Love SMS , Hindi SMS Jokes, Shayari, New Love SMS ...

दिन हुआ है तो रात भी होगी,
हो मत उदास, कभी बात भी होगी,
इतने प्यार से दोस्ती की है,
जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी..

**********************

 गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जब सितारों से पनाह ली!
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!

 **********************

 याद करते है तुम्हे तनहाई में,
दिल डूबा है गमो की गहराई में,
हमें मत धुन्ड़ना दुनिया की भीड़ में,
हम मिलेंगे में तुम्हे तुम्हारी परछाई में.

 **********************

 तेरी आवाज़ तेरे रूप की पहचान है,
तेरे दिल की धड़कन में दिल की जान है,
ना सुनूं जिस दिन तेरी बातें,
लगता है उस रोज़ ये जिस्म बेजान है।


 किसी की यादो को रोक पाना मुश्किल है
रोते हुए दिल को मनाना मुश्किल है
ये दिल अपनो को कितना याद करता है
ये कुछ लफ्जो में बयाँ कर पाना मुश्किल है

 **********************

 अब तो बस तेरी यादों का सहारा है,
कोई मंजिल नहीं तू ही एक किनारा है,
हो सके तो मेरे खयालो मैं आना मेरे हमदम,
मरने के बाद बस तू ही एक सहारा है..

 **********************

 तेरी यादं का चंदन जब से मला हे तन पे
मेरी आस्तीन मे कितने साप पल गये
तुझे नज़र भर के देखना मेरा गुनहां था
इश्क की आँच से मेरे सारे हाथ जल गये

 **********************

 मेरी यादें मेरा चेहरा मेरी बातें रुलायेंगी,
हिज़्र के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,
दिनों को तो चलो तुम काट भी लोगे फसानों मे,
जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हे रातें रुलायेंगी|

 **********************

 हर सागर के दो किनारे होते है,
कुछ लोग जान से भी प्यारे होते है,
ये ज़रूरी नहीं हर कोई पास हो,
क्योंकी जिंदगी में.. यादों के भी सहारे होते है

 **********************

 एक अजीब दास्तान है मेरे अफसाने की..
मैने पल पल कोशिश उसके की पास जाने की,
किस्मत थी मेरी या साजिश थी ज़माने की,
दूर हुई मुझसे इतना जितनी उमीद थी करीब आने की.

********************** 

 इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है,
बड़ी मुस्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो,
पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है!

 **********************

 रात का चाँद आसमान में निकल आया है.
साथ में तारों की बारात लय है.
ज़रा आसमान की ओर देखो वो आपको..
मेरी और से गुड नाईट कहने आया है.

 **********************

 तेरे दिल की धड़कन में दिल की जान है,
ना सुनूं जिस दिन तेरी बातें,
लगता है उस रोज़ ये जिस्म बेजान है।

 **********************

 याद करते है तुम्हे तनहाई में,
दिल डूबा है गमो की गहराई में,
हमें मत धुन्ड़ना दुनिया की भीड़ में,
हम मिलेंगे में तुम्हे तुम्हारी परछाई में.

 **********************

 गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जब सितारों से पनाह ली!
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!

 **********************

 आपसे दूर रेहके भी आपको याद किया हमने,
रिश्तों का हर फ़र्ज़ अदा किया हमने,
मत सोचना की आपको भुला दिया हमने,
आज फिर सोने से पहले आपको याद किया हमने.

 **********************

 कब उनकी पलकों से इज़हार होगा,
दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा,
गुज़र रही है रात उनकी यादो में,
कभी उनको भी हमारा इंतज़ार होगा..

 **********************

 वो नहीं आती पर निशानी भेज देती है
ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है
कितने मीठे हे उसकी यादो के मंज़र।
कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है!!

 **********************

 कुछ खूबसूरत पल याद आते हैं,
पलकों पर आँसु छोड जाते हैं,
कल कोई और मिले हमें न भुलना
क्योंकि कुछ रिश्ते जिन्दगी भर याद आते हैं|

 **********************

 दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..

 **********************

 आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है

 **********************

 दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये।

 **********************

 आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की……!!
लम्हें तो अपने आप ही मिल जाते हैं,
कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को,
याद वही आते है जो उड़ जाते है…!!

 **********************

 आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया,
क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया,
न करती वफ़ा न मिलती ये सज़ा,
शायद मेरी वफ़ा ने ही तुझे बेवफा बना दिया।

 **********************

 वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं;
कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं;
दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद;
वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं।

 **********************

आपसे दूर रेहके भी आपको याद किया हमने,
रिश्तों का हर फ़र्ज़ अदा किया हमने,
मत सोचना की आपको भुला दिया हमने,
आज फिर सोने से पहले आपको याद किया हमने.

 **********************

 तेरी याद में ज़रा आँखें भिगो लूँ;
उदास रात की तन्हाई में सो लूँ;
अकेले ग़म का बोझ अब संभलता नहीं;
अगर तू मिल जाये तो तुझसे लिपट कर रो लूँ।

 **********************

 फूलों की याद आती है काँटों को छूने पर
रिश्तों की समझ आती है फासलों पे रहने पर
कुछ जज़्बात ऐसे भी होते हैं जो आँखों से बयां नहीं होते
वो तो महसूस होते हैं ज़ुबान से कहने पर।

 **********************

 दुःख में ख़ुशी की वजह बनती है मोहब्बत
दर्द में यादों की वजह बनती है मोहब्बत
जब कुछ भी अच्छा ना लगे हमें दुनिया में
तब हमारे जीने की वजह बनती है मोहब्बत।

 **********************

 दिल के लुट जाने का इज़हार ज़रूरी तो नहीं
यह तमाशा सरे बाजार ज़रूरी तो नहीं
मुझे था इश्क़ तेरी रूह से और अब भी है
जिस्म से कोई सरोकार ज़रूरी तो नहीं।

 **********************

 मैं तेरे प्यार में इतना ग़ुम होने लगा हूँ
जहाँ भी जाऊं बस तुम्हें ही सामने पाने लगा हूँ
हालात यह हैं कि हर चेहरे में तू ही तू दिखता है
ऐ मेरे खुदा अब तो मैं खुद को भी भुलाने लगा हूँ।

 **********************

 इश्क़ फिर वो रंग लाया है कि जी जाने है
दिल का ये रंग बनाया है कि जी जाने है
नाज़ उठाने में जफ़ाएं तो उठाई लेकिन
लुत्फ़ भी ऐसा उठाया है कि जी जाने है।

 **********************

 अपने घर की खिड़की से मैं आसमान को देखूँगा
जिस पर तेरा नाम लिखा है उस तारे को ढूँढूँगा
तुम भी हर शब दिया जला कर पलकों की दहलीज़ पर रखना
मैं भी रोज़ एक ख़्वाब तुम्हारे शहर की जानिब भेजूँगा।

 **********************

 सीने में दिल तो हर एक के होता है
लेकिन हर एक दिल में प्यार नहीं होता
प्यार करने के लिए तो दिल होता है
दिल में छुपाने के लिए प्यार नहीं होता।

 **********************

 दूरियों की ना परवाह कीजिये
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये।

 **********************

 कैसे कहूँ कि अपना बना लो मुझे
बाहों में अपनी समा लो मुझे
बिन तुम्हारे एक पल भी कटता नहीं
आ कर एक बार मुझ से चुरा लो मुझे।

 **********************

 कब तक वो मेरा होने से इंकार करेगा
खुद टूट कर वो एक दिन मुझसे प्यार करेगा
इश्क़ की आग में उसको इतना जला देंगे
कि इज़हार वो मुझसे सर-ए-बाजार करेगा।

 **********************

 मुझे भी अब नींद की तलब नहीं रही
अब रातों को जागना अच्छा लगता है
मुझे नहीं मालूम वो मेरी किस्मत में है या नहीं
मगर उसे खुदा से माँगना अच्छा लगता है।

 **********************

 इश्क़ में हर लम्हा ख़ुशी का एहसास बन जाता है
दीदार-ए-यार भी खुदा का दीदार बन जाता है
जब होता है नशा मोहब्बत का
तो अक्सर आईना भी ख्वाब बन जाता है।

 **********************

 यूँ नज़रों से आपने बात की और दिल चुरा ले गए
हम तो समझे थे अजनबी आपको
पर दे कर बस एक मुस्कुराहट अपनी
आप तो हमें अपना बना गए।

 **********************

 रूठी हो अगर ज़िंदगी तो मना लेंगे हम
मिले जो गम अगर वो भी सह लेंगे हम
बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो
निकलते हुए आँसुओं में भी मुस्कुरा लेंगे हम।

********************** 

 महोब्बत और नफरत सब मिल चुके हैं
मुझे मैं अब तकरीबन मुकम्मल हो चोका हूँ

 **********************

 रेत पर नाम कभी लिखते नहीं
रेत पर नाम कभी टिकते नहीं
लोग कहते है कि हम पत्थर दिल हैं
लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं

 **********************

 माना आज उन्हें हमारा कोई ख़याल नहीं
जवाब देने को हम राज़ी है
पर कोई सवाल नहीं
पूछो उनके दिल से क्या हम उनके यार नहीं
क्या हमसे मिलने को वो बेकरार नहीं

 **********************

 आज असमान के तारों ने मुझे पूछ लिया
क्या तुम्हें अब भी इंतज़ार है उसके लौट आने का
मैंने मुस्कुराकर कहा
तुम लौट आने की बात करते हो
मुझे तो अब भी यकीन नहीं उसके जाने का

 **********************

प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता
ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता
दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की
उसके बिना जिया नहीं जा सकता

 **********************

 मोहब्बत ऐसी थी कि उनको दिखाई न दी
चोट दिल पर थी इसलिए दिखाई न गयी
चाहते नहीं थे उनसे दूर होना पर
दुरिया इतनी थी कि मिटाई न गयी 

 **********************

 उदास नहीं होना
क्योंकि मैं साथ हूँ
सामने न सही पर आस-पास हूँ
पल्को को बंद कर जब भी दिल में देखोगे
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ

 **********************

 मेरे इश्क ने सीख ली है
अब वक़्त की तकसीम...
वो मुझे बहुत कम याद आता है
सिर्फ इतना - दिल की
हर एक धड़कन के साथ

 **********************

 उनके आने के इंतज़ार में हमनें
सारे रास्ते दिएँ से जलाकर रोशन कर दिए
उन्होंने सोचा कि मिलने का वादा तो रात का था
वो सुबह समझ कर वापस चल दिए। 

 **********************

 तमाम नींदें गिरवी हैं हमारी उसके पास
जिससे ज़रा सी मुहब्बत की थी हमनें

 **********************

 तुम मुझे मौका तो दो ऐतबार बनाने का
थक जाओगे मेरी वफाओं के साथ चलते चलते

 **********************

 दिल की धड़कन और मेरी सदा है वो
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है वो
चाहा है उसे चाहत से बड़ कर
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है वो





Post a Comment

0 Comments