good night sms in hindi for girlfriend 120 words love sms

चलो आज बचपन का कोई खेल खेलें,
बड़ी मुद्दत हुई बेवजह हंसकर नहीं देखा.

*****************************

 चैन मिलता था जिसे आके पनाहों में मेरी....
आज देता है वही अश्क निगाहों में मेरी....

  *****************************

 कशिश होती है कुछ फूलों
में पर ख़ुशबू नहीं होती,
ये अच्छी सूरतों वाले
सभी अच्छे नहीं होते..

 *****************************

 दीदार की तलब हो तो नज़रे जमाये रखना
क्युकी, नकाब हो या नसीब सरकता जरुर है।

 *****************************

 ये अश्क़ नहीं तेरी यादों के मोती हैं
तेरे लिये रोज़ सँवरती हूँ इन्हें पहन कर.

 *****************************

 गुनाह करके सजा से डरते है,
ज़हर पी के दवा से डरते है.
दुश्मनो के सितम का खौफ नहीं हमे,
हम तो दोस्तों के खफा होने से डरते है.



 मुझे गुमान था कि चाहा बहुत सबने मुझे;
मैं अज़ीज़ सबको था मगर ज़रूरत के लिए।

 *****************************

 तु खामोश क्यू है ये तो मालुम नही मगर,
दिल डूब सा जाता है जब तु खामोश होता है....

 *****************************

 दोस्तों जानता हूँ मशहूर बहुत हे
मेरे अल्फाज और स्टेट्स ...
मगर एक पगली ऐसी भी हे
जो मुझसे मनाई नही जाती

 *****************************

 अपनी आयु से अधिक
अपनी छवि का ध्यान रखें,
क्योंकि छवि की आयु
आपकी आयु से अधिक है ।।

 *****************************

 इश्क के रिश्ते भी बड़े नाजुक होते है साहब,
रात को नम्बर बिजी आने पर भी टूट जाते है.!!

 *****************************

 प्यार के दो मीठे बोल से खरीद लो मुझे।
दौलत की सोचोगे तो पूरी दुनिया बेचनी पड़ेगी...

 *****************************

 उसने पूछा कोई आखिरी ख्वाहिश....
जुबान पर आ गया सिर्फ तुम...!!!

 *****************************

 हमको खबर भी होने नही दी ।
किस मोड़ पर लाकर दिल तुने तोड़ा ।
अपना बनाना रहा दूर तुने ।
औरो के हो जाए ,ऐसा ना छोड़ा ।

 *****************************

 बारिश में रख दो इस जिंदगी के
पन्नों को, ताकि धुल जाए स्याही,
ज़िन्दगी फिर से लिखने का
मन करता है कभी - कभी।

 *****************************

 उस दिल की बस्ती में
आज अजीब सा सन्नाटा है,
जिस में कभी तेरी हर
बात पर महफिल सजा करती थी।

 *****************************

 नही है हमारा हाल,
कुछ तुम्हारे हाल से अलग;
बस फ़र्क है इतना,
कि तुम याद करते हो,
और हम भूल नही पाते।

 *****************************

 खतम हो गई कहानी,
बस कुछ अलफाज बाकी हैं;
एक अधूरे इश्क की एक
मुकम्मल सी याद बाकी है।

 *****************************

 हम ख़ास तो नहीं मगर बारिश की
उन कतरों की तरह अनमोल हैं,
जो मिट्टी में समां जायें तो
फिर कभी नहीं मिला करते।

 *****************************

 लगा कर आग सीने में चले हो तुम कहाँ,
अभी तो राख उड़ने दो तमाशा और भी होगा।

 *****************************

 एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर
एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर
पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है,
जो आए तुम्हे अपने साथ लेकर

 *****************************

 तेरी नफ़रत मेँ वो दम नहीँ
जो मेरी चाहत को मिटा सके..
मेरी चाहत का समंदर
तेरी सोच से भी गहरा है.!!

 *****************************

 बहुत थे मेरे भी इस दुनिया मेँ अपने...
फिर हुआ इश्क और हम लावारिस हो गए.!!

 *****************************

 लबों पे नाम है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं
गजल में दर्द है जिनकाउन्हें कुछ भी खबर नही

 *****************************

 मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,
प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,
दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,
प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम.

 *****************************

 बहुत समझाया ख़ुद को मगर समझा नही पाये,
बहुत मनाया ख़ुद को मगर मना नही पाये,
जाने वो क्या जज्बा था वो एहसास था,
खूब भुलाना चाहा उसे हमने मगर भुला नही पाये.

 *****************************

 पाई थी हर चीज़ जो चाही मैंने ज़िन्दगी में,
बस तेरी उल्फत के आगे मैं हो गया बर्बाद,
कब तक राह देखता मैं भी तेरे आने की,
अरसो से कर रहा हूँ मैं तेरा इंतज़ार.

 *****************************

 स्याहीथोड़ी‬ कम पड़ गई वर्ना किस्मत
तो अपनी भी खूबसूरत#लिखी गई थी....

 *****************************

  इश्क मुहब्बत क्या है..? मुझे नही मालूम…?
बस तुम्हारी याद आती है..? सीधी सी बात है

 *****************************

 माँ कहती है मेरी दौलत है तू,,,
और बेटा किसी और को ज़िन्दगी मान बैठा है.

 *****************************

 वो बड़े ताज्जुब से पूछ
बैठा मेरे गम की वजह..
फिर हल्का सा मुस्कराया,
और कहा, मोहब्बत की थी ना… ??

 *****************************

 धडकनों को कुछ तो काबू में कर ए दिल
अभी तो पलकें झुकाई है
मुस्कुराना अभी बाकी है उनका.

 *****************************

  मैंने समुन्दर से सीखा है जीने का सलीका,
चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना….!

 *****************************

 इतना भी गुमान न कर
आपनी जीत पर ऐ बेखबर,
शहर में तेरे जीत से ज्यादा
चर्चे तो मेरी हार के हैं..!!

 *****************************

 सोने के जेवर ओर हमारे तेवर
लोगो को अक्सर बहोत मेंहगे पडते हे.

 *****************************

 ना करते तूम से कोई वादा तो
आज इंतजार नही करना पड़ता ,
वादा जो निभाना है तो इंतजार ही करना पड़ेगा

 *****************************

 सब कुछ है लेकिन तेरे अलफाज नही ,
बिन तेरे अलफाज के कोई साज नही .

 *****************************

 दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को ,
तुम ख्वाबो में आकर युँ तडपाया ना करो.

 *****************************

 तुम खुश-किश्मत हो जो हम तुमको चाहते है
वरना,हम तो वो है जिनके ख्वाबों मे
भी लोग इजाजत लेकर आते है..!!

 *****************************

 वो खुद पर गरूर करते है,
तो इसमें हैरत की कोई बात नहीं,
जिन्हें हम चाहते है,
वो आम हो ही नहीं सकते !!

 *****************************

 मोहब्बत है मेरी इसीलिए दूर है मुझसे,
अगर जिद होती तो शाम तक बाहों में होती ।

 *****************************

 छोड दो तन्हाई मे मुझको यारो..
साथ मेरे रहकर क्या पाओगे..
अगर हो गई आपको भी मोहब्बत कभी..
मेरी तरह तुम भी पछताओगे..

 *****************************

 ना शौक दीदार का,
ना फिक्र जुदाई की,
बड़े खुश नसीब हैँ वो लोग जो,
मोहब्बत नहीँ करतेँ!

 *****************************

 अगर तुम अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं

 *****************************

 अजीब था उनका अलविदा कहना,
सुना कुछ नहीं और कहा भी कुछ नहीं,
बर्बाद हुवे उनकी मोहब्बत में,
की लुटा कुछ नहीं और बचा भी कुछ नहीँ!

 *****************************

 खामोश बैठें तो लोग कहते हैं
उदासी अच्छी नहीं,
ज़रा सा हँस लें तो मुस्कुराने
की वजह पूछ लेते हैं !

 *****************************

 जो लोग एक तरफा प्यार करते है
अपनी ज़िन्दगी को खुद बर्बाद करते है !
नहीं मिलता बिना नसीब के कुछ भी,
फिर भी लोग खुद पर अत्याचार करते है

 *****************************

 अलविदा कह के जब वौ चल दिये,
इन आखो ने सारे हसीन ख्वाब खो दिये,
दर्द तब नही हुआ जब वो हमे छोड़ दिये,
दुख तो तब हुआ जब वो
अलविदा कहते ही खुद रो दिये..!!

 *****************************

 एक दिन हम भी कफ़न ओढ़ जाएँगे,
हर एक रिश्ता इस ज़मीन से तोड़े जाएँगे,
जितना जी चाहे सतालो यारो,
एक दिन रुलाते हुए सबको छोड़ जाएँगे,

 *****************************

 आज फिर ए तन्हाई लग जा गले,
के तुझसे लिपट के रोने का बहुत दिल है,
एक तू ही तो है हमसाया जिंदगी का मेरी..
वरना यहां तो हर रिश्ता, मेरी रूह का कातिल है!!

 *****************************

हद से ज्यादा खुशी और हद से ज्यादा गम
कभी किसी कौ मत बताऔ!
जिंदिगी मे लोग हद से ज्यादा खुशी पर
“नजर”और हद से ज्यादा गम
पर “नमक” जरुर लगाते है!

 *****************************

 अपनो को दूर होते देखा,
सपनो को चूर होते देखा,
अरे लोग कहते हे फ़िज़ूल कभी रोते नही,
हमने फूलोँ को भी तन्हाइयोँ मे रोते देखा!


 *****************************




 ताबीर जो मिल जाती तो एक ख्वाब बहुत था
जो शख्स गँवा बैठे है नायाब बहुत था
मै कैसे बचा लेता भला कश्ती-ए-दिल को
दरिया-ए-मुहब्बत मे सैलाब बहुत था….

 *****************************

 साथ अगर दोगे तो मुस्कुराएंगे ज़रूर
प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे ज़रूर
कितने भी काँटे क्यों ना हों राहों में
आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएंगे ज़रूर।

 *****************************

 जब से तूने मुझे दीवाना बना रखा है
संग हर शख्स ने हाथों में उठा रखा है
उसके दिल पर भी कड़ी इश्क में गुजरी होगी
नाम जिसने भी मोहब्बत का सज़ा रखा है

 *****************************

 हर खामोशी का मतलब इंकार नहीं होता
हर नाकामयाबी का मतलब हार नहीं होता
तो क्या हुआ अगर हम तुम्हें न पा सके
सिर्फ पाने का मतलब प्यार नहीं होता

 *****************************

 किसी का क्या जो क़दमों पर जबीं-ए-बंदगी रख दी
हमारी चीज़ थी हमने जहां जानी वहां रख दी
जो दिल माँगा तो वो बोले ठहरो याद करने दो
ज़रा सी चीज़ थी हमने जाने कहाँ रख दी 

 *****************************

 दिल से तेरी निगाह जिगर तक उतर गई
दोनों को इक अदा में रजामंद कर गई
शक हो गया है सीना ख़ुशी लज्जते-फ़िराक
तकलीफे-पर्दादारी-ए-ज़ख्म-जिगर गई

 *****************************

 दुख मे खुशी की वजह बनती है मोहब्बत
दर्द मे यादों की वजह बनती है मोहब्बत
जब कुछ भी अच्छा नहीं लगता दुनिया में
तब जीने की वजह बनती है मोहब्बत।

Post a Comment

0 Comments