Love - Romantic SMS - Bewafa SMS, Break Up SMS,

Sunatha Dard ka Aisas to chane wale kO Hota hai...
Lakin jab Dard hi chane wale De to Aisas kon karega...

*********************************

 चले आज तुम ज़हां से ह्ई ज़िन्दगी पराई...!
तुम्हे मिल गया ठिकाना हमे मौत भी ना आई...!!
ओ दूर के मुसफिर हमको भी साथ लेले रे...
हमको भी साथ लेले हम रह गये एकले.....!!!

 *********************************

 अब कभी हम ना मिलेंगे
एक बार जुदा होने के बाद
अब बता देना मुश्किलों को भी
नया घर तलाश कर लो
सारी मुश्किलें ख़त्म हो जाएँगी
तुझसे बिछड़ने के बाद

 *********************************

 आंसुओं की किम्मत क्या है
हम बखुबी समझते है ।
वो कोई और होंगे ए सनम
जो ओस को शबनम समझते है ॥



 तुझे चाहा रब से भी ज्यादा फिर भी ना तुझे पा सके
रहे तेरे दिल में मगर तेरी धडकन तक ना जा सके
जुड़के भी तुटी रहि ईश्क कि डोर वे
किस्मत के मारे असी कि करीये किस्मत पे किसका जोर

 *********************************

 सोचा था तुझपे प्यार लुटाकर तेरे दिल में घर बनायेंगे…..
हमे क्या पता था दिल देकर भी हम बेघर रह जाएँगे.…..

 *********************************

 वही शख्स आकेला छोड गया मुझे इस दुनिया कि भीड मे
जिसने दुनिया की भीड़ से चुन के मुझे अपना बनाया था

 *********************************

 Bikhre Armaano Ke Moti Hum
Piro Na Sake Tere Yaad Mein
Saari Rat Hum So Na Sake,
Bheeg Na Jai Ansuon Mein
Tasveer Teri Bass Yehi Soch
Kar Hum Raat Bhar Ro Na Sake.

 *********************************

 Khushiyo Se Naraz Hai Meri Zindagi,
Pyar Ki Mohtaz Hai Meri Zindagi,
Hans Leta Hoo Logo Ko Dikhane Ke Liye,
Warna Dard Ki Kitaab Hai Meri Zindagi.

 *********************************

 डर लगता है मुझे अब,
हर शक्स की हमदर्दी से

 *********************************

 Jis ke liye sab kuch luta diya humne
wo kehte hai unko bhula diya humne
gaye the hum unke aansu pochne
ilzam de diya ki unko rula diya humne

 *********************************

 Mje Lagta Tha Wo Jaan hai meri ....
Phir Us ne Ehsas Dilaya K wo Sb kuch hai meri ....
Jb mje uski bohat zrorat thi
Tab wo mje chor gyi
Par ajj jab wo sath nahi ...
To sochta hu k Ab kuch bhi nhi mera ...

 *********************************

 प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था!
वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था!
सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को!
पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था!

 *********************************

 एक अजीब दास्तान है मेरे अफसाने की,
मैने पल पल कोशिश उसके की पास जाने की,
किस्मत थी मेरी या साजिश थी ज़माने की,
दूर हुई मुझसे इतना जितनी उमीद थी करीब आने की.. 

 *********************************

 पास आकर सभी दूर चले जाते हैं;
अकेले थे हम, अकेले ही रह जाते हैं;
इस दिल का दर्द दिखाएँ किसे;
मल्हम लगाने वाले ही जखम दे जाते हैं!

 *********************************

 उसके ना होने से कुछ भी नहीं बदला मुझ में;
बस जहाँ पहले दिल रहता था वहाँ अब सिर्फ दर्द रहता है।

 *********************************

 जख्म भी अब दिल का दिल से दुआ करे ।
कि खुशियो का खजाना तुम्हें और गम की राह में हम चले ।

 *********************************

 Mai Chahata Tha Wafaa Unse,
Unhone Humein Bhula Diya,
Isi Tadapte Gum Ne Yaroo,
Mujhe Shayar Bana Diya.

 *********************************

 Tum kya jano kya hai tanhai,
Is tute huye patte se puchho kya hai judai,
Yun bewafa ka ilzam na de zalim,
Is waqt se puchho kis waqt teri yaad na aayi.

 *********************************

 Zakham dene wala to is baat se anjan hai,
Par us-se mila hua dard hamare paas hai,
Chubhne par kitni taklif hoti hai,
Kya kaanch ke us tukde ko bhi iska ehsas hai.

 *********************************

 Kuchh baatein karke woh hamein rula ke chale gaye,
Hum na bhoolenge yeh ehsas dila ke chale gaye,
Aayenge kab wo ab to ye dekhna hai saari umar,
Bujh rahi hain wo aag jise wo jala ke chale gaye.

 *********************************

 Buhat udaas hain koi tere jaane se,
Ho sake to laut ke aa kisi bahane se,
Tu lakh khafa sahi magar ek baar to dekh,
Koi toot gaya tere ruth jaane se.

 *********************************

 Waqt ke mod pe ye kaisa waqt aaya hai,
Zakhm dil ka zubaan par aaya hai,
Na rote the kabhi katon ki chubhan se,
Par aaj na jane kyon phulon ki khushbu se rona aaya hai.

 *********************************

 Khel ko uske samajh na sake hum,
Aur wafaien uspe nisaar kar baithe,
Maqtool bhi hum maqsood bhi hum sacche hue,
Woh aur hamein beviqaar kar baithe..

 *********************************

 Dard kitne hain bata nahi sakta,
Zakhm kitne hain dikha nahi sakta,
Aankhon se samajh sako to samajh lo,
Aansoon gire hain kitne gina nahi sakta..

 *********************************

 अश्कों से नहीं बुझते शोले दर्द - ए -प्यार के....
मौत भली इस लम्बे इंतजार से....
मरते हैं रोज़ बिना दीदार -ए -यार के...
तन्हाई अच्छी थी उस बेवफा के प्यार से....!!!

 *********************************

 मोहबत में लाखों ज़खम खाए हमने
अफ़सोस उन्हें हम पर ऐतबार नहीं
मत पुछो क्या गुज़रती हे दिल पर
जब वो कहते हे हमें तुमसे प्यार नहीं..

 *********************************

 Ye Dunia Gamo Ka Mela Hai
Humne Bhi Har Gam Jhela Hai
Kare Hum Usne Kya Shikwa
Yaha Par Har Koi Akela Hai..!

 *********************************

 तुझे भुलाने के हज़ार तरीक़े सोचता रहा रात भर,
और इस तरह तेरी याद में एक रात और गुज़र गयी..!!

 *********************************

 टूट कर भी कम्बख्त धड़कता रहता है,
मैने इस दुनिया मैं दिल सा कोई वफादार नहीं देखा..

 *********************************

 पास आकर सभी दूर चले जाते हैं,
हम अकेले थे अकेले ही रह जाते हैं,
दिल का दर्द किससे दिखाए,
मरहम लगाने वाले ही ज़ख़्म दे जाते हैं. 

 *********************************

 किन लफ़्ज़ों में बंया करूँ मैं अपने दर्द को..
सुनने वाले तो बहुत है मगर समझने वाला कोई नहीं..

 *********************************

 Jee bhar kar rote hai to karar milta hai,
Is jahan mein kaha sabko pyar milta hai,
Jindgi gujar jati hai imthano ke dour se,
Ek jakhm bharta hai to dusra taiyar milta hai...!! 

 *********************************

 Na zindagi mili na wafa mili
Kyu har Khushi hamse khaafa mili
Jhooti muskan liye dard chhupate rahe
Sachi mohabbat ki kya khoob saza mili..

 *********************************

 ना कर गिला मेरे बेहते अश्कों का...,
मेरे दिल को सभी ने रुलाया हें....,
न ढुंढो मेरे दिल के किताब में खुशिंयों का पन्ना...,
हर एक पन्ना मेरे किसी अपने ने ही जलाया हैं.....!

 *********************************

 "हर मुलाकात पर वक्त का तकाज़ा हुआ..
हर याद पे दिल का दर्द ताजा हुआ..
सुनी थी सिर्फ हमने गज़लों मे जुदाई की बातें..
अब खुद पे बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ."... 

 *********************************

 जो मेरा था वो मेरा हो नहीं पाया;
आँखों में आंसू भरे थे पर मैं रो नहीं पाया;
एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि;
हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये;
उस रात तो मैं ख़ुशी के मारे सो भी नहीं पाया। .....

 *********************************

 वो तो अपने दर्द रो-रो के सुनते रहे; हमारी तन्हाइयों से आँख चुराते रहे;
और हमें बेवफा का नाम मिला क्योंकि; हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे! 

 *********************************

 ज़ख़्म जब मेरे सीने के भर जाएँगे; आँसू भी मोती बनकर बिखर जाएँगे;
ये मत पूछना किस किस ने धोखा दिया; वरना कुछ अपनो के चेहरे उतर जाएँगे। 

 *********************************

 दर्द ही सही मेरे इश्क का इनाम तो आया; खाली ही सही हाथों में जाम तो आया;
मैं हूँ बेवफ़ा सबको बताया उसने; यूँ ही सही, उसके लबों पे मेरा नाम तो आया। 

 *********************************

 Chaha tha humne jise use bhulaya na gaya,
Zakhm dil ka logon se chhupaya na gaya,
Bewafai ke baad bhi itna pyar karti hu ki,
Bewafa ka ilzaam bhi us par lagaya na gaya…

 *********************************

 वो अगर हमे छोड़ कर खुश है तो शिकायत क़ैसी
और अगर मै उसे खुश भी न देखूँ तो मोहबत्त क़ैसी
उसने मोहबत्त का वो सिला दिया
मुझे जीते जी जला दिया
कहती है जा भूल जा मुझको
मैने तुझको भुला दिया

 *********************************

 दर्द कितने हैं बता नहीं सकता
जख्म कितने है दिखा नहीं सकता
आँखों से समझ सको तो समझ लो
आँसु गिरे है कितने गिना नहीं सकता !!

 *********************************

 मेरी नज़रों में ही तू आज,गिरा दे मुझको,
ऐसे इक मोड़ पे ले जाके,दगा दे मुझको.!!
या तो कुछ खास सज़ा दे मेरे हमदम,या फिर,
कैसे भूली है तू मुझे,ये ही बता दे मुझको.!!

 *********************************

 तू आँसू बहा के निकाल लेती है गुबार दिल का,
मेरी मर्दानगी मुझे इसकी इजाजत नहीं देती ।

 *********************************

 मेरी जख्मों पर उसने भी मरहम लगाया,
ये कहकर....
जल्दी से ठीक हो जा,
और भी जख्म देना बाकि है..!!!



Post a Comment

0 Comments