Hindi Love lines, Love Romantic Shayari



"ना इश्क चाहते हैं
ना अश्क चाहते हैं
हम तो बस तुम्हारे लिए
खुशियों वाला वो शख्स चाहते हैं "
**************************************

बहुत ही ख़ूबसूरात है तेरे अहसास की ख़ुशबू ,
जितना भी सोचते है उतना ही महक जाते है..!!

************************************** 
तुझे सोचता हूँ मैं शाम और सूबह,
इससे जादा तुझे और चाहूँ तो क्या ...!
तेरे ही ख्यालों में डूबा रहूँ,,
इससे जादा तुझे और चाहूँ तो क्या...!!
 ************************************** 

गरूर तो नहीं करता लेकिन
इतना यकीन " जरूर " हैं , , , ,
कि अगर " याद " नहीं करोगे
तो " भुला " भी नहीं सकोगे , , , , , !
**************************************

तेरे जलवों का मुझपें ऐसा असर हो गया,
दीन-ओ-दुनिया से मैं बेख़बर हो गया
सूझता कुछ भी नहीं मुझको बस तेरे सिवा
तु ही मंज़िल और तू ही हमसफ़र हो गया ....!!!
************************************** 

हर जख्म किसी ठोकर की मेहरवानी है….!!
मेरी जिंदगी भी एक कहानी है…..!!
मिटा देते सनम के दर्द को इस सीने से लगाकर….!!
पर ये दर्द ही उसकी आखिरी निशानी है….!!

************************************** 
सच्ची है मेरी मोहब्बत आज़मा के देख लो,
करके यकीन मुझ पे मेरे पास आ कर देख लो,
बदलता नहीं सोना कभी अपना रंग,
जितनी बार दिल करे आग लगा के देख लो।
**************************************

मैने कहा वो अजनबी है,
♥ ने कहा वो दिल्लगी है,
मैने कहा वो सपना है,
♥ ने कहा फिर भी वो अपना है,
मैने कहा वो सिर्फ इंतजार है,
♥ ने कहा यही तो प्यार है.
************************************** 

सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो।

************************************** 
सुकून अपने दिल का मैने खो दिया,
खुद को तन्हाई के समंदर मे डुबो दिया,
जो थी मेरे कभी मुस्कराने की वजह,
आज उसकी कमी ने मेरी पॅल्को को भिगो दिया...
************************************** 

छू गया जब कभी ख्याल तेरा,
दिल मेरा देर तक धड़कता रहा,
कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में,
और घर देर तक महकता रहा !
************************************** 
जब तेरे ख्याल से मुलाकात हो जाती है!
तूझे याद करते करते रात हो जाती है!
रूकता नहीं है सिलसिला इरादों का मेरे,
जब ख्वाबों से रूबरू बात़ हो जाती है!
************************************** 
अपनी सांसों में महकता पाया है तुझे,
हर ख्वाब मे बुलाया है तुझे,
क्यू न करे याद तुझ को
जब खुदा ने हमारे लिए बनाया है तुझे.

************************************** 
तेरी प्यारी सी मुस्कान मे अपनी खुशियाँ समेटती हूँ,
तेरी नर्म छूअन से जैसे इंद्रधनुष ही छूती हूँ,
तुझ मे अब मैं जीती हूँ,
नीदों को छोड़कर बाहों को ओढकर,
जैसे खुद ही सिहर उठती हूँ,
तुझ मे अब मैं जीती हूँ.
 **************************************

इज़हार मोहब्बत का कुछ ऐसे हुआ,
क्या कहें की प्यार कैसे हुआ,
उनकी एक झलक पे निसार हुए हम,
सादगी पे मर-मिटे और आँखो से इक़रार हुआ!
 **************************************

जिसको चाहो उसे चाहत बता भी देना,
कितना प्यार है उससे यह जता भी देना,
यूँ ना हो की उसका दिल कहीं और लग जाए,
करके इज़हार उसके दिल को चुरा भी लेना!

**************************************
तेरे दीदार की तलब रखता था;
तुझसे प्यार की चाहत रखता था;
तुझसे इज़हार की भी सदा रखता था;
रख ना पाया तो सिर्फ़ इज़हार-ए-जुनून

************************************** 
आँखों की गहराई को समझ नही सकते,
होंठो से कुछ कह नही सकते,
कैसे बयान करे हम आपको यह दिल का हाल की,
तुम ही हो जिसके बिना हम रह नही सकते!
 **************************************

जीवन में एक बार सभी ने किया है प्यार,
कुछ ने डर कर कुछ ने जोश में किया इज़हार,
मगर बिना बोले जब दो दिल कह जायें दिल की बात,
वही है नज़र का नज़र से सच्चा इक़रार!
************************************** 
नाराज़गी आपसे नहीं…
अपनेआप से है मुझे….
कि आपके दिल में इतनी भी जगह नहीं बना पाये हम
कि आप अपना समझ कर हमसे अपने दिल की बात कह सको !
************************************** 

तरस गये आपको देखने के लिए दिल फिर भी
आपके लिए दुआ करता है हम से तो अचछा आपके
धर का आयना है आपको देख तो लिया करता है
मिस यू....

 **************************************
रोज़ रोज़ आइना मत देखा करो,
देखना हो तो मेरी DP देखो, इसमें
तेरा चेहरा नज़र आयेगा...
************************************** 

न कोई किसी से दूर होता है,
न कोई किसी के करीब होता है,
प्यार खुद चल करआता है,
जब कोई किसीका नसीब होता है
 **************************************

लगता है तुम्हें नज़र में बसा लूँ ,
औरों की नजरों से तुम्हें बचा लूँ,
कहीं चूरा ना ले तुम्हें मुझसे कोई,
आ तुझे मैं अपनी धड़कन में छुपा लूँ....

**************************************
ये वादा है तुमसे वो दिन भी मैं लाऊँगा,
जब तुम ख़ुद कहोगी,
मुझे दुनिया की परवाह नहीं।
मैं बस तुम्हारी होना चाहती हूँ।
मैं बस तुम्हारी हूँ।...

************************************** 
हाल-ए-दिल कुछ इस तरह जानता है वो
बिन रोये भी अश्क़ मेरे पहचानता है वो
न जाने कैसा रिश्ता है हमारे दरमियान
कदमों की आहट से मुझे पहचानता है वो
रूठू मैं चाहे सौ दफ़ा उससे हर बात पर
फिर भी मुझे अपना हमदम मानता है वो.|
 **************************************
मेरी फिक्र में खुद को भूल जाती हो
और बेखबर हो मुझ को ये जताती हो
होने लगती हो जिस पल दूर मुझसे
कसम से उस पल बहुत याद आती हो
चाहती हो कितना, पूछू जब कभी तो
आँखों ही आँखों में सब कुछ बताती हो
मोहब्बत में मेरी खुद को भुलाए बैठी हो
और दिल में अपने जज़्बात छुपाती हो ।

 **************************************

हाल-ए-दिल कुछ इस तरह जानता है वो
बिन रोये भी अश्क़ मेरे पहचानता है वो.
न जाने कैसा रिश्ता है हमारे दरमियान
कदमों की आहट से मुझे पहचानता है वो.
रूठू मैं चाहे सौ दफ़ा उससे हर बात पर
फिर भी मुझे अपना हमदम मानता है वो.|

 **************************************
इतना भी ना रूठों ....!
की तुम्हे कोई मना नही पाए ...!!
इतना भी दूर किसी से जाओ नही .....!!!
की तुम्हे आवाज़ देकर कोई बुला ना पाए .....!!!
************************************** 

एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर,
एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर,
पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है,
जो आए तुम्हे अपने साथ लेकर..!!
************************************** 

मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही,
ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसों में वो,
सामने हो मेरी आँखों के जरूरी तो नही!

************************************** 
कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है!
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है!
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,
तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है!
************************************** 

माना आज उन्हें हमारा कोई ख़याल नहीं,
जवाब देने को हम राज़ी है, पर कोई सवाल नहीं!
पूछो उनके दिल से क्या हम उनके यार नहीं,
क्या हमसे मिलने को वो बेकरार नहीं!
************************************** 

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!
 **************************************
इश्क का जिसको ख्वाब आ जाता है,
समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है,
महबूब आये या न आये,
पर तारे गिनने का तो हिसाब आ ही जाता है!
**************************************

न जिद है न कोई गुरूर है हमे,
बस तुम्हे पाने का सुरूर है हमे,
इश्क गुनाह है तो गलती की हमने,
सजा जो भी हो मंजूर है हमे।





























Post a Comment

0 Comments