेरी कसम देकर पिलाते हैं यार मेरे मैखाने में
बरना आदी तो हम सिर्फ तेरी आँखों के हैं —

 *******************************

 दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे
मुझेकि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..

 *******************************

 दिल की हसरत मेरी ज़ुबान पे आने लगी
तुमने देखा और ये ज़िन्दगी मुस्कुराने लगी
ये इश्क़ के इन्तहा थी या दीवानगी मेरी;
हर सूरत में मुझे सूरत तेरी नज़र आने लगी.....

 *******************************

 दीवानगी मे जब भी कभी,
मेरी आँखों ने अश्क़ बहाए है।
हर लम्हा खुदा को याद किया,
और जेहन में आप नज़र आए है। 

 *******************************

 हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की,
और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की,
शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है,
क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !

 *******************************

 मोहब्बत के अंजाम से डर रहे हैं
निगाहों में अपनी लहू भर रहे हैं
मेरा दिल ले उडा था और कोई
इक हम हैं कि बस शायरी कर रहे हैं.. 

 *******************************

 " अगर किसी दिन रोना आये तो आ जाना मेरे पास !
" हँसने का वादा तो नही करता मगर...रोउंगा जरूर तेरे साथ !

 *******************************

 दिल में तुम्हारे अपनी कमी छोड़ जाएँगे,
आँखों में इंतजार की लकीर छोड़ जाएँगे,
याद रखना मुझे ढूँढते फिरोगे एक दिन,
जिन्दगी में दोस्ती की कहानी छोड़ जाएँगे,

 *******************************

 दिलको दिल से चुराया आपने
दूर होते हुऐ भी अपना बनाया आपने
कभी भूल नहीं पायेगे आपको
क्योंकि याद रखना सिखाया आपने

 *******************************

 तेरे साथ बिताये वो हसीन पल
और तेरी आवाज़ आज भी मेरे
कानो मे गूँजती रहती है,
वो तेरा हर बार कहना कि तुम
सिर्फ मेरे ही हो,
कौन कहता है तू मुझसे दूर है तू
तो मेरी हर सांसों में बसे हो.

 *******************************

 उसका वादा भी अजीब था..
कि जिन्दगी भर साथ निभायेंगे,
मैंने भी ये नहीं पुछा की
मोहब्बत के साथ या यादों के साथ..!! 

 *******************************

 लौट तो आऊ तेरे ख्वाबो के दियारो से,
पर अब ये तो मुमकिन नहीं तू मिल जाय।
तेरे पास होने से दिल को जो सकूं मिलता है,
डर लगता है कि तेरे चले जाने से फिर उभर ना जाय

 *******************************

 काश दिल की आवाज़ में इतना असर हो जाए..
हम याद करें उनको और उन्हें ख़बर हो जाए...

 *******************************

 सिर्फ मैं हाथ थाम सकूँ उसका....
मुझ पे इतनी इबादत सी कर दे..
वो रह ना पाऐ एक पल भी मेरे बिन...
ऐ खुदा तू उसको मेरी आदत सी कर दे... 

 *******************************

 गम ने हसने न दिया,
ज़माने ने रोने न दिया,
ईस उलझन ने चैन से जीने न दिया,
थक के जब सितारोँ से पनह ली,
नीँद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया। 

 *******************************

 मुझे सोने नहीं देते तेरी यादों के घुँघरू ..........
हमेशा बजते रहते हैं मेरी साँसो के साथ-साथ ....


Post a Comment

0 Comments