2 line romantic Whatsapp status in Hindi Shayari


इस बारिश के मौसम में अजीब सी कशिश है
न चाहते हुए भी कोई शिदात से याद आता है…

*********************************

 कल रात बरसती रही सावन की घटाएं
और हम तेरी याद में दिल खोल के रोए…


*********************************

 जिंदा रहे तो हर दिन तुम्हे याद करते रहेंगे
भूल गए तो समझ लेना खुदा ने हमे याद कर लिया…


*********************************

  करते नही इज़हार फिर क्यो करते हो तुम प्यार
नज़रों से बाते बहुत हुई अब लब से करो इकरार…



 परवाह नही चाहे जमाना कितना भी खिलाफ हो
चलूंगा उसी राह पर जो सीधी और साफ हो…


*********************************

 मुझसे वादा करो मुझे रुलाओगे तो नही,
हालात जो भी हो मुझे भुलाओगे तो नही…


*********************************

 जरुरत मुझे तेर आज भी है पर कहते है ना की.
मोहब्बत भी जरूरी थी और बिछड़ना भी जरूरी था


*********************************

 कवायतें यादों की मान कर चलने लगा हूं कि
फिर कोई चोट सीने में उभर कर आयी है |

 
*********************************

 वाह रे तेरी दिवानगी का हुन्नर ना जी पाता हु ना पी पाता हु
सरुर तेरे इस्क का उतरता नही किसो मय मे तेरे इस्क जैसा सरुर मिलता नही


*********************************

 मुझे नींद की इजाज़त भी उनकी यादों से लेनी पड़ती है,
जो खुद आराम से सोये हैं मुझे करबटों में छोड़ कर।

 
*********************************

 मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी तेरा नाम सुन कर,
तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो सोच तुझसे कितनी होगी.


*********************************

 क्या खूब रंग दिखाती है जिंदगी क्या इक्तेफ़ाक होता है,
प्यार में ऊम्र नही होती पर…. हर ऊम्र में प्यार होता है|


*********************************

 मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी तेरा नाम सुन कर,
तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो सोच तुझसे कितनी होगी…


*********************************

 कभी मुस्कुराती आँखे भी कर देती है कई दर्द बयां,
हर बात को रो कर ही बतानी ज़रूरी तो नहीं...!


*********************************

 ज़िंदगी यूँ भी बहुत कम है मोहब्बत के लिये,
रूठ कर वक्त गँवाने की ज़रूरत क्या है....!!!


*********************************

 खेलना अच्छा नहीं किसी के नाज़ुक दिल से..
दर्द जान जाओगे..जब कोई खेलेगा तुम्हारे दिल से..

*********************************

  किसी को क्या बताये की कितने मजबूर है हम..
चाहा था सिर्फ एक तुमको और अब तुम से ही दूर है हम..!!!


*********************************

 हम से खेलती रही दुनिया ताश के पत्तो की तरह
जिसने जीता उसने भी फेका.. जिसने हारा उसने भी फेका...!!!


*********************************

 प्यार वो नहीं जो तुम ढूंढ रहे हो,
बल्कि प्यार वो है जो तुम्हें ढूंढ ले !!


*********************************

 इक झलक जो मुझे आज तेरी मिल गयी मुझे
फिर से आज जीने की वजह मिल गयी


*********************************

 वो इतना रोई मेरी मौत पर मुझे जगाने के लिए..
मैं मरता ही क्यूँ अगर वो थोडा रो देती मुझे पाने के लिए..!!


*********************************

 निगाहों से भी चोट लगती है.. जनाब..
जब कोई देख कर भी अन्देखा कर देता है..!!


*********************************

 सरे महफिल जो बोलूं तो ज़माने को खटकता हूँ;
रहूं मैं चुप, तो अंदर की बग़ावत मार देती है....


*********************************

 तेरी यादें, तेरी बातें, बस तेरे ही फसाने हैं,
हाँ, कुबूल करते हैं, कि हम तेरे दीवाने हैं..!!


*********************************

 कितना खूबसूरत है, आपसे मेरा रिश्ता,
न आपने कभी बांधा, न हमने कभी छोड़ा.!!


*********************************

 हर किसी के हाथों बिकने को तैयार नहीं है
ये मेरा दिल है तेरे शहर का अख़बार नहीं है


*********************************

  सच सुनने से ना जाने क्यों कतराते है लोग,
तारीफ चाहे झूठी हो सुनकर खूब मुस्कुराते है लोगसच सुनने से ना जाने क्यों कतराते है लोग,
तारीफ चाहे झूठी हो सुनकर खूब मुस्कुराते है लोग


*********************************

 નજર એમને જોવા માગે તો આંખની શું ભૂલ...?
દર વખત સુગંધ એમની આવે તો શ્વાસની શું ભૂલ...?


*********************************

 "जाने अनजाने में क्या से क्या हो गया,
I am sorry पर तुमसे प्यार हो गया !!"


*********************************

 जानते थे कि नहीं हो सकते कभी तुम हमारे;
फिर भी खुदा से तुम्हें माँगने की आदत हो गई . 

 
*********************************

 आरजू नही रखता मैं किसी को याद करने की….
*"क्यू की मैं तो कभी भूलता ही नहीं अपनों को!!!!


*********************************

 "शोहरत" , तो बदनामी से ही मिलती है ऐ साहेब
सुना है लोग बदनामी के किस्से कान लगाकर सुनते हैं."शोहरत" , तो बदनामी से ही मिलती है ऐ साहेब
सुना है लोग बदनामी के किस्से कान लगाकर सुनते हैं.


*********************************

 वो अक्सर ज्योतिष को हाथ दिखाकर नसीब पुछती थी अपना....!
एक बार मुझे हाथ थमा देती तो नसीब बदल जाता उसका......... !!


*********************************

 इतनी शिद्दत से तुम्हारी मोहब्बत में डूबे हैं हम
कि अनजान शख्स भी पहले हाल, फिर वक़्त पूछता है


*********************************

 मरहम लगा सको तो गरीब के जख्मो पर लगा देना
हकीम बहुत है बाजार में अमीरो के इलाज खातिर !!


*********************************

 આંખ સાથે આંખો મળી ને સ્નેહ સાથે લાગણી ;
આ ચોમાસે અમે કરી છે, અઢી અક્ષરની વાવણી !

*********************************

 कैसे करूँ शुक्रिया तेरी मेहरबानियों का मेरे खुदा…
मुझे माँगने का सलीका नहीं है, पर तू देने की हर अदा जानता है.. :))


*********************************

 जो कहते थे मुझे डर है कहीं मैं खो न दूँ तुम्हे..
सामना होने पर मैंने उन्हें चुपचाप गुजरते देखा है.. :))
 

*********************************

 मोहब्बत किससे और कब हो जाये अदांजा नहीं होता..!
ये वो घर है, जिसका दरवाजा नहीं होता..!!


*********************************

 खूबसूरत था इस कदर कि महसूस ना हुआ… ,
की कैसे, कहाँ और कब मेरा बचपन चला गया _


*********************************

 जैसा भी हूं अच्छा या बुरा, अपने लिये हूं,
मै खुद को नही देखता, औरो की नजर से.!!


*********************************

 निकलूं अगर मयखाने से तो शराबी ना समझना दोस्त,
मंदिर से निकलता हर शख्स भी तो भक्त नहीं होता !!


*********************************

 यु तो गलत नहीं होते अंदाज चहेरो के लेकिन,
लोग वैसे भी नहीं होते, जैसे नजर आते हैं ।


*********************************

 श्याम देकर मुझे एक बार दर्शन मेरे नयनों की प्यास बुझा दे
फिर तू चाहे मेरे नयनों की क्या मेरे जीवन की ज्योत बुझा दे


*********************************

 इस कदर मोहब्बत का जूनून इस दीवाने में है,
कल ही जमानत हुई थी आज फिर थाने में है.. 


*********************************

 તુ માત્ર whatsapp મા block કરી શકીશ,
હ્રદય મા block કરવાનુ option નથી


*********************************

 मुहब्बत हाथ में पहनी गयी चूड़ी की तरह होती है,
खनकती है, संवरती है और आखिर टूट जाती है..!!


*********************************

 चेहरे की ख़ूबसूरती एक न एक दिन ढल ही जाती है,
दिल को खूबसूरत बनाइये जो मरते दम तक जवान रहता है..


*********************************

 तुम मुझे अपना बना या ना बना तेरी मर्ज़ी,,,
तू ज़माने में बदनाम तो आज भी मेरे नाम से ही हैँ......


*********************************

 ક્યારેક એ વિચારી ને રોવાઈ જાય છે,,
જેને સમજુ હું મારા, એ જ કેમ ખોવાઈ જાય છે..!!


*********************************

 ખુદા તારી કસોટીની પ્રથા સારી નથી હોતી
કે સારા હોય છે એની દશા સારી નથી હોતી
- બરકત વિરાણી "બેફામ"

*********************************

ક્યાંથી સમજાય એને મારી વ્યથા...
હું મૌન રહી રડું ને એ શબ્દોમાં દુઃખ શોધે.....


*********************************

 मेरी बाकी उंगलियां उस उंगली से जलती है..
जिस उंगली को पकड़कर मेरी बेटी चलती है....!!!


*********************************

 Aadat banali mene aapne aap ko taklif dene ki .....
Taki jab koi aapna taklif de to jyada taklif na ho


*********************************

 જો વધુ પડતા મૃદુ સ્વભાવ વાળા થશો
તો તમારા આશ્રિતો પણ તમને અપમાનિત કરશે..(ચાણક્ય)


*********************************

 मुझे नही चाहिए ऐसी खुशी जो मुझे तुझ से दूर कर दे..
मै खुश हूँ ऐसे दुखो मे भी जो तुझको याद करने पर मुझे सुकुन देते है..


*********************************

 ज़िंदगी का फलसफा भी कितना अजीब है;
शामें कटती नहीं और साल गुज़रते चले जा रहे हैं...!!


*********************************

 जिंदगी की बेंक में जब प्यार का बेलेंस कम हो जाता है,
तब हंसी खुशी और मुस्कान के चेक बाउंस होने लगते है !!


*********************************

 एक नफरत ही नहीं दुनिया में दर्द का सबब फ़राज़
मोहब्बत भी सकूँ वालों को बड़ी तकलीफ़ देती है


*********************************

 "जिन्हे याद कर के मुस्कुरा दे ये आँखे,"
"वो लोग दूर होकर भी ......दूर नही होते....


*********************************

 सिर्फ इक मुहब्बत की रोशनी तो बाकी है।
वरना जिस तरफ देखो, दूर तक अंधेरे हैं।।


*********************************

 रेत पे नाम कभी लिखते नहीं, क्योंकी रेत पे लिखे नाम कभी टिकते नहीं,
आप कहते हो तुम पत्थर दिल हो, पर पत्थर पे लिखे नाम कभी मिटते नहीं.


*********************************

 जो न मानो तो फिर तोल लेना तराजू के पलड़ों पर,
तुम्हारे हुस्न से कई ज्यादा मेरा इश्क भारी है।।


*********************************

 सुन pagali कोरकागज़ था ये दिल मेरा इसपर नाम लिख दिया तेरा...
तेरी उम्र थी 16 साल और तू पट् गयी तो क्या कसूर था मेरा


*********************************

 चंद दिनों में दिल भर जाता है हमसे हर किसी का..
ना जाने ये दुनिया का दस्तूर है या हम इतने बुरे हैं...!!!


*********************************

 इतना शौक मत रखो इन इश्क" की गलियों में जाने का..
क़सम से रास्ता जाने का है पर आने का नहीं...!!!


*********************************

  शिखा ना सकी जो उम्र भर तमाम किताबे मुझे
करीब से कुछ चेहरे पढें और ना जाने कितने सबक सीख लिये


*********************************

 टूटने के बाद भी बस तेरे लिए धड़कता है।
लगता है दिमाग ख़राब हो गया है मेरे दिल का।।


*********************************

 ददँ भी तुम दवा भी तुम इबाबत भी तुम खुदा भी तुम
चाहा भी तुमको और पाया भी नही जुदा भी तुम और साथ भी तुम!


*********************************

 शिकार तो वो होगा ही, चिलमन उठाकर जिसने तेरा दीदार किया........
तुमने भी खामखा कातिलों में नाम लिखवा लिया . ! !


Post a Comment

0 Comments