Hindi SMS 140 Character Limit - Latest Sms Jokes In Hindi


 सब लुटाकर मिला दर्द ये,
दर्द का मत दमन कीजिए,
जो ये पतझर है जिन्दगी,
प्राण ! उसको चमन कीजिए,
किस तरफ पग बढ़ाकर चली,
प्रेम-पथ पर गमन कीजिए.... 

*************************

 प्यार से भी ज़रूरी कई काम है,
प्यार सब कुछ नहीं ज़िन्दगी के लिये....!
छोड दे सारी दुनियाँ किसी के लिये,
ये मुनासीब नहीं आ'-----" के लिये.....!!

 *************************

नर्म नाजुक किसी मखमल की तरह ,
इधर उधर फिरते हुए बादल की तरह ,,
आँखों में बसाया है तो रखना संभाल कर ,
कहीं बह न जाऊँ मैं काजल की तरह ,,

 *************************

 मुझे फिर तबाह कर मुझे फिर रुला जा
सितम करने वाले कहीं से तू आजा
आँखों में तेरी ही सूरत बसी है
तेरी ही तरहा तेरा ग़म भी हंसीं है 

*************************

 कोई वादा नहीं फिर भी तेरा इंतज़ार है
जुदाई के बाद भी तुझसे Pyar है
तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही मुझसे
मिलने के लिए तू भी बेकरार है



 हर शख्स को दिवाना बना देता है इश्क,
जन्नत की सैर करा देता है इश्क,
दिल के मरीज हो तो कर लो महोब्बत,
हर दिल को धड़कना सिखा देता है इश्क

 *************************

 वो आपका पलके झुका के मुस्कुराना;
वो आपका नजरें झुका के शर्मना
वैसे आपको पता है या नहीं हमें पता नहीं;
पर इस दिल को मिल गया है उसका नज़राना।

 *************************

 बेताब तमन्नाओ की कसक रहने दो!
मंजिल को पाने की कसक रहने दो!
आप चाहे रहो नज़रों से दूर!
पर मेरी आँखों में अपनी एक झलक रहने दो!

 *************************

 वो करीब ही न आये तो इज़हार क्या करते!
खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते!
मर गए पर खुली रखी आँखें!
इससे ज्यादा किसी का इंतजार क्या करते! 

 *************************

 कब ये इन्तेजार ख़तम होगा?
मेरे अंधेरो का जहाँ रोशन होगा!
शमा ये जल न जाये कही,
कब परवाने का मौसम होगा?....रागी 

 *************************

 रोज तेरा इंतजार होता है,
रोज ये दिल बेकरार होता है,
काश तुम समझ सकते की..
चुप रहने वालो को भी ... ....
किसी से प्यार होता है....

 *************************

 दिल से कहो कि शोर न मचाए
लोकसभा में विपक्ष की तरह....
मैने इश्क के प्रधानमंत्री पद से
इस्तीफा नहीं दिया अभी !!!!

 *************************

 सपनो की दुनिया में हम खोते चले गए
होश में थे मगर मदहोश होते चले गए
जाने क्या बात थी उनकी आवाज़ में
न चाहते हुए भी उनके होते चले गए ...

*************************

 होंठो पे दोस्ती के फसाने नही आते,
साहिल पे समुंदर के खजाने नही आते,
उड़ने दो परिंदो को शौक से हवा मे ,
फिर लौट कर कॉलेज के जमाने नही आते,

 *************************

 समंदर के लिए वो लहरे क्या जिसका कोई किनारा ना हो …..
तारो के लिए वो रात क्या जिसमे चाँद ना हो
हमारे लिए वो दिन ही क्या….
जिस मे आप की याद ना हो……

 *************************

 लगा कर आग बुझाना भूल जाते है
वादा कर के निभाना भूल जाते है
ये तो आदत हो गयी है उनकी
रुलाते तो है मगर मनाना भूल जाते है..!

 *************************

 तेरी मेहफिल से उठे तो किसी को खबर ना थी
लेकिन तेरा मुड मुड कर देखना बदनाम कर गया..!

 *************************

 मुझे इन पतथरो का डर ना होता,
अगर शीशे का मेरा घर ना होता
यक़ीनन हम भी खेलते प्यार की बाजी
अगर दिल टूटने का डर ना होता..!








Post a Comment

0 Comments