Love Shayari in Hindi Best Love Sms for GF BF

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं
लोग दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग..

 ***************************

 जिसके लिए तोड़ दी मेंने सारी सरहदें..
आज उसी ने कह दिय ज़रा हद में रहा करो

 ***************************

 क़ानून तो सिर्फ बुरे लोगों के लिए होता है....
अच्छे लोग तो शर्म से ही मर जाते हैं...!!

 ***************************

 बेगाना हमने नहीं किया किसी को,
जिसका दिल भरता गया वो हमें छोड़ता गया।



  ना कोई एहसास हैं, ना कोई जज्बात हैं;
बस एक रूह हैं, और कुछ अनकहे अल्फाज हैं।

 ***************************

 परछाइयों के शहर की तन्हाईयाँ ना पूछ;
अपना शरीक-ए-ग़म कोई अपने सिवा ना था।

 ***************************

 अपना ही समझते हैं तुम्हें दिल-ओ-जाना हम तुम्हें;
दुश्मनों को तो कभी दिल में बसाया नहीं जाता।

 ***************************

 क्यों हिज्र के शिकवे करता है
क्यों दर्द के रोने रोता है;
अब इश्क़ किया तो सब्र भी
कर इस में तो यही कुछ होता है

 ***************************

 सब का तो मुदावा कर डाला अपना ही मुदावा कर न सके;
सब के तो गिरेबाँ सी डाले अपना ही गिरेबाँ भूल गए।

 ***************************

 छुपे हैं लाख हक़ के मरहले गुम-नाम होंटों पर;
उसी की बात चल जाती है जिस का नाम चलता है।

 ***************************

 लोग बेवजह ढूँढते हैँ खुदखुशी के तरीके हजार;
इश्क करके क्यों नहीँ देख लेते वो एक बार।

 ***************************

 इतनी सी बात थी जो समन्दर को खल गई...
का़ग़ज़ की नाव कैसे भँवर से निकल गई.....

 ***************************

 इश्क करते है तुमसे इसलिए खामोश है अबतक,,,
खुदा न करे मेरे लब खुले और तुम बर्बाद हो जाओ.....

 ***************************

 तन्हाई मे मुस्कुराना भी इश्क़ है,
इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है,
यूँ तो रातों को नींद नही आती
पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है

 ***************************

 थोडे अोले इस दिल में भी बरसा दे ए मालिक..
उसकी यादों की फसल अब भी खड़ी है यहाँ..!!

 ***************************

 अब की बार मिलोगे तो खूब रुलायेंगे तुम्हे.
सुना है तुम्हे रोने के बाद सीने
से लिपट जाने की आदत है...!!

 ***************************

 एक वो है जो समझता नही,
और यहाँ जमाना मेरी कलम पढ़
कर दीवाना हुआ जा रहा है

 ***************************

 अगर लिखना चाहे कुछ उन पर!
आखो पर ही दुनिया के कलम खत्म हो जाये !!

 ***************************

 जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है .
रात होती है तो आँखों में उतर आता है ...!
मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं .
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है..!!!

 ***************************

 इतनी हिम्मत तो नहीं किसी को हाल –ये –दिल सुना सके ,
बस जिसके लिये उदास है बो महसूस करे तो काफी है ...!!!

 ***************************

 अब जिस के जी में आये वही पाये रौशनी;
हम ने तो दिल जला कर सरेआम रख दिया।

 ***************************

 उंगलिया आज भी इस सोच में गुम है
उसने कैसे नए हाथ को थामा होगा..

 ***************************

 तेरी मजबूरियां भी होगी चलो मान लेते हैं
मगर तेरा वादा भी था मुझे याद रखने का
 
 ***************************

 गलती उनकी नही कसूरवार मेरी गरीबी
थी दोस्तों हम अपनी औकात
भूलकर बड़े लोगों से दिल लगा बैठे

 ***************************

  कमी तेरे नसीबों में रही होगी,
कि तू मेरी ना हुई,
मैने तो कोशिश बहुत की,
तुझे अपना बनाने की…

 ***************************

 ताला लगा दिया दिल को…..
अब तेरे बिन किसी का अरमान नहीं …..
बंद होकर फिर खुल जाए…..
ये कोई दुकान नही

 ***************************

  सवर रही है….अब वो ….
किसी और के लिए…….
पर मैं….
बिखर रहा हूँ …..
आज भी उसी के लिए

 ***************************

 तलाश सिर्फ सुकून कि होती हैं
नाम रिश्ते का चाहे जो भी हो

 ***************************

 मरने के नाम से जो रखते थे मुँह पे उँगलियाँ …..
अफ़सोस वही लोग मेरे दिल के क़ातिल निकले…..

 ***************************

 ढूंढ तो लेते अपने प्यार को हम,
शहर में भीड़ इतनी भी न थी..
पर रोक दी तलाश हमने,
क्योंकि वो खोये नहीं थे, बदल गये थे

 ***************************

 मुझे भी थी उसे लेकिन क्या फायदा ऐसी चाह का,
जो चाहकर भी ना बन सके मेरी चाह

 ***************************

 आज कल वो हमसे डिजिटल नफरत करते हैं,
हमें ऑनलाइन देखते ही ऑफलाइन हो जाते हैं.

 ***************************

 हमारी चर्चा छोडो दोस्तों,
हम ऐसे लोग है जिन्हें,
नफरत कुछ नहीं कहती
और मोहब्बत मार डालती है…

 ***************************

 प्यार करना हर किसी के बस की बात नहीं … 
जिगर चाहिए अपनी ही खुशियां बर्बाद करने के लिए।

 ***************************

 जाऊँ तो कहा जाऊँ इस तंग दिल दुनिया में,
हर शख्स मजहब पूछ के आस्तीन चढ़ा लेता है...!

 ***************************

 दिल से हर दुआ ये ही निकलती है ....
कि आप का कुछ अच्छा हो जाए ......

 ***************************

 जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है .
रात होती है तो आँखों में उतर आता है ...!
मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं .
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है..!!!

 ***************************

 इतनी हिम्मत तो नहीं किसी
को हाल –ये –दिल सुना सके ,
बस जिसके लिये उदास है
बो महसूस करे तो काफी है 

 ***************************

 फासले ऐसे भी होगे ये कभी सोचा न था !
सामने बैठे थे मेरे पर वो मेरा न था

 ***************************

 मेरी तकमील में शामिल है तेरा हिसा भी ,
में अगर तुझ से ना मिलता तो अधूर ही रहता 

 ***************************

 हाल यह है के तेरी याद में गम हूँ !!!
सब को मेरी और मझे को तेरी पड़ी रहती है 

 ***************************

 ना आवाज हुई, ना तमाशा हुआ….
बड़ी ख़ामोशी से टूट गया,
एक “भरोसा” जो तुझ पर था 

 ***************************

 दर्द सहते सहते इंसान सिर्फ
हसना नहीं रोना भी छोड़ देता है 

 ***************************

 मुहब्बत न सही मुकद्दमा ही कर दो मुझ पर......
तारीख़ दर तारीख़ तेरा दीदार तो होगा...

 ***************************

 चाहत देस से आनेवाले ये
तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं,
यार के मौसम कैसे हैं ...

 ***************************

 मुझे भी शामिल करो गुनहगारों की महफ़िल में ,
मैं भी क़ातिल हूँ अपनी हसरतों का ,
मैंने भी अपनी ख्वाहिशों को मारा है।

 ***************************

 खुल जाता है तेरी यादों का बाजार सुबह सुबह
और हम उसी रौनक में पूरा दिन गुजार देते है..

 ***************************

 बड़ी अजीब सी मोहब्बत थी तुम्हारी……
पहले पागल किया..
फिर पागल कहा..
फिर पागल समझ कर छोड़ दिया

 ***************************

 न समझ मैं भूल गया हूँ तुझे,
तेरी खुशबू मेरे सांसो में आज भी हैं ।
मजबूरियों ने निभाने न दी मोहब्बत,
सच्चाई मेरी वफाओ में आज भी हैं ।

 ***************************

 परछाई आपकी हमारे दिल में है,
यादे आपकी हमारी आँखों में है,
कैसे भुलाये हम आपको,
प्यार आपका हमारी साँसों में है.

 ***************************

 इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है!

 ***************************

 आ जाओ लहराती इठलाती हुई,
तुम इन हवाओं की तरह!
मौसम ये बहुत बेदर्द है,
तुझे मेरे दिल से पुकारा है!!

 ***************************

 अक्सर ठहर कर देखता हूँ
अपने पैरों के निशान को,
वो भी अधूरे लगते हैं…
तेरे साथ के बिना।

 ***************************

 अभी कमसिन हैं जिदें भी हैं निराली उनकी,
इसपे मचले हैं हम कि दर्द-ए-जिगर देखेंगे।

 ***************************

 तेरी आँखों में जब से मैंने अपना अक्स देखा है,
मेरे चेहरे को कोई आइना अच्छा नहीं लगता।

 ***************************

 वादो से बंधी जंजीर थी जो तोड दी मैँने,
अब से जल्दी सोया करेंगे ,
मोहब्बत छोड दी मैँने….

 ***************************

 उस इश्क़ की आग मेरे दिल
को आज भी जलाया करती है,
जुदा हुए तो क्या हुआ ये आँख
आज भी उनका इंतज़ार करती है।

 ***************************

 किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इन्तजार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूँढता है खामोशी से तुझे।

 ***************************

 कुछ रोज़ यह भी रंग रहा तेरे इंतज़ार का,
आँख उठ गई जिधर बस उधर देखते रहे।

 ***************************

 उदास आँखों में अपने करार देखा है,
पहली बार उसे बेक़रार देखा है,
जिसे खबर ना होती थी मेरे आने जाने की,
उसकी आँखों में अब इंतज़ार देखा है।

 ***************************

 तू मुझे याद करे न करे तेरी ख़ुशी,
हम तो तुझे याद करते रहते हैं,
तुझे देखने को दिल तरसता रहता है,
और हम इंतज़ार करते रहते हैं।

 ***************************

 कैसे करूँ मैं साबित…
कि तुम याद बहुत आते हो…
एहसास तुम समझते नही…
और अदाएं हमे आती नहीं…

 ***************************

हर रोज बहक जाते हैं मेरे कदम,
तेरे पास आने के लिये…ना जाने
कितने फासले तय करने अभी बाकी है
तुमको पाने के लिये..

 ***************************

 वो नहीं आती पर निशानी भेज देती है
ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है
कितने मीठे हे उसकी यादो के मंज़र।
कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है!!

 ***************************

 कुछ खूबसूरत पल याद आते हैं,
पलकों पर आँसु छोड जाते हैं,
कल कोई और मिले हमें न भुलना क्योंकि
कुछ रिश्ते जिन्दगी भर याद आते हैं

 ***************************

 दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू

 ***************************

 इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है,
बड़ी मुस्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो,
पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है! 

 ***************************

 रात का चाँद आसमान में निकल आया है.
साथ में तारों की बारात लय है.
ज़रा आसमान की ओर देखो वो आपको..
मेरी और से गुड नाईट कहने आया है.

 ***************************

 नही है शिकवा हमे किसी की बेरुखी से…..
शायद हमे ही नही आता किसी के दिल में घर बनाना…

 ***************************

 हमें तो प्यार के दो लफ़्हज़ भी ना नसीब हुए..
और बदनाम ऐसे हुए जैसे इश्क़ के बादशाह थे हम 


 ***************************

 मोहब्बत में हमेशा अपने आप को
बादशाह समझा हमने मगर एहसास
तब हुआ जब किसी को माँगा फकीरों की तरह 

 ***************************

 किसी के दिल में क्या छुपा
है ये बस खुदा ही जानता है,
दिल अगर बेनकाब होता
तो सोचो कितना फसाद होता..

 ***************************

 बस यही सोच कर हर तपिश में जलता आया हूँ;
धूप कितनी भी तेज़ हो समन्दर नहीं सूखा करते।

 ***************************

 मुजे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग,
पर किसी ने मेरे पैरो के छाले नहीं देखे…..!!

 ***************************

 ये लकीरें, ये नसीब,
ये किस्मत सब फ़रेब के आईनें हैं,
हाथों में तेरा हाथ होने से ही
मुकम्मल ज़िंदगी के मायने हैं.

 ***************************

 क्यूँ हर बात में कोसते हो तुम लोग नसीब को,
क्या नसीब ने कहा था की मोहब्बत कर लो !!

 ***************************

 किसी को क्या बताये की कितने मजबूर है हम
चाहा था सिर्फ एक तुमको और अब तुम से ही दूर है हम

 ***************************

 इस बहते दर्द को मत रोको
ये तो सज़ा है किसी के इंतेज़ार
की लोग इन्हे आँसू कहे या दीवानगी
पर ये तो निशानी हैं किसी के प्यार की…

 ***************************

 प्यार मैं जो कभी पकड़े जाओ…..
प्यार मैं जो कभी पकड़े जाओ…..
देर ना करो,फॉरन ही भाई बन जाओ…


Post a Comment

0 Comments