Special SMS, Latest Special Messages for Mobile

हैं मोरनी सी आंखें, बदन दूध सा ।
नागिन सी जुल्फें, मुखड़ा चांद सा।। *
आवाज में खनक, दिल को सकूॅ दे।
मैं करता हूँ सजदा, तू मुझे प्यार दे।। *
आगे बढ़ चुका हूं, पीछे न लौट पाऊंगा ।
गर मंजिल न मिली, मैं खाख हो जाऊंगा।। *
वक्त का क्या पता, कहाॅ होंगी मुलाकातें ।
चंद दिनों की जिंदगी, कहाॅ होंगी ये बातें ।। *
दुआ है यह मेरी, कि तुम ऐश से रहना ।
इन्तजा इतनी, कभी अलविदा न कहना ।। *

************************

 ईन आँखो की मस्ती के मस्ताने हजारों हैं....!
ईन आँखो से बा बस्ता अफसाने हजारों हैं....!!
इक तुम ही नहीं तन्हाँ उल्फत में मेरी रुसवा...!!!
इस शहर तुम जैसा दीवाने हजारों हैं...!!!!


************************

 दिल से नहीं निकलता जो वो ख्याल हो तुम,
उस खुदा की रचनाओं में बेमिसाल हो तुम।
खुदा से बढ़कर तो नहीं पर कम भी नहीं हो,
जिसमें खुद फँसना चाहें वो ही जाल हो तुम।
गुलाब की पंखुड़ियों सा नाजुक बदन लिए हो,
आईने से पूछ लेना रुप सौंदर्य का ताल हो तुम।
चाँद की चाँदनी का नूर भी तुम्हीं से कायम है,
उगते सूरज की लालिमा से भी लाल हो तुम।


************************

 बरसो कि चाहत को संजोये रक्खा हूँ मै ,
टूट कर चाहा है तुझे झूठ नहीं कहता हूँ मै ]
तुम्हारे प्यार को हमने अपना गरूर समझा ,
इसीलिए तुमपर नाज़ करता रहता हूँ मै ]]
तेरे बज्मे चिरागा में हजारो ख्वाहिशे जलती होंगी ,
कभी आंसू कभी आहे कभी नगमे देखता हूँ मै ]
मेरे प्यार पे एतबार नहीं इसलिए डरती हो ,
क्या तेरी नज़र में एतबार के काबिल लगता नहीं मै 




 पढ़ने को दिल की इबारत,
नही होती लफ़्ज़ों की ज़रूरत !
नज़रें ही काफ़ी हैं पढ़ने को,
ऐसा कोई चेहरा खूब सूरत!!
कोई हल्का सा शिकन भी,
शिकवा भी पता चलता है!
हो जाए अगर तेरी एक,
उड़ती हल्की सी ज़ियारत !!


************************

 फिर तेरे इंतज़ार की इन्तिहाँ हो गई,
फिर तेरे आगोश मैं छिपने का एहसास हुआ...
फिर तेरे पास न होने का दर्द हुआ...
तेरे एहसास और दर्द ने एक अजीब सी..
खोमोशी का रूप ले लिया,
इस खामोश दर्द मैं अक्सर
तेरे एहसास का होना...
फिर अचानक से तुम्हारा दूर जाना..
जहा मैं हूँ तेरी खुश्बू है, तेरा एहसास है..
और तुझे न पाने की कसक...!!


************************

 तुम्हारी चाहत है कि कोई गज़ल लिखूं तुमपर ।
पर शब्द ही नहीं होठो पे होते कभी मयस्सर ॥
देख कर तुमको दिल में अजीब सा होता है ।
तुम्हारे लिये कोई गज़ल लिखने को दिल करता है ॥
ये दिल बड़ा अजीब है कुछ भी समझ पाता नहीं ।
तुम्हारी याद आते ही कूछ भी याद रहता नहीं ॥
जब तुम हँसती हो लजाती और शरमाती हो ।
घटाएँ प्रेम की मेरे बंजर से दिल पे बरसाती हो ॥
कहने को है बहुत मगर होंठ जुम्बिश कर जाते है ।
तुम्हारी याद आते ही न जाने क्यों मौन हो जाते है ॥


************************

 मत पूछो ये मुझसे कि कब याद आते हो ..?
जब जब सांसें चलती है बहुत याद आते हो ...!!
नींद में पलकें होती है जब भी भारी..!!
बन के ख्वाब बार बार नजर आते हो ..!!
महफ़िल में शामिल होते है हम जब भी ..!!
भीड़ में तन्हाईयों में हर बार नजर आते हो ..!!
जब भी सोचा के फासला रखूँ मैं तुमसे ..!!
जिंदगी बन के साँसों में समा जाते हो ..!!
खुद को तूफान बनाने की कोशिश तो की ..!!
बन के साहिल अपने आगोश में समा जाते हो ..!!
चाहा ना था मैंने इसे पहेली में उलझाना ..!!
हर उलझन का जवाब बन के उभर आते हो ..!!
तुम्हारी कसम बहुत बहुत याद आते हो ..!!
अब ना पूछना मुझसे कि कब कब याद आते हो ..!!


************************

 इश्क है मेरा , कोई दगा नहीं
इस तरहा से दिल मेरा, कभी लगा नहीं
लिखी थी कवितायेँ ,
संजोये थे कई सपने
मिलेगी कोई शह्जादी ख्वाबों की
सुनाता जिसे अरमान अपने
मुद्दतों से तलाश में हूँ मगर,
इस तरह से अपना कोई लगा नहीं
इश्क है मेरा , कोई दगा नहीं
इस तरहा से दिल मेरा, कभी लगा नहीं


************************

 खुद को इतना भी मत बचाया कर, बारिशें हो तो भीग जाया कर।
चाँद लाकर कोई नहीं देगा, अपने चेहरे से जगमगाया कर।
दर्द हीरा है, दर्द मोती है, दर्द आँखों से मत बहाया कर।
काम ले कुछ हसीन होंठो से, बातों-बातों मे मुस्कुराया कर।
धूप मायूस लौट जाती है, छत पे किसी बहाने आया कर।
कौन कहता है दिल मिलाने को, कम-से-कम हाथ तो मिलाया कर।
  बशीर बद्र


************************

 Zara si dil mein de jagah tu
Zara sa apna le bana
Zara sa khwabon mein saja tu
Zara sa yaadon mein basa
Main chahun tujhko
Meri jaan bepanah
Fida hoon tujhpe
Meri jaan bepanah......


************************

 क्या संध्या बिनडी ‪#‎धोनी‬ से भारत क्रिकेट टीम की हार का जवाब लेगी?
जानने के लिए देखें ' भाभी जी घर पर है ' ‪#‎IndvsNz‬


************************

 भारत को 127 रन का लक्ष्य और
इसी के साथ ‪#‎धोनी‬ अब 121 पे जाके छः रन बनायेंगे.. 


************************

 अरे संभल जाओ ‪#‎धोनी‬ और छोड़ो यह रिबाइटल का एड दिखाना ।
युवराज संभल गया और टीम में वापसी हो गई और हाँ रही बात सलमान खान की तो उन्हें रिटेक का मौका मिलता है पर आप लोगों को नहीं ।
समझे !!!!


************************

  जिनको अब भी लगता है कि ‪#‎धोनी‬ मैच जीता देगा.,
तो मेरे ‪#‎भाई‬ वो MSD है, ‪#‎सिरसा‬ वाला MSG नहीं।


************************

 तू किया सोचती है मर जायेगे हम तेरी याद मै...
अरे पगली इतने तूने लड़के नही देखे होंगे...
जितनी मैने लड़किया पटा कर छोड़ दी है!!


************************

 Teri khushi na ho shamil tou phir khushi kya hai.
Tere bagair jo guzaray wo zindagi kya hai..
Kaayi sadi my tere pyaar p nisaar karo..
Jab tak my jiyo tera intezaar karo..
Tujhe my pyaar karo aur itna pyaar karo..!!


************************

 मोत भी दो कदम पीछे चलती है
क्यूंकि उसको भी पता है " #Boss." अपनी
मरजी से Jita_है..!


************************

 मिल सके आसानी से , उसकी ख्वाहिश किसे है?
ज़िद तो उसकी है ... जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं!!!!!


************************

 "दर्द में भी जो हँसना चाहो, तो हँस पाओगे "
" टूटे फूलों को भी पानी में डालो,तो उनमें भी महक पाओगे "
" ज़िंदगी किसी ठहराव में, कहीं रुकती नहीं "
" हिम्मत जो करोगे तो मंज़िल खुद-ब-खुद पा जाओगे।


************************

 भुला दो बीता हुआ कल
दिल मे बसाओ आने वाला कल
हंसो और हंसाओ चाहे जो भी पल
खुशियाँ लेकर आएगा आने वाला कल


************************

 बुझने लगी हों आँखें तेरी, चाहे थमने लगे रफ़्तार;
उखड़ने लगी हों साँसे तेरी,दिल करता हो चित्कार;
दोष विधाता को ना देना,बस मन में रखना तुम अपने आस;
विजयी बनता है वही, जिसके पास हो आत्मविश्वास।


************************

 हमने बहाने से, छुपके ज़माने से
पलकों के परदे में घर भर लिया
तेरा सहारा मिल गया है ज़िन्दगी
ऐ ज़िन्दगी गले लगा ले...


************************

 Waqt Se Lad Kar Jo Apna Naseeb Badal De,
Insaan Wahi Jo Apni Taqdeer Badal De,
Kal Kya Hoga Kabhi Naa Socho,
Kya Pata Kal Waqt Khud Apni Lakeer Badal de.


************************

 बस यही सोच कर, हर मुश्किल से लड़ता रहा हूँ ..
धूप कितनी भी तेज़ हो, समन्दर नहीं सूखा करते..


************************

 धीरे धीरे से मेरे ‘जिन्दगी’ मे आना,
धीरे धीरे से 'दिल' को चुराना,
तुमसे 'प्यार' हमे है' कितना' जाने जाना
, तुमसे मिलकर 'तुमको' है, बताना


************************

 किसी की मुस्कराहटों पे हो निसार,
किसी का दर्द मिल सके तो लो उधार,
किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार,
जीना इसी का नाम है ।


************************

 नहीं मिलती ख़ुशी हर वक्त मेरे दोस्त....
गर कभी मिले गम,
तो उन हसीं पल को याद कर के मुस्कुरा देना.....!!"


************************

 इस दुनिया में अच्छे लोगो का ही बहुमत है,
ऐसा अगर न होता तो ये संसार नहीं होता,
कितने ही अच्छे हो कागज पानी के रिश्ते,
कागज की नावों से दरिया पार नहीं होता,


************************

 लोग केहेते है कि तू Attitude बडा दिखाता है,
अब देख भाई भगवान की देन है, छुपाऊँगा थोडी...


************************

 जिस दिन आपने अपनी सोच बड़ी करली साहेब,
उस दिन से
बड़े बड़े लोग आपके बारे सोचना शुरु कर देंगे...!!


************************

 खोता कुछ भी नहीं यहाँ पर
केवल जिल्द बदलती पोथी
जैसे रात उतार चांदनी
पहने सुबह धूप की धोती
वस्त्र बदलकर आने वालों! चाल बदलकर जाने वालों!
चन्द खिलौनों के खोने से बचपन नहीं मरा करता है।


************************

 हे मेरे मन ....
कुछ करना है, तो डट कर थोड़ा दुनियाँ से, हट कर ....
सीधे रास्ते पर तो सभी चलते हैं तू चल इतिहास को पलट कर ....
बिना काम के, मुकाम कैसा !!?? बिना मेहनत के, दाम कैसा !!??
जब तक ना हासिल हो मंजिल तो राह में आराम कैसा !!??
अर्जुन सा अचूक निशाना रख जो ठाना वो कर, ना कोई बहाना रख ....
तेरा लक्ष्य बस सामने ही है बस उसी पे, अपना ठिकाना रख ....
सोच मत सपने साकार कर अपने कर्मो से, प्रेमिका सा प्यार कर ....
मिलेगा तेरी मेहनत का फल किसी और का मत इंतज़ार कर ....
जो कभी चले थे अकेले इतिहास में उनके पीछे, आज लोगों के मेले हैं ....
जो करते रहे इंतज़ार भाग्य का उनकी जिंदगी में बहुत से झमेले हैं ....
कुछ करना है, तो डट कर थोड़ा दुनियां से हट कर ....
मेहनत कर और थोड़ा जोर लगा और तू चल, इतिहास को पलट कर...


************************

 वो कोई और चिराग होते हैं जो हवाओं से बुझ जाते हैं...
हमने तो जलने का हुनर भी तूफ़ानों से सीखा है..!!


************************

 हर इंसान मे सबसे अधिक अच्छा होने की सारी प्रतिभाएँ छिपी रहती है, पर हमारा निजी स्वार्थ व अहंकार ही हमें आगे बढ़ने से रोका करता है।
जब अहंकार टुट जाए और स्वार्थ बिखर जाए फिर हमारी प्रतिभा को दुनिया खुद पहचान कर बाहर लाती है।


************************

 जो सफर की शुरुआत करते हैं,
वे मंजिल भी पा लेते हैं.
बस, एक बार चलने का
हौसला रखना जरुरी है.
क्योंकि, अच्छे इंसानों का तो
रास्ते भी इन्तजार करते हैं..


************************

धीरे धीरे से मेरे जिंदगी मे आना .....
धीरे धीरे से दिल को चुराऩा ......
तुमसे प्यार हमे है कीतना जानेजाना.........
तुमको मीलके तुमको है बताना........


************************

 हमेशा उन्ही के करीब मत रहिये ,
जो आपको खुश रखते हे
बल्कि कभी उनके भी करीब जाइये ,
जो आपके बिना खुश नही रहते हे !! 


************************

 Khwaish aisi karo ki aasman tak ja sako,
Dua aisi karo ki khuda ko bhi pa sako,
Yun to jeene ke liye pal bahut kam hain,
Par jiyo aise ki har pal mein zindgi pa sako..!


************************

 humko humin se churalo
dil mein kahin tum chhupalo
hum akele kho na jaayein
door tumse ho na jaayein
paas aao gale se lagalo


************************

 जो ताला चाबी को एक ओर घुमाने से बंद होता है, वही दूसरी ओर घुमाने से खुल भी जाता है ! हम अपने विचार , वाणी और व्यवहार को इस तरह घुमाएँ कि रिश्तों के बंद पडे़ ताले फिर से खुल जाए।


************************

  वक्त ने तन्हा कर डाला तो गम ना कर
खुद को दोस्त बना ले खुद से बाते कर
ये दिन भी इक रोज गुजर ही जायेंगे
यूँ छोटी छोटी बातों से आँखे नम ना कर!


************************

  वे हाथ किस काम के
जो प्रार्थना के समय भगवान की ओर उठाऐ जाते हैं और
किसी की मदद के समय बगल में छिपा लिऐ जाते हैं.."


************************

 "जो मुस्कुरा रहा है, उसे दर्द ने पाला होगा...,
जो चल रहा है, उसके पाँव में छाला होगा...,
बिना संघर्ष के इन्सान चमक नही सकता, यारों...,
जो जलेगा उसी दिये में तो, उजाला होगा...


************************

 झूला जितना पीछे जाता है, उतना ही आगे आता है।
एकदम बराबर...
सुख और दुख दोनों ही जीवन में बराबर आते हैं।
जिंदगी का झूला पीछे जाए, तो डरो मत, वह आगे भी आएगा। 


************************

 ” जरुरत के मुताबिक “जिंदगी” जिओ – “ख्वाहिश”….. के
मुताबिक नहीं………
क्योंकि ‘जरुरत’
तो ‘फकीरों’ की भी ‘पूरी’ हो जाती है, और
‘ख्वाहिशें’….. ‘बादशाहों ‘ की भी “अधूरी” रह जाती है”…..


************************

 प्रतिभा ईश्वर से मिलती है,आभारी रहें,
ख्याति समाज से मिलती है,आभारी रहें,
लेकिन मनोवृत्ति और घमंड स्वयं से मिलते हैं,
सावधान रहें।


************************

 मौका था बातें बताने का,
टूटा आईना दिखाने का,
फुर्सत ना पायी कभी रोने की,
मेंरा पेशा था हसाने का,
दास्ताँ ख़ूबां की कहें ना कोई,
इल्जाम पाया दिल जलाने का,
ना थी तवक़्क़ो ये हश्र की,
हस हस के रोना जताने का,
फुर्सत ना पायी जिगर रोंदने की,
पेशा था वादा निभाने का,
तेरी अज़मत ले मुझे आयी है,
होगा इंतजाम दिल बसाने का !!
नीशीत जोशी 


************************

 आँखों की नमी, हाँ तेरी मेहरबानी है
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे, ऐसी कहानी है
आँचल जो उड़ा, हाँ तेरी मेहरबानी है
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे, ऐसी कहानी है


************************

 Har kamyabi pe apka nam hoga,
apke har kadam pe duniya ka salam hoga,
mushkilo ka samna himmat se karna,
dua hai ek din waqt bhi apka gulam hoga...


************************

 जो सरफिरे होते है ।।इतिहास वही लिखते है
समझदार लोग तो सिर्फ उनके बारे में पढते हैं।।
परख अगर हीरे की करनी है तो अंधेँरे का इन्तजार करो
वरना धूप मे तो काँच के टुकडे भी चमकते है"


************************

 मौन और मुस्कुराहट मेरा आभूषण हे ।
संसार का चक्र तो ऐसे ही चलता रहेगा।
मेने मुस्कुराकर हर क्षण को स्वीकार करना सीख लिया हे।
तो एक दिन मेरी जीत पक्की है।


************************

 एक कागज का टुकड़ा गवर्नर के हस्ताक्षर से नोट बन जाता है,
जिसे तोड़ने, मरोडने, गंदा होने एवँ जज॔र होने से भी उसकी कीमत कम नहीं होती...
ठीक ऊसी तरह आप भी ईश्वर के हस्ताक्षर है,
जब तक आप ना चाहे आपकी कीमत कम नहीं हो सकती,
आप अनमोल है ,
अपनी कीमत पहचानिये...!!!"


************************

 अपमान करना किसी के स्वभाव में हो सकता है....
पर सन्मान करना हमारे संस्कार में होना चाहिए....


************************

 "गलती उसी इंसान से होती है, जो काम करता है..
काम न करने वाले सिर्फ गलती ढूंढते है..!!!"


************************

उलझनों और कश्मकश में..
उम्मीद की ढाल लिए बैठा हूँ..
ए जिंदगी! तेरी हर चाल के लिए..
मैं दो चाल लिए बैठा हूँ |
लुत्फ़ उठा रहा हूँ मैं भी आँख - मिचोली का ...
मिलेगी कामयाबी, हौसला कमाल का लिए बैठा हूँ l
चल मान लिया.. दो-चार दिन नहीं मेरे मुताबिक..
गिरेबान में अपने, ये सुनहरा साल लिए बैठा हूँ l
ये गहराइयां, ये लहरें, ये तूफां, तुम्हे मुबारक ...
मुझे क्या फ़िक्र.., मैं कश्तीया और दोस्त... बेमिसाल लिए बैठा हूँ...


************************

मुश्किल वक़्त का सबसे
बड़ा सहारा है उम्मीद
जो एक प्यारी सी
मुस्कान देकर कानों में
धीरे से कहती है,
सब अच्छा होगा...
जय श्री कृष्णा...


************************

 मूर्ति बेचने वाले गरीब कलाकार के लिए
किसी ने क्या खूब लिखा है..!!
गरीबो के बच्चे भी खाना खा सके
त्योहारों में,
इसिलिये भगवान खुद बिक जाते है
बाजारों में..!!


************************

 Mujh Ko Pagal Bana Gaye Aansoo
Jaane Kiaa Kia Suna Gaye Aansoo
Koi Roya Tha Hichkion Se Bohut
Aur Kisi Ko Hansaa Gaye Aansoo
Bat Kehne Ki Jab Bhi Koshish Ki
Lab Khule The K Aa Gaye Aansoo
Thapkiaan Jaise De Raha Ho Koi
Behte Behte Sulaa Gaye Aansoo
Nanhe Hathon Ne Thamnaa Seekhaa
Maan Ki Aaankhon Main Aaa Gaye Aansoo




Post a Comment

0 Comments